पंचायत चुनाव के पहले चरण में 18 जिलों में मतदान 15 को , हाई अलर्ट पर सुरक्षा तथा स्वास्थ्यकर्मी

पंचायत चुनाव के पहले चरण में 18 जिलों में मतदान 15 को , हाई अलर्ट पर सुरक्षा तथा स्वास्थ्यकर्मी

उत्तर प्रदेश में गांव की सरकार के गठन के लिए उलट गिनती शुरू हो गई है। गुरुवार 15 अप्रैल को 18 जिलों में त्रिस्तरीय चुनाव के लिए मतदान प्रात: सात बजे से शुरु हो जाएगा। इसमें सबसे पहले कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों को मतदान का मौका मिलेगा। यह लोग पीपीई किट पहनकर वोट डालेंगे। इस बार 11 घंटा तक मतदान होगा।

प्रदेश में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में जिला पंचायत पंचायत सदस्य, क्षेत्र पंचायत सदस्य, ग्राम प्रधान और ग्राम पंचायत वार्ड सदस्य के पद के लिए होने वाले चुनाव चार चरण में होंगे। पहले चरण का मतदान 15 अप्रैल को प्रात: सात बजे से होगा। पहले चरण में 18 जिलों में मतदान होगा। गांव की सरकार के गठन के लिए होने वाले इस बार के पंचायत चुनाव में राज्य निर्वाचन आयोग के साथ पंचायती राज विभाग और सुरक्षा बलों के साथ स्वास्थ्य विभाग की भी कड़ी परीक्षा होनी है। पहली बार स्वास्थ्य विभाग फ्रंट लाइन में है।


पहले चरण में अयोध्या, आगरा, कानपुर, गाजियाबाद, गोरखपुर, जौनपुर, झांसी, प्रयागराज, बरेली, भदोही, महोबा, रामपुर, रायबरेली, श्रावस्ती, संत कबीर नगर, सहारनपुर, हरदोई और हाथरस जिलों में मतदान होगा। पहले चरण में जिला पंचायत सदस्य के 779 पदों के लिए 11,442 प्रत्याशी, क्षेत्र पंचायत सदस्य के 19,313 पदों के लिए 81,747 उम्मीदवार, ग्राम प्रधान के 14,789 पदों के लिए 1,14,142 प्रत्याशी और ग्राम पंचायत वार्ड सदस्यों के 1,86,583 पदों के लिए 1,26,613 उम्मीदवार मैदान में हैं।


कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर के गति पकडऩे के बीच में भी मतदान कड़े कोविड प्रोटोकॉल के बीच होगा। दौरान मतदाताओं को मास्क लगाना और शारीरिक दूरी बनाए रखना अनिवार्य होगा। आयोग ने हर मतदान केंद्र के बाहर छह-छह फीट की दूरी पर घेरे बनाने का आदेश जारी किया है। दो मई को मतगणना के दौरान भी कोविड-19 प्रोटोकॉल का पूरी तरह पालन किया जाएगा। जरूरत पडऩे पर पीपीई किट की भी व्यवस्था की जाएगी।

प्रदेश के एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने बताया कि पहले चरण में 18 जिलों में पंचायत चुनाव होना प्रस्तावित है। इसकी पूरी व्यवस्था कर ली गई है। इन जिलों के कुल 19,774 मतदान केंद्रों के 51,036 मतदेय स्थलों पर मतदान प्रस्तावित है। इनमें भी हमारी विशेष निगाह झांसी, हरदोई, कानपुर, रायबरेली, अयोध्या, गाजियाबाद, सहारनपुर और भदोही पर है।

एडीजी कानून-व्यवस्था प्रशांत कुमार का कहना है कि चुनौती ड्यूटी पर मुस्तैद होने वाले पुलिसकर्मियों को मास्क, फेस शील्ड, सेनेटाइजर, दस्ताने व अन्य सुरक्षा उपकरण अनिवार्य रूप से उपलब्ध कराए जाने के निर्देश दिए गए हैं। फोर्स के आवंटन का कार्य अंतिम चरण में है। मतदान केंद्रों पर शारीरिक दूरी का अनुपालन कराने के लिए कड़े निर्देश दिए गए हैं। मास्क न लगाने वालों के विरुद्ध कार्रवाई की रफ्तार बढ़ाने के निर्देश भी दिए गए हैं। सी-प्लान एप के जरिए सूचनाओं का आदान-प्रदान बढ़ाने तथा लोगों को कोरोना के खतरों के प्रति जागरूक करने को कहा गया है। एडीजी ने विभिन्न शाखाओं में तैनात पुलिसकर्मियों को भी चुनाव ड्यूटी में लगाने के निर्देश दिए हैं।


