धार्मिक भावनाएं भड़काने के आरोपी विधायक आरिफ मसूद ने जारी किया वीडियो, कहा-मैं फरार नहीं हूं

धार्मिक भावनाएं भड़काने के आरोपी विधायक आरिफ मसूद ने जारी किया वीडियो, कहा-मैं फरार नहीं हूं

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के इकबाल मैदान पर फ्रांस के राष्ट्रपति के खिलाफ प्रदर्शन कर धार्मिक भावनाएं भड़काने के मामले के आरोपित कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद की अग्रिम जमानत याचिका पर अब हाईकोर्ट 25 नवम्बर को सुनवाई करेगा। इधर, मसूद का एक वीडियो जारी हुआ है, जिसमें वो कह रहे हैं कि मैं फरार नहीं हूं। मेरे खिलाफ झूठा मामला दर्ज किया है। 

जारी किए गए वीडियो में विधायक आरिफ मसूद कहते हैं कि मैंने हाई कोर्ट में अपील की है। अगर वहां से जमानत नहीं मिलती है, तो मैं कोर्ट में सरेंडर कर दूंगा। वीडियो में मसूद ने कहा कि हिन्दू बहनों के घर-घर राखियां पहुंचाई। कई वर्षों से दीपावली पर्व पर साड़ियां भाई के रूप में बहनों को पहुंचाने का काम किया है। सरकार इनकी साफ सुथरी छवि को देखते हुए उसे धूमिल करने के उद्देश्य से इस प्रकार के झूठे प्रकरण लगा रही है। उन्हें बदनाम करने की कोशिश कर रही है। हमें माननीय न्यायालय पर पूरा भरोसा है हमें न्यायालय में इंसाफ मिलेगा। 

गौरतलब है कि तलैया पुलिस ने इस मामले में पहले धारा 144 के उल्लंघन का केस दर्ज किया था, लेकिन बाद में धार्मिक भावनाएं भड़काने की धाराओं में मसूद समेत 7 लोगों पर एफआईआर की गई। अब तक इस मामले में विधायक को छोड़ सभी 6 आरोपी सलाखों के पीछे पहुंच चुके हैं। विधायक के करीबी अब्दुल नफीस ने बताया कि हाई कोर्ट अग्रिम जमानत पर 25 को फैसला करेगा।


बड़ी सफलता: कोरोना वायरस को सूंघ कर पता लेंगे कुत्ते

बड़ी सफलता: कोरोना वायरस को सूंघ कर पता लेंगे कुत्ते

मेरठ: कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के लिए एक अच्छी खबर है। नई खबर यह है कि जांच के तरीके अब जल्द ही बदल जायेंगे और समय पर सही इलाज हो सकेगा। रिमाउंट वेटनरी कोर (आरवीसी सेंटर एंड कॉलेज) को एक बड़ी उपलब्धि हासिल हुई है। आरवीसी के डॉग ब्रीडिंग एंड ट्रेनिंग सेंटर ने मानव शरीर में कोविड-19 वायरस का पता लगाने के लिए खोजी कुत्ते तैयार किए हैं।

रिमाउंट वेटनरी कोर (आरवीसी सेंटर एंड कॉलेज), मेरठ को एक बड़ी उपलब्धि हासिल हुई है। आरवीसी के डॉग ब्रीडिंग एंड ट्रेनिंग सेंटर ने मानव शरीर में कोरोना वायरस का पता लगाने के लिए खोजी कुत्ते तैयार किए हैं। फिलहाल पसीना और मूत्र इत्यादि के सैंपल सूंघकर शरीर में मौजूद वायरस का पता लगाने और संकेत देने में यह सक्षम हो गए हैं।

प्राप्त सैंपल में वायरस की पहचान करने में उन्हें कुछ पल ही लगते हैं। मेरठ छावनी में प्रशिक्षण के बाद तीन प्रशिक्षित कुत्तों को इसी महीने दिल्ली छावनी में ट्रायल के लिए तैनात किया गया है।

99 फीसद रिजल्ट बिल्कुल सटीक निकली
करीब ड़ेढ़ महीने की ट्रेनिंग के बाद उपलब्ध परिणाम ने सेना को उत्साहित कर दिया है। शुरुआती ट्रेनिंग के बाद छावनी स्थित सैन्य अस्पताल में आए संदिग्ध मरीजों के सैंपल लिए गए। इनमें से जिन्हें प्रशिक्षित कुत्तों द्वारा चिन्हित किया गया, उन सैंपल की मेडिकल रिपोर्ट भी पॉजीटिव यानी कोरोना संक्रमण की पुष्टि करने वाली पाई गई। इस तरह करीब 99 फीसद रिजल्ट में इन श्वानों की पहचान बिल्कुल सटीक निकली।

