अयोध्‍या में दो सड़क हादसों में पराग मिल्‍क बार के मैनेजर सहित चार की मौत

अयोध्‍या में दो सड़क हादसों में पराग मिल्‍क बार के मैनेजर सहित चार की मौत

अयोध्‍या में बुधवार को दो भीषण हादसे हुए। दोनों सड़क हादसों में चार लोगों की जान चली गई। मृतकों में पराग मिल्‍क बार रानोपाली के मैनेजर, ट्रक का चालक, खलासी और एक मिस्‍त्री है। पुलिस ने सभी शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। साथ ही मृतकों के स्वजनों को दुर्घटना के बारे में सूचित किया है।

पहला हादसा बुधवार भोर में लखनऊ-गोरखपुर हाइवे पर रौनाही थाना क्षेत्र में कांटा चौराहे पर हुआ। यहां एक ट्रक का पहिया पंक्‍चर हो गया था। पहिया बनवाते समय मिस्त्री सहित ट्रक चालक और खलासी सड़़क के किनारे खड़े थे। इसी दौरान अज्ञान वाहन ने तीनों को कुचल दिया। ट्रक चालक और मिस्त्री की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि खलासी को गंभीर अवस्‍था में जिला अस्‍पताल पहुंचाया गया। जहां इलाज के दौरान उसकी भी मौत हो गई। मृतक मिस्त्री का नाम नसीरुद्दीन बताया गया है, जो बिहार के सैदपुर का रहने वाला था। नसीरूद्दीन यहां कांटा स्थित एक ढाबे पर पंक्‍चर बनाता था। ट्रक चालक मोंटी यादव मध्य प्रदेश के गुना स्थित श्रीराम कालोनी का रहने वाला था, जबकि खलासी नईम गुना के ही रेलवे कॉलोनी में रहता था। ट्रक बिहार से मध्य प्रदेश जा रही थी। हादसे के बाद हाइवे पर अफरातफरी मच गई। पुलिस दुर्घटना करने वाले वाहन की पहचान में जुटी है। 

दूसरे हादसे में पराग मिल्‍क बार के मैनेजर की मौत : दूसरा हादसा महराजगंज थाना क्षेत्र के विल्वहरिघाट घाट के निकट हुआ। बाइक से जा रहे पराग मिल्क बार के मैनेजर की कार से टक्कर में मौत हो गई। मृतक मैनेजर अभिषेक मिश्र इसी थाना क्षेत्र के रकौरा गांव के रहने वाले थे। हादसे में कार सवार दो लोगों को भी मामूली चोट आई है। अभिषेक मिश्र रानोपाली स्थित पराग मिल्क बार के मैनेजर थे। दुर्घटना के बाद पहुंची पुलिस ने शव काे पोस्‍टमार्टम के भेजा है। 


पूर्व CM कल्याण सिंह की हालत नाजुक, हाल जानने PGI पहुंचीं उमा भारती

पूर्व CM कल्याण सिंह की हालत नाजुक, हाल जानने PGI पहुंचीं उमा भारती

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व पूर्व राज्यपाल कल्याण सिंह के स्‍वास्‍थ्‍य की स्थिति बेहद नाजुक बनी हुई है। लखनऊ के संजय गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान (एसजीपीजीआइ) से मिली जानकारी के अनुसार क्रिटिकल केयर मेडिसिन के गहन चिकित्सा कक्ष (आइसीयू) में विशेषज्ञ चिकित्सकों की देखरेख में उनका उपचार चल रहा है। उनके गुर्दे तीन दिन से ठीक तरह से काम नहीं कर रहे हैं। डॉक्टरों ने डायलिसिस शुरू कर दी है। बुधवार को मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री व वरिष्ठ भाजपा नेता उमा भारती ने अस्पताल पहुंचकर कल्याण सिंह का हालचाल लिया। उमा भारती ने डॉक्टरों और परिवारीजन से उनके स्वास्थ्य के बारे में बातचीत भी की।

लखनऊ संजय गांधी पीजीआइ में भर्ती चल रहे पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह को देखने के लिए बुधवार को भाजपा नेता उमा भारती भी पहुंचीं। वहां पहुंचकर उन्होंने डॉक्टरों से कल्याण सिंह की सेहत का हालचाल जाना। हालांकि इस दौरान कल्याण सिंह अचेत अवस्था में रहे। उमा भारती ने एसजीपीजीआइ के डॉक्टरों और पूर्व सीएम के परिवारजन से मुलाकात कर उनकी तबीयत के बारे में अपडेट लिया। डॉक्टरों के अनुसार पूर्व मुख्यमंत्री की हालत लगातार चिंताजनक और नाजुक बनी हुई है। इससे पहले मंगलवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कल्याण सिंह का हाल लिया। उनके स्वास्थ्य की स्थिति के बारे में जानकारी ली।


पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह की किडनी की कार्य शक्ति काफी कम हो गई है। इस कारण उनकी लगातार डायलिसिस की जा रही है। स्वास्थ्य स्थिति अभी भी नाजुक बनी हुई है। वह लाइफ सेविंग सपोर्ट सिस्टम पर हैं। वह लगातार डायलिसिस पर हैं। विशेषज्ञ सलाहकारों द्वारा उनके नैदानिक मापदंडों की बारीकी से निगरानी की जा रही है। सीसीएम कार्डियोलॉजी, नेफ्रोलाजी, न्यूरोलॉजी और एंडोक्रिनोलॉजी उनके स्वास्थ्य से जुड़े तमाम पहलुओं पर कड़ी नजर रखे हुए हैं।

पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह को तीन जुलाई के देर रात लखनऊ के डॉ. राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान में भर्ती कराया गया था, जहां से हालत गंभीर होने के बाद चार जुलाई की शाम संजय गांधी पीजीआइ में शिफ्ट किया गया। उनको पीजीआइ के सीसीएम (क्रिटिकल केयर मेडिसिन) डिपार्टमेंट के आइसीयू (इंटेंसिव केयर यूनिट) में भर्ती किया गया है। कल्याण सिंह का हालचाल लेने के लिए लगातार पार्टी के वरिष्ठ नेता पहुंच रहे हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उनके इलाज की लगातार निगरानी कर रहे हैं।