पाकिस्तान में बढ़ती जा रही है गधों की संख्या, वजह जानकर उड़ जायेंगे होश

पाकिस्तान में बढ़ती जा रही है गधों की संख्या, वजह जानकर उड़ जायेंगे होश

अक्सर पाकिस्तान अपने अजीबोगरीब कामों के लिए चर्चा में रहता है। लेकिन अब एक नया रिकॉर्ड बन गया है।पाकिस्तान में इमरान खान की सरकार आ जाने के बाद गधों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। ताजा रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान में सालाना एक लाख गधों की आबादी बढ़ती जा रही है। 

बढ़ती जा रही है गधों की संख्या

इमरान खान की सरकार आने के बाद से 3 साल में 3 लाख गधों की संख्या बढ़ी है, इसके पीछे के वजह प्राकृतिक प्रजनन नहीं बल्कि कारोबार है। पाकिस्तान हर साल चीन को 80 हजार गधों का निर्यात करता है। चीन इन गधों के खाल का उपयोग कई प्रकार से किया जाता है गधे के मांस को खाने के साथ ही इसकी खाल से निकलने वाले जिलेटिन से कई प्रकार की दवाएं बनाई जाती है। 


दुनियाभर में गधों के मामले में तीसरा नंबर

आर्थिक सर्वेक्षण 2020-21 की रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तान में ऊंट, घोड़े और खच्चर सहित अन्य जानवरों की जनसंख्या वृद्धि 13 सालों से जस की तस है लेकिन गधों की संख्या सालाना 1 लाख बढ़ती जा रही है। मौजूदा समय में पाकिस्तान में 56 लाख गधे है, जो दुनियाभर में गधों के मामले में तीसरे नंबर पर है। 


यहां जेल में गांजे के कश के साथ होती है अय्यासी, मोबाइल पर रची जाती है हत्या की साजिश

यहां जेल में गांजे के कश के साथ होती है अय्यासी, मोबाइल पर रची जाती है हत्या की साजिश

आजकल कई जेल सजा के लिए नहीं बल्कि अय्याशी के लिए भी जानी जाती है। जिनमे कई जेल में प्रतिबंधित हरकतों को अंजाम दिया जाता है। ऐसे ही आज हम एक जेल के बार में आपको बताने जा रहे है। सूबे के सबसे बड़े बेउर जेल में बंद कैदियों द्वारा गांजे का कश लिए जाने के साथ ही मोबाइल पर बातचीत करने का वीडियो वायरल हुआ है खबरों के अनुसार जेल के सुपरिटेंडेंट से बात की तब उन्होंने वीडियो की सत्यता की पुष्टि भी की। 

जेल में लगाए जाते है गांजे के कश

सुपरिटेंडेंट का दावा है कि यह वीडियो कुछ दिन पहले का है और वीडियो में जिन कैदियों की तस्वीरें आई हैं उनमें से कई दूसरे जेल में शिफ्ट कर दिए गए हैं और उसका बेल भी हो गया है। आखिर सवाल यह है कि पुलिस और जेल प्रशासन की छापेमारी में जेल के अंदर कुछ खास नहीं मिलता है, लेकिन इसके बावजूद जेल के अंदर आखिरकार गांजा और मोबाइल जैसी आपत्तिजनक चीजें कैसे पहुंच जाती हैं?


हत्या की रची गई साजिश

पुलिस के सूत्र बताते हैं कि अभी हाल ही में कोलकाता में भाजपा नेता व कार्यकर्ता की हुई हत्या की साजिश में बंद कैदी द्वारा रची गई थी। जानकारी के मुताबिक, मनीष शुक्ला हत्याकांड की स्क्रिप्ट पश्चिम बंगाल में लिखी गई थी, लेकिन इसे अमलीजामा पहनाने का काम बेउर जेल में किया गया।