कोहली की कप्तानी पर गंभीर ने किया तीखा प्रहार, कहा...

कोहली की कप्तानी पर गंभीर ने किया तीखा प्रहार, कहा...

इसमें कोई शक नहीं है कि विराट कोहली दुनिया के बेहतरीन बल्लेबाज हैं और हर जगह उन्होंने ये बात साबित भी की है। बात चाहे आइपीएल की हो या फिर इंटरनेशनल लेवल की विराट के आंकड़े ये जाहिर करते हैं कि वो कितने शानदार बल्लेबाज हैं, लेकिन बतौर कप्तान आइपीएल में वो फेल ही रहे। उनके उपर ये दाग ताउम्र लगा रहेगा कि वो अपनी कप्तानी में इस टीम को एक बार भी खिताब नहीं दिला पाए। आइपीएल 2021 के एलिमिनेटर मैच में आरसीबी को केकेआर के हाथों हार मिली और ये टीम बाहर हो गई। आरसीबी के इस तरह से बाहर होने के बाद टीम इंडिया के पूर्व ओपनर बल्लेबाज गौतम गंभीर ने विराट कोहली पर जमकर निशाना साधा। 

गंभीर ने क्रिकइन्फो पर बात करते हुए कहा कि रणनीति बनाने के मामले में विराट कोहली सक्षम कैप्टन नहीं हैं। वो एनर्जी और पैशन के नजरिए से बेस्ट कप्तान हो सकते हैं, लेकिन जहां तक बात मैच को पढ़ने और टैक्टिस की आती है वो उतने सक्षम नहीं दिखते जितना होना चाहिए। उन्होंने आरसीबी की कप्तानी लंबे समय तक की और इस दौरान सबकुछ उन्हें ही करना था। टीम को अपने हिसाब से बनाना भी उनकी जिम्मेदारी थी, लेकिन वो इसमें सफल नहीं हो पाए। टी20 क्रिकेट में आपको गेम से आगे रहने की जरूरत होती है ना कि गेम से साथ। 


उन्होंने लो स्कोरिंग मैच के बारे में बात करते हुए कहा कि जब आपके पास स्कोर कम होता है तब आपको गेंद से एक कदम आगे रहने की जरूरत होती है। हमने ये भी देखा कि किस तरह से डेनियल क्रिस्टियन के एक ओवर ने मैच को किस तरह से बदल दिया। अगर उनके उस ओवर में 22 रन नहीं बनते तो आरसीबी शायद मैच बचा ले जाता। केकेआर के खिलाफ डेनियल ने एक ओवर में 22 रन दिए थे और यहीं से मैच पलट गया था और कोहली ने भी मैच के बाद ये बात कही थी कि इस ओवर की वजह से मैच पलट गया था। ये टीम की हार की सबसे बड़ी वजह बनी थी। 


विसे की ताबड़तोड़ पारी से जीती नामिबिया, नीदरलैंड्स को छह विकेट से दी शिकस्त

विसे की ताबड़तोड़ पारी से जीती नामिबिया, नीदरलैंड्स को छह विकेट से दी शिकस्त

नामिबिया ने डेविड विसे के ताबड़तोड़ अर्धशतक से बुधवार को यहां टी-20 विश्व कप के पहले दौर के ग्रुप-ए के मैच में अपने से ऊंची रैंकिंग की नीदरलैंड्स को छह गेंद रहते छह विकेट से हरा दिया। दक्षिण अफ्रीका के लिए भी टी-20 मैच खेल चुके विसे ने 40 गेंदों पर चार चौके और पांच छक्के की मदद से नाबाद 66 रन बनाए। इसके चलते नामिबिया ने 19 ओवर में चार विकेट पर 166 रन बनाकर जीत दर्ज की। नीदरलैंड्स ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में चार विकेट पर 164 रन का स्कोर बनाया था।


लक्ष्य का पीछा करते हुए नामिबिया ने नौ ओवर में 52 रन पर तीन विकेट गंवा दिए थे, लेकिन 36 साल के विसे ने अकेले दम पर नीदरलैंड्स को छह गेंद बाकी रहते हराने में मदद की। उन्होंने प्रतिद्वंद्वी टीम के कप्तान पीटर सीलार पर छक्का लगाकर महज 29 गेंद में करियर का पहला अंतरराष्ट्रीय अर्धशतक पूरा किया।


उन्होंने कप्तान गेरहार्ड इरास्मस (32) के साथ चौथे विकेट के लिए 51 गेंद में 93 रन की साझेदारी की। अंत में जेजे स्मिट ने आठ गेंद में नाबाद 14 रन बनाए। स्मिट ने 19वें ओवर की अंतिम दो गेंद पर दो चौके लगाकर टीम की जीत सुनिश्चित की। पदार्पण कर रही नामिबिया की पहले दौर के मैच में यह पहली जीत थी।


इससे पहले नीदरलैंड्स के सलामी बल्लेबाज मैक्स ओडोड (70) ने लगातार दूसरा अर्धशतक जड़ा और कोलिन एकरमैन (35) के साथ 82 रन की साझेदारी की। ओडोड की 57 गेंद की पारी में छह चौके और एक छक्का शामिल था। इस जीत से नामिबिया सुपर-12 चरण की दौड़ में बनी हुई है और पहले दौर के अंतिम मैच में उसे इसके लिए आयरलैंड को हराना होगा। वहीं, दो मैच हारने के बाद नीदरलैंड्स के अगले चरण में पहुंचने की संभावना काफी कम है।