गिलहरी ने लगाई ऐसी दौड़, यूजर ने कहा-मायके जाने की खुशी है भाई

गिलहरी ने लगाई ऐसी दौड़, यूजर ने कहा-मायके जाने की खुशी है भाई

सभी धर्मों में शुक्रवार के दिन का विशेष महत्व होता है। इस्लाम धर्म में शुक्रवार को जुम्मा कहा जाता है और इस दिन सभी लोग मस्जिद में इकट्ठा होकर नमाज अदा करते हैं। वहीं, हिन्दू धर्म में इस दिन धन की देवी मां लक्ष्मी की पूजा जाती है। जबकि, कामगारों के लिए शुक्रवार के दिन खुश होने का होता है, क्योंकि इस दिन वीकेंड से छुट्टी होती है। इसके लिए आईटी सेक्टर और कई अन्य क्षेत्रों के कामगार पहले से ही तैयारी करके आते हैं और उनके चेहरे पर प्रसन्नता साफ़ झलकती है। हालांकि, उनकी प्रसन्नता व्यक्त नहीं की जा सकती है, लेकिन कई मौके पर जीव-जंतुओं के व्यवहार से उनकी प्रसन्नता का साफ पता चलता है।


इस क्रम में सोशल मीडिया पर एक वीडियो वारल हो रहा है, जिसमें एक गिलहरी भी वीकेंड ऑफ को व्यक्त कर रही है। इस वीडियो में साफ़ देखा जा रहा है कि एक गिलहरी पेड़ पर है। तभी उसे कोई संकेत प्राप्त होता है। वह संकेत जानकर तुरंत पेड़ से उतरकर दो टांगों पर खड़ी होकर लंबी दौड़ लगाती है। मानो उसे पता है कि दौड़ कैसे लगाई जाती है। इस दौरान गिलहरी अपनी दोनों टांगों पर बच्चे की तरह खड़ी हो जाती है और सरपट दौड़ लगाती है। इस क्रम में वह डांस कर लोगों का मनोरंजन भी कराती है। यह देख आप अपनी हंसी नहीं रोक पाएंगे।

इस वीडियो को भारतीय वन सेवा के अधिकारी सुशांत नंदा ने सोशल मीडिया ट्विटर पर अपने अकांउट से शेयर किया है। इसके कैप्शन में उन्होंने लिखा है-शुक्रवार को दोपहर बाद ऑफिस से निकलने की ख़ुशी। इस वीडियो को खबर लिखे जाने तक तकरीबन 50 हजार बार देखा गया है। वहीं, 5 हजार लोगों ने पसंद किया है। जबकि कुछ लोगों ने कमेंट किया है, जिसमें उन्होंने बंदर की तारीफ की है। एक यूजर ने लिखा है-पहली बार में ही मान लिया भाई। एक अन्य यूजर कीर्ति ने लिखा है- वीकेंड ऑफ की ख़ुशी है या मायके जाने की ख़ुशी है। एक अन्य यूजर ने लिखा है- कृपया, सोमवार को याद मत दिलाएगा।  


लेह के लड़के ने यूं जीता सबका दिल, देख लोग दे रहे हैं शाबाशी

लेह के लड़के ने यूं जीता सबका दिल, देख लोग दे रहे हैं शाबाशी

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसे देख आपके मन में भी देशभक्ति की ज्वाला धधक उठेगी। इस वीडियो में जिस तरह एक छोटे बच्चे ने सैनिकों के सामने परेड की। वह काबिलेतारीफ है। इस वीडियो में साफ देखा जा रहा है कि एक छोटा सा बच्चा स्वेटर और जूते पहने सड़क किनारे खड़ा है। जबकि वीडियो देख ऐसा लगता है, मानो उस स्थान पर किसी भवन अथवा कार्यालय का निर्माण कार्य चल रहा है। नन्हा बच्चा मिट्टी के ढेर के बगल में खड़ा है।


तभी दो सैनिक उसके पास आते हैं और बच्चे को परेड करने के लिए कहते हैं। इसमें एक सैनिक को कहते सुना जा रहा है कि तुम्हें मिलना था ना। ओके चलो, अब पैर सावधान करो। यस, अब विश्राम करो, फिर से सावधान करो और अब सलाम करो। छोटा बच्चा बखूबी सही तरीके से परेड करता है। उस समय दोनों सैनिक बच्चे को बेहतर जीवन की शुभकामनाएं देते हैं।

सैनिक जितनी दफा बच्चे को परेड करने के लिए कहता है। बच्चे का मनोबल उतना बढ़ता जाता है और वह अच्छे तरीके से परेड कर रहा है। बच्चे ने जिस अंदाज में सैनिकों को सलामी दी है। उससे साफ जाहिर है कि बच्चे के मन में सैनिक बनने की तमन्ना है। यह वीडियो लेह के किसी गांव का है, जिसे सैनिक ने अपने मोबाइल में रिकॉर्ड किया है।

इस वीडियो को भारतीय वन सेवा के अधिकारी सुधा रमन ने सोशल मीडिया ट्विटर पर अपने अकांउट से शेयर की है, जिसे अब तक लगभग 80 हजार लोग देख चुके हैं और 2500 लोगों ने लाइक किया है। वहीं, 500 लोगों ने इसे रिट्वीट किया है, जबकि कई लोगों ने कमेंट किए हैं, जिसमें उन्होंने बच्चे की तारीफ की है।