यूपी में वाहनों का प्रदूषण जाँच कराना महंगा

यूपी में वाहनों का प्रदूषण जाँच कराना महंगा

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में नया मोटर व्हीकल एक्ट का सख्ती से पालन हो रहा है. रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट, बीमा, ड्राइविंग लाइसेंस जैसे महत्वपूर्ण दस्तावेजों न चलने पर प्रतिदिन ट्रैफिक पुलिस चालान कट रही है. जिसके लिए भारी जुर्माना भरना पड़ रहा है. इसलिए प्रदूषण सर्टिफिकेट फिर भी महत्वपूर्ण लेकर चलिए. और यदि प्रदूषण सर्टिफिकेट की समय सीमा समाप्त हो गई है तो उसे नया बनवा लीजिए. पर अब प्रदूषण जाँच के लिए दोगुना पैसा खर्च करना होगा.

जी हां यूपी में वाहनों का प्रदूषण जाँच कराना महंगा हो गया. अब सभी वाहन मलिकों को दोगुना पैसा खर्च करना होगा. प्रदेश भर में नयी दरें एक जनवरी 2021 से लागू होगी. उत्तर प्रदेश में वाहनों के प्रदूषण जाँच की नयी दरें कुछ इस प्रकार निर्धारित की गईं हैं जानिए :-

शनिवार को परिवहन आयुक्त धीरज साहू ने सभी आरटीओ को नयी दरों के विषय में दिशा-निर्देश भेजा है. जिसमें अब दुपहिया के लिए 50 रुपए, तीन पहिया के लिए 70 रुपए, चार पहिया के लिए 70 रुपए के अतिरिक्त सभी प्रकार डीजल वाहनों की जाँच के लिए 100 रुपए देना पड़ेगा. अभी तक दो पहिया के लिए 30 रुपए, चार पहिया पेट्रोल के लिए 40 रुपए और चार पहिया डीजल वाहनों के प्रदूषण जाँच के लिए 50 रुपए चुकाना पड़ता था.


मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि संविधान की ताकत ही है कि हिंदुस्तान दुनिया में सबसे बड़ा लोकतंत्र

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि संविधान की ताकत ही है कि हिंदुस्तान दुनिया में सबसे बड़ा लोकतंत्र

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को बोला है कि हिंदुस्तान के संविधान की ताकत ही है कि यह दुनिया के अंदर सबसे बड़े लोकतंत्र का आदर्श बना हुआ है. सम-विषम परिस्थितियों में भी भारतीय संविधान हमें प्रेरणा प्रदान करता है. जाति, मत, सम्प्रदाय, भाषाएं, खान-पान की बहुलता होने के बावजूद भारतीय संविधान पूरे हिंदुस्तान को माला में पिरोए हुए है. 

वह लखनऊ में अपने सरकारी आवास पर संविधान दिवस के मौके पर संविधान की उद्देशिका का राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द के सान्निध्य में वर्चुअल पाठन किया. इस मौका पर सीएम ने यूपी संहिता (द्विभाषी) के दो संस्करणों का विमोचन किया.

मुख्यमंत्री ने बोला कि 26 जनवरी 1950 को हिंदुस्तान का संविधान लागू हुआ था. आज ही के दिन संविधान सभा ने भारतीय संविधान को अंगीकृत किया. न्याय, स्वतंत्रता, समता और बन्धुता ये हिंदुस्तान की सबसे बड़ी विशेषता है. इन्हीं मूलभूत बातों को ध्यान में रखकर प्रोग्राम आगे बढ़ाए जा रहे हैं.

उप सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने बोला कि पीएम की प्रेरणा से साल 2015 से संविधान दिवस मनाया जा रहा है. आज का दिन अत्यन्त गौरव का दिन है. संविधान हम सबको अधिकारों और कर्तव्य से जोड़ता है. वर्तमान केंद्र और प्रदेश सरकार बिना भेदभाव के सभी वर्गों को योजनाओं का फायदा समाज के अन्तिम पायदान पर खड़े आदमी तक पहुंचाया जा रहा है.

उप सीएम डा दिनेश शर्मा ने बोला कि हिंदुस्तान दुनिया का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश है. हिंदुस्तान का संविधान राजधर्म है. हिंदुस्तान के लोगों से ही हमारा संविधान संरक्षित है. प्रोग्राम का संचालन संसदीय काम मंत्री श्री सुरेश खन्ना ने किया. विधि एवं न्याय मंत्री बृजेश पाठक ने बोला कि आज का दिन अत्यन्त जरूरी है, क्योंकि आज ही के दिन हमारा संविधान अंगीकृत किया गया था. इस मौका पर मंत्री, विधान परिषद मेम्बर स्वतंत्र देव सिंह, मुख्य सचिव आरके तिवारी एवं अन्य वरिष्ठ ऑफिसर मौजूद थे.


तमिलनाडु तट पर कमजोर पड़ा चक्रवाती तूफान निवार       2020 का आखिरी चंद्रग्रहण 30 नवंबर को, जाने कहा दिखेगा और कहा नहीं       केंद्र ने दिए निर्देश, दिव्यांग कल्याण के लिए राज्यों में गठित होंगे एडवाइजरी बोर्ड       राज्यसभा उपचुनाव की एक सीट के लिए अधिसूचना जारी       अब इन राज्यों से आने यात्रियों के लिए कोरोना टेस्ट अनिवार्य       जेल में बंद लालू यादव की मुश्किलें बढ़ीं       इंदौर में अवैध निर्माणों पर चला जिला प्रशासन का बुलडोजर       इंदौर में दर्दनाक सड़क हादसे में ऑटो चालक की मौत       मध्य प्रदेश के 4 लाख से अधिक अधिकारी कर्मचारियों ने नारेबाजी कर प्रदर्शन किया       दिल्ली में कोरोना से एक दिन में 91 और लोगों की मौत, नये मामले 5,475       दिल्ली चलो मार्च: किसानों पर पुलिस ने की पानी की बौछार       टीम इंडिया ने पूरा किया 14 दिन का पृथकवास       शादी के बंधन में बंधे संगीता फौगाट और पहलवान बजरंग       Chahal ने फोटो शेयर कर Dhanashree के लिए लिखा मैसेज       मोहम्मद शमी के भाई ने ठोका तूफानी अर्धशतक       कपिश शर्मा के शो में सूर्यकुमार यादव बने थे बाजीगर       विंडीज टीम का तीसरा कोविड-19 टेस्ट नेगेटिव       क्रिकेटर युजवेंद्र चहल की मंगेतर धनाश्री वर्मा के डांस वीडियो ने मचाया तहलका       India vs Australia 1st ODI Preview: 8 महीने बाद टीम इंडिया करेगी मैदान पर वापसी       रोहित शर्मा की गैरमौजूदगी में कौन होगा शिखर धवन का पार्टनर