ट्रंप की सुरक्षा के लिए प्रशासन कर रहा है ये बंदोबस्त, जाने

ट्रंप की सुरक्षा के लिए प्रशासन कर रहा है ये बंदोबस्त, जाने

24 फरवरी को दोपहर 2:30 बजे से शाम के 7:30 बजे तक खेरिया से ताजगंज तक के लोगों के मोबाइल फोन बंद रहेंगे। इन्हें मोबाइल जैमर से बंद रखा जाएगा। ट्रंप के आने से दो घंटे पहले ही जैमर कार्य करना प्रारम्भ कर देंगे। 

लोकल पुलिस व अमेरिकी सुरक्षा एजेंसियों के जैमर एक साथ कार्य करेंगे। इसके लिए 24 से पहले ट्रॉयल भी किया जा सकता है। प्रशासन पांच घंटे के लिए इस इलाके के मोबाइल टॉवर बंद कराने पर भी विचार कर सकता है।

23 फरवरी को होगी रिहर्सल, खाली रखा जाएगा रास्ता
ट्रंप के आने से एक दिन पहले फ्लीट का रिहर्सल होगा। फ्लीट के गुजरने व वापस आने तक खेरिया से ताज तक का 15 किमी का रास्ता रोका जाएगा। इससे पहले लखनऊ से पुलिस व प्रशासन के ऑफिसर आकर सारे रूट का जायजा ले सकते हैं। इस रूट के लोगों को 22, 23 व 24 फरवरी को कठिनाई झेलनी पड़ सकती है।

वरिष्ठ अधिकारियों ने लिया जायजा
आईजी आगरा रेंज ए। सतीश गणेश, मंडलायुक्त अनिल कुमार, डीएम प्रभु नारायण सिंह समेत एएसआई व सीआईएसएफ के अधिकारियों ने राष्ट्रपति ट्रंप की विजिट के लिए ताजमहल की सुरक्षा व्यवास्था का जायजा लिया साथ ही सुरक्षा के सभी पॉइंट्स को भी बारीकी से चेक किया।

अध्यापकों का भी होगा सत्यापन
इस रूट पर कई विद्यालय हैं जिनमें परीक्षाएं चल रही हैं। पुलिस ने इनकी सूची बनाई है। इनसे अध्यापकों का सत्यापन होगा। अध्यापकों के माध्यम से परीक्षार्थियों की सूची तैयार कराई जाएगी।

एंटी एयूवी सिस्टम लगेगा
सुरक्षा व्यवस्था को देखते हुए विमानों से भी निगरानी की जाएगी। ट्रंप की सुरक्षा के लिए सिर्फ लोकल स्तर पर बंदोवस्त नहीं किए जा रहे हैं बल्कि प्रदेश व केन्द्र के गृह विभाग भी कई कदम उठा रहे हैं। लोकल स्तर पर कदम यह उठाया गया है कि शहर के सभी संवेदनशील इलाकों में फोर्स तैनात की जाएगी। जल्द ही एयरफोर्स हवा से निगरानी प्रारम्भ कर सकती है। अमेरिका से आई अफसरों की एडवांस टीम सुरक्षा के लिए हर महत्वपूर्ण कदम उठाने पर कार्य कर रही है।  

आगरा में ऐसे विमान तैनात हैं जो किसी भी खतरे से पहले वार्निंग व दूर तक नजर रखने का कार्य करते हैं। 20 वर्ष पहले जब अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति बिल क्लिंटन आए थे। तब वायुसेना ने हवा में निगरानी की थी। माना जा रहा है कि इस बार इनका इस्तेमाल किया जाएगा। एंटी एयूवी डिफेंस सिस्टम ऐसा सिस्टम है जो हवा में ड्रोन जैसे मानवरहित विमान का पता चलते ही उसे निष्क्रय कर देता है। लोकल स्तर पर भी सुरक्षा का घेरा बढ़ा दिया गया है।

सफाई, सड़क मरम्मत के कार्य मे लगे मजदूरों का भी हुआ सत्यापन
एसपी सिटी बोत्रे रोहन प्रमोद के नेतृत्व ने एक टीम सफाई, सड़क मरम्मत आदि कार्य में लगे कर्मचारियों व मजदूरों का सत्यापन कर रिपोर्ट तैयार की गई है।

संवेदनशील इलाकों के लिए स्पेशल प्लान
सीएए के विरोध की संभावना के मद्देनजर पुलिस ने संवेदनशील इलाकों के लिए जो प्लान बनाया था। उस पर फिर से कार्य प्रारम्भ किया है। इसमें शहर के 108 इलाकों में पुलिस तैनात की जाएगी। तीन दिन बाद ही बाहर से फोर्स आनी शुरु हो जाएगी। तब इसे सख्ती से लागू किया जाएगा।

ड्रोन से भी होगी निगरान
खेरिया से ताजगंज तक 15 किमी। क्षेत्र के लोगों की छत पर अगर ईंट या पत्थर रखे हों तो लोग उन्हें खुद ही हटा लें, अन्यथा परेशानी में आ सकते हैं। दरअसल, दो दिन में ही 10 ड्रोन कैमरों से इन सभी छतों का जायजा लिया जाएगा। इसके बाद ये ड्रोन कैमरे 24 तक निगरानी रखेंगे।