केकेआर के कप्तान ने वेंकटेश अय्यर और राहुल त्रिपाठी को नहीं दिया जीत का श्रेय

केकेआर के कप्तान ने वेंकटेश अय्यर और राहुल त्रिपाठी को नहीं दिया जीत का श्रेय

केकेआर ने मुंबई इंडियंस के खिलाफ अपनी शानदार बल्लेबाजी के दम पर 7 विकेट से जीत दर्ज की और कोलकाता की इस टीम में टीम के नए ओपनर बल्लेबाज वेंकटेश अय्यर और मध्यक्रम के बल्लेबाज राहुल त्रिपाठी का बड़ा योगदान रहा। वेंकटेश ने इस मैच में 53 रन की पारी खेली थी जबकि राहुल त्रिपाठी ने नाबाद 74 रन बनाए और टीम को जीत दिला दी। मुंबई ने इस मैच में 20 ओवर में 155 रन बनाए थे। हालांकि यूएई कि पिच पर इसके खराब स्कोर नहीं कहा जा सकता है, लेकिन इस स्कोर को केकेआर के बल्लेबाजों ने आसानी से चेज कर लिया। 

अब केकेआर की जीत के बाद टीम के कप्तान इयोन मोर्गन ने अपनी टीम को मिली इस जीत का श्रेय वेंकटेश अय्यर या राहुल त्रिपाठी को नहीं दिया। मोर्गन ने कहा कि गेंदबाजों ने शानदार प्रदर्शन किया और इसी वजह से हमारे सलामी बल्लेबाज खुलकर खेल पाए। उन्होंने आगे कहा कि मुझे नहीं लगता कि किसी एक खिलाड़ी ने टीम का हाल बदला है। मेरा मानना है कि पिछले दो मैचों में हमारे सुपरस्टार गेंदबाज रहे। उन्होंने यहां और अबुधाबी में बल्लेबाजी के लिए अनुकूल विकेटों पर वास्तव में शानदार गेंदबाजी की।


मोर्गन ने आगे कहा कि गेंदबाजों द्वारा किए गए शानदार प्रदर्शन की वजह से ही शुभमन गिल और वेंकटेश अय्यर की हमारी सलामी जोड़ी को अपना नैचुरल खेल खेलने की छूट मिली। मोर्गन ने वेंकटेश अय्यर की प्रभावशाली बल्लेबाजी के लिए भी तारीफ की। उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि वेंकटेश ने आज ऐसी पारी खेली जिसको आप 50 आइपीएल मैच खेलने वाले खिलाड़ी के बराबर रख सकते हो। उसने जिस तरह खुलकर बल्लेबाजी की वह सच में शानदार है। वह टाप आर्डर के बल्लेबाज के लिए बेहद प्रभावशाली है। इस जीत के बाद केकेआर की टीम अंक तालिका में चौथे नंबर पर आ गई। 


विसे की ताबड़तोड़ पारी से जीती नामिबिया, नीदरलैंड्स को छह विकेट से दी शिकस्त

विसे की ताबड़तोड़ पारी से जीती नामिबिया, नीदरलैंड्स को छह विकेट से दी शिकस्त

नामिबिया ने डेविड विसे के ताबड़तोड़ अर्धशतक से बुधवार को यहां टी-20 विश्व कप के पहले दौर के ग्रुप-ए के मैच में अपने से ऊंची रैंकिंग की नीदरलैंड्स को छह गेंद रहते छह विकेट से हरा दिया। दक्षिण अफ्रीका के लिए भी टी-20 मैच खेल चुके विसे ने 40 गेंदों पर चार चौके और पांच छक्के की मदद से नाबाद 66 रन बनाए। इसके चलते नामिबिया ने 19 ओवर में चार विकेट पर 166 रन बनाकर जीत दर्ज की। नीदरलैंड्स ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में चार विकेट पर 164 रन का स्कोर बनाया था।


लक्ष्य का पीछा करते हुए नामिबिया ने नौ ओवर में 52 रन पर तीन विकेट गंवा दिए थे, लेकिन 36 साल के विसे ने अकेले दम पर नीदरलैंड्स को छह गेंद बाकी रहते हराने में मदद की। उन्होंने प्रतिद्वंद्वी टीम के कप्तान पीटर सीलार पर छक्का लगाकर महज 29 गेंद में करियर का पहला अंतरराष्ट्रीय अर्धशतक पूरा किया।


उन्होंने कप्तान गेरहार्ड इरास्मस (32) के साथ चौथे विकेट के लिए 51 गेंद में 93 रन की साझेदारी की। अंत में जेजे स्मिट ने आठ गेंद में नाबाद 14 रन बनाए। स्मिट ने 19वें ओवर की अंतिम दो गेंद पर दो चौके लगाकर टीम की जीत सुनिश्चित की। पदार्पण कर रही नामिबिया की पहले दौर के मैच में यह पहली जीत थी।


इससे पहले नीदरलैंड्स के सलामी बल्लेबाज मैक्स ओडोड (70) ने लगातार दूसरा अर्धशतक जड़ा और कोलिन एकरमैन (35) के साथ 82 रन की साझेदारी की। ओडोड की 57 गेंद की पारी में छह चौके और एक छक्का शामिल था। इस जीत से नामिबिया सुपर-12 चरण की दौड़ में बनी हुई है और पहले दौर के अंतिम मैच में उसे इसके लिए आयरलैंड को हराना होगा। वहीं, दो मैच हारने के बाद नीदरलैंड्स के अगले चरण में पहुंचने की संभावना काफी कम है।