मेरठ छावनी में सफल परीक्षण के बाद तीन प्रजातियों के तीन कुत्तों को दिल्ली छावनी में ट्रायल के लिए तैनात किया गया है। वहा फिलहाल सैनिकों में कोविड-19 की जाच की जा रही है। आरवीसी में प्रशिक्षित तीन श्वानों में लेब्राडोर, कॉकर स्पेनियल और दक्षिण भारतीय प्रजाति चिप्पिपराई का एक-एक श्वान है।

श्वानों की नाक 30 करोड़ तरह की गंधों को सूंघने में सक्षम
मनुष्य की नाक में जहा 60 लाख प्रकार की गंधों को सूंघने वाली विशिष्ट ग्रंथिया होती हैं, वहीं श्वानों की नाक 30 करोड़ तरह की गंधों को सूंघने में सक्षम है। श्वानों का दिमाग उन सभी गंधों को याद रखने में भी सक्षम है।

कोविड-19 से पीड़ित व्यक्ति के शरीर से भी विशेष तरह का रसायन निकलता है, जिसकी गंध को प्रशिक्षित श्वान पहचान लेते हैं। इन श्वानों को इसी रसायन की गंध को सूंघने के लिए प्रशिक्षित किया गया है। सैंपल में उस वायरस की गंध मिलते ही यह श्वान वहीं बैठकर और भौंककर हैंडलर या प्रशिक्षक को स्पष्ट संकेत दे देते हैं।

ट्रायल में रिजल्ट बेहद सटीक हैं
आरवीएस सूत्रों ने बताया कि प्राथमिक तौर पर प्रशिक्षित तीन कोविड-19 डिटेक्टर श्वानों को लेकर ट्रायल चल रहा है। ट्रायल में रिजल्ट बेहद सटीक हैं। कुछ और ट्रायल के बाद ही इन्हें अस्पताल सहित अन्य जगहों पर फील्ड डिटेक्शन के लिए ले जाया जाएगा। इसके बाद ही आधिकारिक तौर पर विस्तृत जानकारी दी जाएगी।

फ्रांस में भी इस तरह का प्रयोग हुआ है। श्वानों को कोविड-19 वायरस सूंघने के लिए प्रशिक्षित किया गया। प्रशिक्षण के बाद सितंबर के अंतिम सप्ताह में फिनलैंड एयरपोर्ट पर उनकी तैनाती हुई। बाहर से आने वालों से सैंपल लेकर टेस्ट करने पर रिजल्ट सटीक निकले। श्वानों के जरिए कोरोना वायरस का पता लगाने की प्रक्रिया को जाच के प्रचलित तरीकों आरटीपीसीआर व एंटीजन टेस्ट इत्यादि से भी आसान माना जा रहा है।


कपिल शर्मा को यूजर ने किया ट्रोल- पॉलिटिक्स मत कर, कॉमेडी कर चुप-चाप       क्या आलिया भट्ट ने खरीदा ब्वॉयफ्रेंड रणबीर कपूर की बिल्डिंग में 32 करोड़ का घर?       ऋत्विक धनजानी ने शेयर किया रूमर्ड गर्लफ्रेंड मोनिका डोगरा संग वीडियो, फैन्ल बोले- हम केवल...       ओएमजी! Priyanka Chopra के पति और उनके भाईयों पर महिला ने लगाए ये गंभीर आरोप       यूपी के इस जिले में नए कानून के तहत दर्ज हुआ पहला केस       कुशीनगर: मासूम के साथ दरिंदगी, फिर हैवानों ने किया ऐसा       बड़ी सफलता: कोरोना वायरस को सूंघ कर पता लेंगे कुत्ते       अपनी शादी के बाद अब नेहा कक्कड़ अपनी भाभी की तलाश में पहुंची इस जगह       लखनऊ में कोरोना का कहर: 24 घंटे में मिले इतने नए संक्रमित       वाराणसी में गरजेंगे मोदी, रौशन होंगे मुस्लिम इलाके       OH NO! बहू के साथ ससुर रोज करता था ये गंदा काम       गंगा की लहरों पर लेज़र शो, नौका विहार का आनंद लेंगे मोदी       पाकिस्तान में हिंदुओं पर बड़ा हमला, मार-मारकर घर से भगाया       तानाशाह का ऐसा आदेश: कांप उठी पूरी दुनिया       43 लोगों की गला काटकर हत्या, लाशों को देखकर रो रहा पूरा देश       डिफेन्स मिनिस्टर पहुंचे काठमांडू, नेपाल पर चीन की नजरें       अभी अभी: कार धमाके में 26 सुरक्षाबलों की मौत, हर तरफ मच गई चीख-पुकार       राष्ट्रपति से थे इनके संबंध, अब अरबों में खेलती हैं ये...       OH NO! लिफ्ट में फंसा बच्चा, मौत का तांडव देख कांपी बहने       सावधान ATM धारक! मिनटों में खाली हो जाएगा आपका खाता