अगले दो दिन में बदल जाएगा उत्तर प्रदेश का मौसम, पश्चिमी यूपी में बारिश के साथ बढ़ेगी ठंड

अगले दो दिन में बदल जाएगा उत्तर प्रदेश का मौसम, पश्चिमी यूपी में बारिश के साथ बढ़ेगी ठंड

उत्तर प्रदेश के कई हिस्सों में आज से ठंड बढ़ने के आसार है. बताया जा रहा है कि न्यूनतम तापमान में करीब 2-3 डिग्री सेल्सियस तक की गिरावट दर्ज हो सकती है. वहीं पश्चिमी यूपी के कई जिलों में मेघगर्जन के साथ बारिश होने का भी अनुमान लगाया गया है.

मौसम विभाग की ओर से कहा गया है कि दिसंबर के शुरूआती तीन दिन तक दिल्ली एनसीआर से सटे पश्चिमी यूपी के कई जिलों में भारी बारिश हो सकती है. इस दौरान मेघगर्जन की भी आशंकाएं जताई गई है. बताया जा रहा है कि बारिश होने के बाद पारा लुढ़क सकता है.

लखनऊ मौसम केंद्र की ओर से बताया गया है कि अरब सागर में बने पश्चिमी विक्षोभ की दबाव की वजह से बारिश होगी. विभाग ने बताया कि राजधानी लखनऊ सहित कई जिलों में सात दिन तक मेघ और हल्की बूंदाबांदी के आसार बने रहेंगे. माना जा रहा है कि बारिश के बाद हवा के स्तर में सुधार आएगा.

मेरठ सबसे ठंडा शहर- राजधानी लखनऊ में आज न्यूनतम तापमान 14 डिग्री सेल्सियस पर रहने की उम्मीद है. वहीं दिल्ली से सटे इलाके गाजियाबाद में भी तापमान 14 डिग्री सेल्सियस रहने की उम्मीद है. इसके अलावा मेरठ में न्यूनतम तापमान 13 डिग्री सेल्सियस है. मेरठ में सबसे अधिक ठंड पड़ रहा है.

इधर, शीतलहरी और ठंड की दस्तक को देखते हुए सरकार की ओर से भी तैयारी शुरु हो गई है. राजधानी लखनऊ में करीब 40 रैन बसेरे बनाए गए हैं. मंगलवार को इन रैश बसेरों का डीएम ने निरीक्षण भी किया. वहीं योगी सरकार ने अलाव और कंबल वितरण के लिए विशेष बजट का भी प्रावधान किया है.


Makar Sankranti 2022: बाजारों में पंजाबी चिक्की, रामदाना समेत इन चीजों की बढ़ी डिमांड

Makar Sankranti 2022: बाजारों में पंजाबी चिक्की, रामदाना समेत इन चीजों की बढ़ी डिमांड

मकर संक्रांति पर्व को लेकर थोक और फुटकर बाजारों में ग्राहकों की रौनक रही। गजक, तिल के लड्डू, पंजाबी चिक्की, रामदाना समेत गुड़ और शक्कर के बने उत्पादों की अच्छी बिक्री हुई।

नया चावल और उड़द-मूंग की दाल भी खूब बिकी। हालांकि, बाजार में महंगाई की मार भी दिखी। सोशल डिस्टेंसिंग धड़ाम रही, तमाम ग्राहक मास्क तक नहीं लगाए थे। 

कानपुर नमकीन, बेकरी, गजक, पेठा एसोसिएशन के अध्यक्ष निर्मल त्रिपाठी ने बताया कि पिछले साल की तुलना में गुड़ और शक्कर के दाम बढ़े हैं। पिछले साल की तुलना में करीब 10-15 फीसदी दाम तेज हैं। गुड़ की गजक 240 रुपये किलो बिकी। गुड़ रोल और पंजाबी चिक्की का भाव 260 रुपये किलो रहा।

काले तिल का लड्डू 280 और सफेद तिल का लड्डू 260 रुपये किलो में बिका। बाजार में ग्राहकों की पसंद को देखते हुए चॉकलेट, खोवा, मेवा गजक भी हैं। इसके दाम अलग-अलग क्वालिटी के अनुसार 400 से 600 रुपये किलो तक है। महामंत्री शंकर लाल मतानी ने बताया कि बाजार में अच्छी संख्या में ग्राहक थे।

दोनों प्रकार के तिल के लड्डू, रामदाना, लइया की भी अच्छी डिमांड देखने को मिली। चावल और दाल कारोबारी सचिन त्रिवेदी ने बताया कि खिचड़ी में नया चावल ही इस्तेमाल में आता है। इसके चलते चावल और दालों की अच्छी बिक्री हुई।