यूपी में कोरोना रिकवरी, सीएम योगी ने दिया ये निर्देश

यूपी में कोरोना रिकवरी, सीएम योगी ने दिया ये निर्देश

लखनऊ : सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में कोविड-19 की 97 प्रतिशत से अधिक की रिकवरी दर पर संतोष व्यक्त करते हुए कोविड-19 से बचाव व उपचार की व्यवस्थाओं को पूरी तरह चुस्त-दुरुस्त बनाए रखने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि कोरोना के सम्बन्ध में प्रत्येक स्तर पर पूर्ण सावधानी बरती जाए, इस सम्बन्ध में थोड़ी लापरवाही भी भारी पड़ सकती है।

अनलॉक व्यवस्था
सीएम योगी आज यहां अपने सरकारी आवास पर आहूत एक उच्चस्तरीय बैठक में अनलॉक व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि वर्तमान में प्रदेश में कोरोना वैक्सीनेशन अभियान प्रगति पर है। अभियान के आगामी चरण के लिए फ्रंटलाइन वर्कर्स का डाटा बेस तेजी से तैयार किए जाने के निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि वैक्सीनेशन अभियान की प्रत्येक कार्यवाही भारत सरकार द्वारा निर्धारित दिशा-निर्देश एवं मानकों के अनुरूप की जाए।

सीएम ने कोविड-19 के उपचार की प्रभावी व्यवस्था बनाए रखने के निर्देश देते हुए कहा कि सभी कोविड अस्पतालों में आवश्यक दवाओं, बैकअप सहित ऑक्सीजन तथा मेडिकल उपकरणों की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ने में टेस्टिंग के महत्वपूर्ण योगदान को ध्यान में रखते हुए प्रदेश में टेस्टिंग कार्य पूरी क्षमता से किया जाए। यह भी सुनिश्चित किया जाए कि कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग तथा सर्विलांस सिस्टम प्रभावी ढंग से संचालित रहें। 

सीएम योगी ने  कोविड-19 से बचाव के सम्बन्ध में लोगों को निरन्तर जागरूक किए जाने के निर्देश देते हुए कहा कि इस कार्य में विभिन्न प्रचार माध्यमों के साथ-साथ पब्लिक एड्रेस सिस्टम का व्यापक स्तर पर उपयोग किया जाए। उन्होंने जनपदों में स्थापित इन्टीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेन्टर को पूरी सक्रियता से संचालित करने के निर्देश भी दिए।

योगी ने कहा कि ई-संजीवनी एप का व्यापक प्रचार-प्रसार किया करते हुए अधिक से अधिक लोगों को इसके माध्यम से ऑनलाइन चिकित्सीय परामर्श की सुविधा उपलब्ध कराई जाए। बैठक में यह अवगत कराया गया कि उत्तर प्रदेश देश का सर्वाधिक ई-कंसल्टलेशन प्रदान करने वाला राज्य बन गया है। प्रदेश में में ई-संजीवनी एप के माध्यम से अब तक 04 लाख 16 हजार 512 व्यक्तियों द्वारा ऑनलाइन चिकित्सीय परामर्श प्राप्त किया गया है, जो कि देश में सर्वाधिक है।

बैठक में मुख्य सचिव श्री आर के तिवारी, अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त श्री आलोक टण्डन, कृषि उत्पादन आयुक्त श्री आलोक सिन्हा, अपर मुख्य सचिव गृह श्री अवनीश कुमार अवस्थी, पुलिस महानिदेशक श्री हितेश सी अवस्थी, अपर मुख्य सचिव वित्त श्री संजीव मित्तल, अपर मुख्य सचिव एमएसएमई एवं सूचना श्री नवनीत सहगल, अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री श्री एसपी गोयल, अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा डॉ रजनीश दुबे, अपर मुख्य सचिव कृषि श्री देवेश चतुर्वेदी, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एवं सूचना श्री संजय प्रसाद, प्रमुख सचिव पशुपालन श्री भुवनेश कुमार, प्रमुख सचिव स्वास्थ्य श्री आलोक कुमार, राहत आयुक्त श्री संजय गोयल, सचिव मुख्यमंत्री श्री आलोक कुमार, सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।


यूपी के मंत्री को सजा! देर से पहुंचे मीटिंग में, फिर सीट पर...

यूपी के मंत्री को सजा! देर से पहुंचे मीटिंग में, फिर सीट पर...