इस समय पुलिस के सामने खुद की सुरक्षा के साथ मतदान केंद्रों से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन कराना सबसे बड़ी चुनौती है। चुनावों को सकुशल और भयमुक्त संपन्न कराने के लिए सात मार्च से अभियान चलाए जा रहे हैं। जिसके अंतर्गत हमने अब तक कुल 2,429 अस्त्र बरामद किए गए हैं। इसके साथ ही 7,85,191 लीटर अवैध शराब की बरामदगी करते हुए 18,888 व्यक्तियों की गिरफ्तारी की गई है। हमारा प्रयास है कि चुनाव शांति से निपटें और हमको ऐसा भरोसा भी है। शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुलिस करीब एक माह से अपराधियों से लेकर शरारती तत्वों पर शिकंजा कसने में जुटी थी। अब पुलिस, पीएसी, होमगार्ड व पीआरडी जवानों को मतदान के दिन ड्यूटी के लिए लगाने का सिलसिला शुरू हो गया है। डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी पहले ही कोरोना व पंचायत चुनाव को लेकर हर स्तर पर अतिरिक्त सतर्कता बरते जाने के कड़े निर्देश दे चुके हैं।  


सीएम योगी के आदेश पर गोरखपुर में हर 5 KM पर होगी कोविड केयर की सुविधा, तीसरी लहर से निपटने की तैयारी

सीएम योगी के आदेश पर गोरखपुर में हर 5 KM पर होगी कोविड केयर की सुविधा, तीसरी लहर से निपटने की तैयारी

गोरखपुर सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) के आदेश पर गोरखपुर ( Gorakhpur) जिला प्रशासन जून मध्य तक जिले में हर पांच किलोमीटर पर कोविड केयर की सुविधा मौजूद कराने की तैयारी में जुट गया है कोविड (Covid 19) की दूसरी लहर में संक्रमण की गति पहली लहर से 30 से 50 गुना अधिक रही इसे इस आंकड़े से समझा जा सकता है कि पहली लहर में जिले में एक दिन के संक्रमित मिले लोगों की सर्वाधिक संख्या 420 थी, जबकि दूसरी लहर में 1440 लोग एक दिन (25 अप्रैल) को मिले हैं इसी को देखकर योगी सरकार अब तीसरी लहर को लेकर अभी से स्वास्थ्य इंतजामों में जुट गई है

मुख्यमंत्री योगी के आदेश पर कोविड-19 संक्रमितों के उपचार के लिए गोरखपुर में डेडिकेटेड कोविड हॉस्पिटल ों की संख्या लगातार बढ़ाई जा रही है जल्द ही जिले में कोविड मरीजों के उपचार हेतु 700 से अधिक बेड और मौजूद हो जाएंगे विमान निर्माता कंपनी बोइंग के योगदान से उत्तर प्रदेश सरकार एम्स और गोरखनाथ आयुर्वेदिक कॉलेज में 200-200 बेड का डेडिकेटेड कोविड हॉस्पिटल बना रही है तो वीर बहादुर सिंह स्पोर्ट्स कॉलेज में बिल एंड मिलिंडा गेट्स फाउंडेशन के योगदान से 100 बेड का हॉस्पिटल बनेगा सरकार बड़हलगंज के होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेज में 150 बेड, चौरीचौरा सीएचसी पर 50 और हरनही सीएचसी पर 50 बेड का कोविड हॉस्पिटल बनने की प्रक्रिया चल रही है

