मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन कांग्रेस पार्टी के साथ मंत्रिमंडल पर करेंगे ये काम

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन कांग्रेस पार्टी के साथ मंत्रिमंडल पर करेंगे ये काम

सीएम Hemant Soren in New Delhi झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन दो दिनों से दिल्ली में जमे हैं. दिल्‍ली यात्रा के पहले दिन सोमवार को उन्‍होंने जहां यूपीए की नागरिकता संशोधन कानून, सीएए विरोध वाली अहम मीटिंग में हिस्‍सा लिया, वहीं दूसरे दिन कांग्रेस पार्टी के शीर्ष नेतृत्‍व से मिलकर झारखंड मंत्रिमंडल पर उनकी माथापच्‍ची जारी है. कांग्रेस पार्टी नेताओं के साथ मंत्रिमंडल के मसले पर सोमवार को उनकी पहले से तय मीटिंग बारिश की वहज से नहीं हो पाई थी.

माना जा रहा है कि कांग्रेस पार्टी आलाकमान मंत्रालयों में जातिगत समीकरण बैठाने में जुटा है. इसके लिए मुसलमान, आदिवासी को झारखंड कैबिनेट में हिस्‍सेदारी देने के बाद अगड़ी व पिछड़ी जातियों को साधने की जुगत तलाशी जा रही है. कांग्रेसी आदिवासी व अल्पसंख्यक के बाद फारवर्ड व बैकवर्ड नेताओं के समीकरण को बैलेंस करने में जुटे हैं. पार्टी सूत्रों की मानें तो मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन के मंत्रिमंडल में एक ब्राह्मण व एक पिछड़ा वर्ग से मंत्री रखने की रणनीति बनाई जा रही है.

खरमास के बाद अगले दो-तीन दिनों में होने कि सम्भावना है झारखंड मंत्रिमंडल का विस्‍तार

झारखंड कैबिनेट की बात करें तो अभी मुख्‍यमंत्री समेत कुल चार मंत्री इसमें रखे गए हैं. तीन मंत्रियों ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के साथ शपथ ली थी, लेकिन अब तक उनके मंत्रालय, पोर्टफोलियो तय नहीं हो पाए हैं. हेमंत मंत्रिमंडल में कांग्रेस पार्टी कोटे से आलमगीर आलम व प्रदेश अध्‍यक्ष रामेश्‍वर उरांव को मंत्री बनाया गया है. जबकि राजद की ओर से सत्‍यानंद भोक्‍ता भी मंत्री बनाए गए हैं. जबकि झारखंड मंत्रिमंडल में मुख्यमंत्री समेत कुल 12 मंत्री रखे जाने हैं. विधानसभा अध्‍यक्ष का पद झारखंड मुक्ति मोर्चा के खाते में गया है. नाला सीट से झामुमो के विधायक रवींद नाथ महतो विधानसभा के स्‍पीकर चुने गए हैं. बोला जा रहा है कि खरमास के बाद अगले दो-तीन दिनों में झारखंड मंत्रिमंडल का विस्‍तार होने कि सम्भावना है.

मंत्रियों व विभागों पर आज होने कि सम्भावना है आखिरी निर्णय

सीएम हेमंत सोरेन के मंत्रिमंडल में कांग्रेस पार्टी के कोटे से कुल पांच मंत्री बनाए जाने हैं. दो मंत्री बनाए जाने के बाद अब भी तीन मंत्रियों के नामों पर आखिरी निर्णय बाकी है. साेमवार को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन व कांग्रेस पार्टी आलाकमान की यूपीए मीटिंग में व्‍यस्‍तता के कारण इस पर फैसला नहीं लिया जा सका था, ऐसे में मंगलवार को हर हाल में मंत्रिमंडल के स्‍वरूप पर निर्णय लिया जाएगा. कांग्रेस पार्टी अध्‍यक्ष सोनिया गांधी व राहुल गांधी मंत्रियों व उनके विभागों की हिस्‍सेदारी तय होने के बाद अंतिम मुहर लगाएंगी. इसके बाद देर शाम तक मुख्यमंत्री वापस रांची पहुंचेंगे. जहां रात को प्रदेश कांग्रेस पार्टी के नेताओं से भी उनकी मुलाकात संभावित है. कांग्रेस पार्टी विधायक दल के नेता आलमगीर आलम व कांग्रेस पार्टी प्रदेश प्रभारी आरपीएन सिंह भी मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के साथ दिल्‍ली में जमे हैं.