बंद फ्लैट से मिले मां-बेटे के दोनों के शव, जाने यह बड़ा मामला

 बंद फ्लैट से मिले मां-बेटे के दोनों के शव, जाने यह बड़ा मामला

दिल्ली के जहांगीरपुरी इलाके में धारदार हथियार से एक विधवा महिला व उसके 12 वर्ष के बेटे की मर्डर करने का मुद्दा सामने आया है. पुलिस ने मंगलवार प्रातः काल बंद फ्लैट से दोनों के शव बरामद किए हैं. पुलिस ने इस मुद्दे में हत्या की धारा में मुकदमा दर्ज कर मुद्दे की जाँच प्रारम्भ कर दी है.

जानकारी के अनुसार, पूजा (36 साल) अपने बेटे हर्ष (12 साल) के साथ जहांगीरपुरी स्थित के ब्लॉक के फ्लैट में रहती थी. उसके पति राजू की ढाई वर्ष पहले मृत्यु हो गई थी. वहीं, बी ब्लॉक में पूजा के मायके वाले भी रहते हैं. वरिष्ठ पुलिस ऑफिसर ने बताया कि सोमवार प्रातः काल करीब दस बजे पूजा के फ्लैट के ऊपर रहने वाला युवक जब नीचे उतरा तो उसे बदबू महसूस हुई. फिर उसने पुलिस व पूजा के भाई बंटी को इसकी जानकारी दी. जब पुलिस मौके पर पहुंची तो देखा कि एक कमरे में हर्ष का मृत शरीर बेड पर खून से लथपथ पड़ा है. फिर पुलिस ने दूसरे कमरे पर लगे ताले को तोड़ा तो फर्श पर पूजा का मृत शरीर पड़ा था.

16 जनवरी की वारदात

पुलिस ऑफिसर ने बताया कि पूजा की पीठ पर धारदार हथियार से हमला किया गया था. वहीं हर्ष के गले को रेता गया था. यह वारदात 16 जनवरी के आसपास की है. उन्होंने बताया कि जिस तरह से वारदात हुई है उससे ऐसा लग रहा है कि हमलावर, पूजा की जान-पहचान का था. उसने पहले पूजा की पीठ में धारदार हथियार से वारकर मर्डर की व फिर कमरे में ताला लगा दिया. फिर दूसरे कमरे में सो रहे उसके बेटे की गला रेतकर मर्डर कर दी.

पांच दिन पहले हुई थी मुलाकात

बी ब्लॉक में पूजा के मायके वाले रहते हैं. पूजा के भाई बंटी ने बताया कि 15 जनवरी को उनकी बेटी का जन्मदिन था, तब पूजा अपने बेटे के साथ उनके घर आई थी. तब सारे नाते-रिश्तेदार जमा हुए थे. वहीं पूजा की मां सुमन ने बताया कि वह 16 जनवरी को अपनी बेटी से मिलने के लिए गई थीं. फिर देर रात को उन्होंने पूजा को फोन भी किया, लेकिन उसका फोन बंद जा रहा था. फिर वह अपने कार्य में व्यस्त हो गईं. अब बेटी व नाती के मरने की समाचार मिल रही है.

जिंदगी भर प्रयत्न में बीता जीवन

पूजा की शादी 13 वर्ष पहले करमपुरा निवासी विजय से हुई थी. इस विवाह से बेटा हर्ष पैदा हुआ था. लेकिन पति-पत्नी में अनबन होने के कारण पूजा ससुराल छोड़कर जहांगीरपुरी आ गई. फिर छह वर्ष पहले उसने राजू नाम के युवक से दूसरी विवाह कर ली. राजू के पास चार पांच रिक्शे थे जिसके किराये से घर चलता था. उसने जहांगीरपुरी में 25 गज का फ्लैट भी ले रखा था. लेकिन राजू को टीबी की बीमारी के कारण रिक्शे बेचने पड़ गए. फिर उसकी मृत्यु हो गई. बंटी ने बताया कि पहले पूजा किसी कम्पनी में कार्य करती थी. फिर बंटी के जमा रुपयों को वह सूद पर उधार देने लगी. फिर इससे गृहस्थी की गाड़ी चलने लगी. उसने बेटे के उज्जवल भविष्य के लिए उसका दाखिला व्यक्तिगत स्कूल में कराया था. साथ ही अच्छी आमदनी होने पर उसने अपने फ्लैट से सटा दूसरा 25 गज का फ्लैट भी खरीद लिया था. साथ ही वह दिन रात मेहनत कर रुपये जोड़ रही थी ताकि बेटे का दाखिला बोर्डिंग स्कूल में करा सके. बंटी ने बताया कि उसकी बहन ने कभी भी उन लोगों से सहायता नहीं मांगी व वह अपने बलबूते बेटे को पाल रही थी.

रुपयों के लेन-देन, गैरकानूनी संबंध या देहव्यापार का शक

 फिलहाल इस मुद्दे में पुलिस ने मर्डर की धारा में मुकदमा दर्ज कर लिया है. पुलिस के अनुसार रुपयों के लेन-देन, गैरकानूनी संबंध व देहव्यापार से इस मर्डर के तार जुड़े हो सकते हैं. दरअसल, परिजनों के अनुसार पूजा सूद पर रुपये देते थी इसलिए ऐसी सम्भावना जताई जा रही है कि किसी ने रुपये लौटाने से बचने के लिए मर्डर करदी हो.

वहीं दूसरा एंगल गैरकानूनी संबंध का भी आ रहा है. परिजनों ने बताया कि चार वर्ष पहले पूजा की दोस्ती नरेला के रहने वाले प्रवीन नाम के युवक से थी. प्रवीन जबरन पूजा से रिश्ता बनाना चाह रहा था. विरोध करने पर उसने पूजा के घर पर हमला भी कर दिया था. इस मुद्दे में पूजा की शिकायत पर प्रवीन को कारागार भी जाना पड़ा था.

सूत्रों के अनुसार जहांगीरपुरी इलाके में लोकल स्तर पर देहव्यापार के कई रैकेट संचालित हो रहे हैं. आसार जताई जा रही है कि पूजा को किसी रैकेट के बारे में जानकारी मिल गई हो व अपनी पहचान छिपाने के लिए उसकी मर्डर कर दी गई हो. पुलिस इन सभी एंगल से जाँच कर रही है. वहीं बुधवार को शवों को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया जाएगा.