एलियन बनने की सनक में शख्स ने कटवा लिए नाक-कान, होंठ और उंगलियां, अब हो गई ऐसी हालत

एलियन बनने की सनक में शख्स ने कटवा लिए नाक-कान, होंठ और उंगलियां, अब हो गई ऐसी हालत

दुनिया में एक से बढ़कर एक लोग मौजूद हैं। अलग दिखने के लिए लोग कुछ भी करते हैं। खूबसूरत बनने की चाह में कुछ लोग प्लास्टिक सर्जरी तक कराते हैं। लेकिन क्या आपने कभी ये सोचा है कि किसी इंसान पर एलियन बनने की भी सनक चढ़ सकती है? वो भी सनक ऐसी कि उसके चक्कर में अपने शरीर के जरूरी अंगों को भी कटवा सकता है। जी हां, फ्रांस के एक शख्स पर एलियन बनने का ऐसा ही जुनून सवार हुआ है और इस जुनून में उसने अपनी नाक ही कटवा दी। इतना ही नहीं, शख्स अपने हाथ की कुछ उंगलियों और ऊपर के होंठ भी कटवा चुका है। 

फ्रांस के रहने वाले एंथनी लोफ्रेडो पर बहुत पहले से ही एलियन बनने का जुनून सवार था।इसके चक्कर में उन्होंने पहले अपने चेहरे के जरूरी अंगों को कटवा लिया था। इस बार उन्होंने अपने हाथ को एक अजीब पंजे जैसा दिखाने के लिए अपनी दो उंगलियों को कटवा दिया है, जिसकी वजह से वो सुर्खियों में आ गए हैं। आइये जानते हैं एंथनी लोफ्रेडो ने एलियन बनने की सनक में अपनी क्या हालत बना ली है...  

33 साल के एंथनी लोफ्रेडो इससे पहले अपने नाक, कान और होंठ कटवा चुके हैं। अब उन्होंने अपने बाएं हाथ की दो उंगलियों को कटवा लिया है। इसके बाद उन्होंने मैक्सिको जाकर एक सर्जरी करवाई है। सिर्फ यही नहीं एंथनी ने अपनी एलियन बनने की इच्छा पूरी करने के लिए पहले से ही काले रंग का टैटू पूरे शरीर पर गुदवा रखा है।

ब्लैक एलियन बनने की सनक में किया ऐसा हाल 

'ब्लैक एलियन' बनने के लिए उन्होंने ना जाने कितनी ही सर्जरी भी करवाई हैं। इसके अलावा उन्होंने पूरे शरीर पर टैटू गुदवा रखा है।सिर्फ शरीर ही नहीं आंखों में भी काले रंग की टैटू कराया है।रिपोर्ट्स के मुताबिक वे और भी सर्जिकल प्रोसिजर्स के जरिये खुद को ब्लैक एलियन में तब्दील करने वाले हैं।
पहले एंथनी कभी सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी करते थे लेकिन उससे खुश नहीं थे, क्योंकि उन्हें ब्लैक एलियन बनना था। एक दिन उन्हें लगा कि वे वैसे नहीं जी रहें, जैसे उन्हें जीना चाहिए। इसके बाद उन्होंने सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी छोड़ दी और ऑस्ट्रेलिया चले गए। जहां उन्होंने खुद को बदलना शुरू कर दिया। अब वह पूरी तरह बदल चुके हैं। 

ठेले पर बैठकर स्ट्रीट लाइट में पढ़ने वाला यह छात्र बनेगा इंजीनियर, बीटेक में मिला एडमिशन

ठेले पर बैठकर स्ट्रीट लाइट में पढ़ने वाला यह छात्र बनेगा इंजीनियर, बीटेक में मिला एडमिशन

यूपी के प्रयागराज में अल्लापुर के रहने वाले करन सोनकर उन छात्रों के लिए मिसाल हैं, जो पढ़ाई के नाम पर सुविधाओं की कमी गिनाते हैं। चुनौतियों से हार मानकर मंजिल की राह से पीछे हट जाते हैं। करन ने अपने हौसलों के बल पर बड़ी कामयाबी हासिल की है। गरीबी उसकी सफलता में बाधा नहीं बन पाई। झोपड़ी टूटी तो करन ने सब्जी के ठेले पर बैठकर स्ट्रीट लाइट की रोशनी में पढ़ाई की। इस वर्ष 12वीं प्रथम श्रेणी में पास कर बीटेक में प्रवेश ले लिया है।

परीक्षा के दो माह पहले तोड़ दी गई झोपड़ी : करन अपने माता-पिता के साथ अलोपीबाग में झोपड़ी में रहता था। पिता रामू सोनकर ठेले पर सब्जी बेचते थे। लेकिन नशे की लत से उन्हें बीमारी ने घेर लिया। करन ने बताया कि 2019 में सड़क चौड़ीकरण के दौरान 10वीं की परीक्षा के दो माह पहले झोपड़ी तोड़ दी गई थी। बेघर होने के कारण रात में ठेले पर बैठकर स्ट्रीट लाइट के सहारे परीक्षा की तैयारी की।

मां का छूट गया काम: करन की मां रीता देवी जगत तारन स्कूल में संविदा पर सफाई का काम करती थीं। लेकिन कोरोना में उनका भी काम छूट गया। घर में करन से छोटा एक भाई और एक बहन है।