सरिता ने पीटीआई-भाषा से कहा ये बात

सरिता ने पीटीआई-भाषा से कहा ये  बात

पूर्व विश्व चैंपियन मुक्केबाज एल सरिता देवी कोविड-19 बीमारी से उबर चुकी हैं, लेकिन अपने युवा बेटे की खातिर वह इंफाल में अपने घर से बाहर कम से कम 10 दिन तक पृथकवास पर रहना चाहती हैं। इस 38 वर्षीय खिलाड़ी को 17 अगस्त को उनके पति थोइबा सिंह के साथ इस घातक वायरस से संक्रमित पाया गया था। उनका परीक्षण नेगेटिव आने के बाद उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई।

सरिता ने पीटीआई-भाषा से कहा, ''मैं परीक्षण नेगेटिव आने के बाद 7 सितंबर को वापस आ गई। मेरे पति को पिछले सप्ताह ही छुट्टी मिल गई थी, लेकिन मेरा परीक्षण पॉजीटिव आने के कारण मुझे कोविड केयर सेंटर में कुछ दिन और बिताने पड़े। ईश्वर की कृपा है कि अब मुझे छुट्टी मिल गई है। वह इंफाल में अपनी अकादमी के करीब स्थित हॉस्टल में ठहरी हैं ताकि उनका सात वर्षीय पुत्र तोमथिन किसी तरह से खतरे में न आए। उनके बेटे का पिछले महीने किया गया परीक्षण नेगेटिव आया था।"

उन्होंने कहा, ''अगर मैं घर गई तो वह दौड़कर मेरे पास आ जाएगा और मैं जोखिम नहीं ले सकती। उसकी खातिर मैंने खुद को अकादमी हॉस्टल में पृथकवास पर रहने का फैसला किया है।" सरिता ने कहा, ''मेरे पति भी यहां है, लेकिन उनका पृथकवास अगले दो दिन में समाप्त हो जाएगा क्योंकि उन्हें अस्पताल से मुझसे पहले छुट्टी मिल गई थी।"

सरिता से पहले दिग्गज मुक्केबाज डिंको सिंह को भी इस वायरस से संक्रमित पाया गया था। कैंसर से भी जूझ रहे डिंको सिंह लगभग एक महीने तक अस्पताल में रहने के बाद इस कोविड-19 से उबर गए थे।