लखनऊ: उत्तर प्रदेश विधानसभा में 18 फरवरी यानी आज से बजट सत्र शुरु होने वाला है। उससे पहले बुधवार को दोपहर में बजट सत्र के एजेंडे पर चर्चा करने के लिए विधानसभा अध्यक्ष ने सर्वदलीय बैठक बुलाई। ये बैठक तकरीबन एक घंटे तक चली, लेकिन इस बैठक में कुछ ऐसा हुआ कि बजट पर चर्चा से ज्यादा इस बात की चर्चा रही है कि आखिर मीटिंग के भीतर क्या हुआ?

सीट पर खड़े होने की मिली सजा
खबर मिली है कि विधानमंडल दल की बैठक में कुछ बीजेपी के विधायक और मंत्री देर से पहुंचे। उसके बाद उन्हें अजीब सजा सुनाई गई। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, बैठक में कई विधायक और मंत्री देर से पहुंचे। करीब दर्जन भर से ज्यादा विधायक, सीएम योगी आदित्यनाथ के आने के बाद आये। यह देख बैठक की अध्यक्षता कर रहे प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह ने ऐसे नेताओं को अपनी सीट पर ही खड़े हो जाने को कह दिया।

स्वतंत्रदेव सिंह ने कहा कि सीएम के आने के बाद जो भी माननीय सदस्य इस विधानमंडल दल की मीटिंग में आए हैं, वह अपनी-अपनी सीट पर खड़े हो जाएं और उसके बाद बैठे। भरी मीटिंग में इस तरह का फरमान सुनते ही सीएम योगी भी मंच पर बैठे हुए असहज दिखाई दिए। खबर है कि मुख्यमंत्री अपने हाथों से विधायकों और मंत्रियों को बैठने का इशारा करते रहे, लेकिन तब तक अध्यक्ष स्वतंत्रदेव कई बार मंत्री-विधायकों को खड़े होने के लिए कह चुके थे।

जानकारी के अनुसार, पूर्वांचल के एक वरिष्ठ मंत्री भी देर से पहुंचे थे और खड़े होने की बात पर वह भी बेहद ही असहज थे। हालांकि, यह सब कुछ एक मिनट के भीतर खत्म हो गया, लेकिन विधायकों और मंत्रियों के बीच यह चर्चा का विषय बना रहा कि स्कूल में देर से आने वाले बच्चों की तरह आज उनके साथ सलूक किया गया। अनौपचारिक बातचीत में कई मंत्री और विधायक इस बैठक में इस तरह की बात से काफी नाराज नजर आए, लेकिन किसी ने इस बारे में बात करना सही नहीं समझा।


आज संकष्टी चतुर्थी के दिन करें ये उपाय, जीवन की बाधाएं होती हैं दूर       आज है अंगारकी संकष्टी चतुर्थी, जानें तिथि, मुहूर्त और चंद्रोदय का समय       पढ़ें दलदल में फंसे हाथी की कथा, जो देती है मनोबल मजबूत करने की प्रेरणा       कब है जानकी जयंती? जानें तारीख, तिथि, पूजा मुहूर्त एवं धार्मिक महत्व       कब है फुलेरा दूज, जानें शुभ मुहूर्त और धार्मिक महत्व       मेटाबॉलिज्म ठीक रखना है तो डाइट में करें इन चीज़ों को शामिल       दिनभर की भागदौड़ के बाद जब कुछ हलका-फुलका और हेल्दी खाने का मन हो तो...       मोटापा कम करना चाहते हैं तो रोज़ाना करें शहद का इस्तेमाल       हफ्ते में तीन दिन नॉनवेज खाते हैं तो सावधान हो जाइए       WHO के मुताबिक, साल 2050 तक बहरे हो जाएंगे इतने करोड़ लोग!       मोदी की फोटो पर बवाल, EC के आदेश पर लोगों का ऐसा रिएक्शन       मुसलमानों को खुशखबरी, हज यात्रा की इजाजत       दिल्ली हिंसा, हिंदू आरोपियों को मारने की थी साजिश       इन राज्यों में कोरोना से मचा हाहाकार, सरकार ने जारी की एडवाइजरी       बीजेपी नेताओं की उड़ गई नींद, किसान नेता राकेश टिकैत ने इस बार किया ऐसा दावा       कॉफी ना मिलने की वजह से नाराज हुईं फातिमा सना शेख       Kajol ने छोटी बहन तनीषा को दी जन्मदिन की बधाई, कहा...       इस हॉलीवुड स्टार ने प्रियंका से कहा, मैंने आपसे पहली नजर में किया है प्यार !!       बॉलीवुड फिल्म 'शेरशाह' 2 जुलाई को सिनेमाघरों में होगी रिलीज       बॉलीवुड अभिनेता ने अपनी गर्लफ्रेंड को लिखा लव नोट!!