दूसरी लहर में बढ़ी थी ऑक्सीजन की मांग

कोविड के सेकंड वेव में संक्रमण की गति तेज होने से ऑक्सीजन को मांग आकस्मित बहुत ज्यादा बढ़ गई थी अप्रैल माह के शुरुआती दिनों में गोरखपुर के गीडा में मोदी केमिकल्स और आरके ऑक्सीजन के प्लांटों में औसतन 2000 सिलेंडर ऑक्सीजन का उत्पादन हो रहा था सरकार की पहल के बाद अब यहां ऑक्सीजन उत्पादन की क्षमता 8000 सिलेंडर रोजाना की हो गई है सीएम योगी आदित्यनाथ की पहल पर ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेन से शनिवार को 40 मीट्रिक टन लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति मिली सरकार के आदेश के बाद जिला प्रशासन 20 स्थानों पर ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट लगवाने की तैयारी में जुटे हैं ताकि आने वाले दिनों में ब्लॉक स्तर पर ही ऑक्सीजन की आपूर्ति की जा सके जितने भी नए कोविड हॉस्पिटल बन रहे हैं, वहां उनका स्वयं का ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट तैयार कराया जा रहा है
जानकार इस बात की संभावना जता रहे हैं कि कोविड का तीसरा वेव जुलाई अगस्त तक दस्तक दे सकता है इसे देखते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने पूरे प्रदेश में समय पूर्व तैयारी का आदेश दे रखा है प्रशासन ने जून मध्य तक हर ब्लॉक में कम से कम 50 बेड के सभी सुविधाओं से युक्त डेडिकेटेड कोविड हॉस्पिटल का लक्ष्य तय किया है गोरखपुर के जिलाधिकारी के विजयेंद्र पांडियन का मानना है कि 15 जून तक हम इस स्थिति में होंगे कि शहर हो या देहात हर पांच किलोमीटर पर कोविड केयर की सुविधा मौजूद करा सकेंगे तीसरे  वेव में बच्चों और स्त्रियों को लेकर इंतजामों पर खासा जोर दिया जा रहा है जून मध्य तक जिले में पांच हजार कोविड बेड की सुविधा सुनिश्चित होने की आसार है


तलाक होते ही अनुपमा ने बदला घर, कैंसर से लड़नी होगी अब लड़ाई       Himani Shivpuri ने जताई बुजुर्ग कलाकारों को लेकर फिक्र, कहा...       एक कविता के जरिए अनुपम खेर ने बयां किया अपना हाल-ए-दिल       मुंबई में समंदर किनारे है श्रद्धा कपूर का आलीशान घर       खतरों के खिलाड़ी 11' का पहला एलिमिनेशन, ये अभिनेता होंगे बाहर!       सलमान खान के बॉडी डबल हैं परवेज काजी, सलमान से जुड़ने के बाद बढ़ी कमाई       Khatron Ke Khiladi 11: शो में हुआ पहला शॉकिंग एलिमिनेशन       कोविड-19 पॉजिटिव रुबीना दिलैक का अब ऐसा है हाल, फूट-फूटकर रोती दिखीं       मिलिंद सोमन डोनेट नहीं कर पाए प्लाज्मा, हॉस्पिटल ने लौटाया       इन हिरोइनों ने प्यार के लिए बदल लिया अपना धर्म       कंगना रनौत इजरायल-फिलिस्तीन मुद्दे में ट्रोल्स पर भड़कीं, कहा...       नेपाल में पीएम पद की शपथ पर विवाद, ओली ने नहीं दोहराया राष्ट्रपति का बोला वाक्य       कहीं खतरनाक रूप न ले ले इजरायल-फलस्‍तीन के बीच छिड़ी लड़ाई! तुर्की का कड़ा रुख       दुनिया में एक दिन में मिले 5.70 लाख नए केस, दस हजार संक्रमितों की गई जान       गाजा टनल को हथियार के तौर पर इस्तेमाल करता है हमास, जानें       इजराइल की भीषण बमबारी से कांपा गाजा शहर, अब तक 201 फलस्तीनियों की मौत       अमेरिका में स्वीकृत टीके पहली बार विदेश भेजेगा अमेरिका, राष्ट्रपति जो बाइडन का एलान       इजरायल-फिलीस्‍तीन के बीच सीजफायर कराने के लिए अमेरिकी राष्‍ट्रपति बाइडन पर बढ़ा दबाव       पाकिस्तान में ईश निंदा आरोपी को मारने के लिए थाने में घुसी भिड़       कोरोना के खिलाफ भारत की मदद जारी रखेगा अमेरिका