सुनील नरेन को नहीं मिलेगी T20 विश्व कप के लिए वेस्टइंडीज की टीम में जगह

सुनील नरेन को नहीं मिलेगी T20 विश्व कप के लिए वेस्टइंडीज की टीम में जगह

वेस्टइंडीज के कप्तान किरोन पोलार्ड ने स्पष्ट कर दिया है कि टी20 विश्व कप 2021 के लिए आलराउंडर सुनील नरेन को कैरेबियाई टीम में एंट्री नहीं मिलेगी। पोलार्ड का कहना है कि वे मौजूदा आइपीएल में शानदार फार्म के बावजूद सुनील नरेन को अपनी टी20 विश्व कप टीम में शामिल करने के प्रलोभन का विरोध करेंगे। नरेन ने कोलकाता नाइट राइडर्स को क्वालीफायर 2 में पहुंचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।

33 वर्षीय नरेन ने सोमवार को रायल चैलेंजर्स बैंगलोर के खिलाफ एलिमिनेटर मैच में पहले तो चार विकेट लिए और बाद में बल्ले से भी प्रभावशाली साबित हुए। यूएई में लीग के फिर से शुरू होने के बाद से उन्होंने आठ आइपीएल मैचों में 11 विकेट लिए हैं। बल्ले से जब भी उनको योगदान करने का मौका मिला है तो वे पीछे नहीं रहे हैं, लेकिन अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की बात करें तो वे काफी समय से टीम से बाहर चल रहे हैं।


उन्होंने अगस्त 2019 के बाद से कोई भी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच नहीं खेला है, जिससे गत चैंपियन वेस्टइंडीज को फिटनेस के आधार पर अपने विश्व कप टीम की घोषणा करते हुए उन्हें अनदेखा करने के लिए मजबूर होना पड़ा। आइसीसी टीम में बदलाव की समय सीमा शुक्रवार को समाप्त हो रही है। पोलार्ड ने क्रिकइंफो से कहा, "अगर मैं अपने दो सेंट या अपने शब्दों में कहूं तो उनका टीम में शामिल होना संभव नहीं है, भले ही वे अच्छी गेंदबाजी कर रहे हैं।"

 
उन्होंने कहा, "इस समय आप मौजूदा पंद्रह लोगों से निपटें, जो अधिक महत्वपूर्ण हैं और देखें कि क्या हम इन लोगों के आसपास किसी को मौका दे सकते हैं और देख सकते हैं कि क्या हम अपने खिताब की रक्षा कर सकते हैं। पोलार्ड ने कहा, "इस पर मेरी कोई टिप्पणी नहीं है। उस पर काफी कहा जा चुका है। मुझे लगता है कि लोगों ने इस समय उनके शामिल नहीं होने का कारण बताया है। मेरे लिए व्यक्तिगत रूप से, मैं सुनील नरेन को एक अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर से पहले एक दोस्त के रूप में जानता हूं। हम एक साथ क्रिकेट खेलते हुए बड़े हुए हैं। वह एक विश्व स्तरीय क्रिकेटर हैं।"


विसे की ताबड़तोड़ पारी से जीती नामिबिया, नीदरलैंड्स को छह विकेट से दी शिकस्त

विसे की ताबड़तोड़ पारी से जीती नामिबिया, नीदरलैंड्स को छह विकेट से दी शिकस्त

नामिबिया ने डेविड विसे के ताबड़तोड़ अर्धशतक से बुधवार को यहां टी-20 विश्व कप के पहले दौर के ग्रुप-ए के मैच में अपने से ऊंची रैंकिंग की नीदरलैंड्स को छह गेंद रहते छह विकेट से हरा दिया। दक्षिण अफ्रीका के लिए भी टी-20 मैच खेल चुके विसे ने 40 गेंदों पर चार चौके और पांच छक्के की मदद से नाबाद 66 रन बनाए। इसके चलते नामिबिया ने 19 ओवर में चार विकेट पर 166 रन बनाकर जीत दर्ज की। नीदरलैंड्स ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में चार विकेट पर 164 रन का स्कोर बनाया था।


लक्ष्य का पीछा करते हुए नामिबिया ने नौ ओवर में 52 रन पर तीन विकेट गंवा दिए थे, लेकिन 36 साल के विसे ने अकेले दम पर नीदरलैंड्स को छह गेंद बाकी रहते हराने में मदद की। उन्होंने प्रतिद्वंद्वी टीम के कप्तान पीटर सीलार पर छक्का लगाकर महज 29 गेंद में करियर का पहला अंतरराष्ट्रीय अर्धशतक पूरा किया।


उन्होंने कप्तान गेरहार्ड इरास्मस (32) के साथ चौथे विकेट के लिए 51 गेंद में 93 रन की साझेदारी की। अंत में जेजे स्मिट ने आठ गेंद में नाबाद 14 रन बनाए। स्मिट ने 19वें ओवर की अंतिम दो गेंद पर दो चौके लगाकर टीम की जीत सुनिश्चित की। पदार्पण कर रही नामिबिया की पहले दौर के मैच में यह पहली जीत थी।


इससे पहले नीदरलैंड्स के सलामी बल्लेबाज मैक्स ओडोड (70) ने लगातार दूसरा अर्धशतक जड़ा और कोलिन एकरमैन (35) के साथ 82 रन की साझेदारी की। ओडोड की 57 गेंद की पारी में छह चौके और एक छक्का शामिल था। इस जीत से नामिबिया सुपर-12 चरण की दौड़ में बनी हुई है और पहले दौर के अंतिम मैच में उसे इसके लिए आयरलैंड को हराना होगा। वहीं, दो मैच हारने के बाद नीदरलैंड्स के अगले चरण में पहुंचने की संभावना काफी कम है।