IPL 2021 की ट्राफी CSK और KKR में से कौन उठाएगा, पूर्व तेज गेंदबाज डेल स्टेन ने की भविष्यवाणी

IPL 2021 की ट्राफी CSK और KKR में से कौन उठाएगा, पूर्व तेज गेंदबाज डेल स्टेन ने की भविष्यवाणी

चेन्नई सुपर किंग्स और कोलकाता नाइट राइडर्स आइपीएल 2021 के फाइनल मैच में शुक्रवार को एक-दूसरे के खिलाफ मैदान पर खिताबी जीत के लिए भिड़ेंगे। कोलकाता की टीम जहां सात साल के बाद इस लीग के फाइनल तक पहुंची है तो वहीं सीएसके ने रिकार्ड 9वीं बार फाइनल में जगह बनाई। इसके अलावा सीएसके चौथी बार तो वहीं केकेआर तीसरी बार खिताब जीतने की कोशिश करेगी। इस बार जहां सीएसके ने तूफानी अंदाज में फाइनल तक पहुंची है तो वहीं केकेआर बेहद नाटकीय अंदाज में यहां तक पहुंची है जो एक वक्त पर अंकतालिका में काफी नीचे थी। 

अब धौनी और मोर्गन में किस कप्तान के हाथ में आइपीएल के इस सीजन की ट्राफी होगी इसे लेकर क्रिकेट फैंस के मन में सवाल उठ रहे हैं। हालांकि इसका जवाब तो मैच के बाद ही मिलेगा, लेकिन इससे पहले साउथ अफ्रीका क्रिकेट टीम के पूर्व तेज गेंदबाज डेल स्टेन ने बताया कि किस टीम में इस बार चैंपियन बनने का दम है। ईएसपीएन क्रिकइन्फो के साथ बात करते हुए स्टेन ने कहा कि कोलकाता का लक उन्हें पकड़ लेगा और खराब फैसले साथ ही कप्तान इयोन मोर्गन और दिनेश कार्तिक का खराब फार्म केकेआर का काम खराब कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि इस टीम ने सिर्फ लक के दम पर फाइनल तक का सफर तय किया है और हर जगह लक काम नहीं करता है। 


सीएसके के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि आप इस टीम को देखें तो ये शानदार लय में है और एकदम शांत दिख रही है। इस टीम को देखकर यही लगता है कि वो बिल्कुल सही दिशा में जा रहे हैं। दिल्ली के खिलाफ पहले क्वालीफायर में वो अच्छे टच में दिखे थे और बेहतरीन कप्तानी भी की थी। यही नहीं टीम के बल्लेबाज बेहतरीन लय में नजर आ रहे हैं। मुझे ऐसा लगता है कि कोलकाता खुद से बेहतरीन टीम से फाइनल में भिड़ने जा रही है। स्टेन का साफ तौर पर मानना है कि धौनी की कप्तानी में सीएसके इस बार टाइटल अपने नाम करने में सफल रहेगी। 


विसे की ताबड़तोड़ पारी से जीती नामिबिया, नीदरलैंड्स को छह विकेट से दी शिकस्त

विसे की ताबड़तोड़ पारी से जीती नामिबिया, नीदरलैंड्स को छह विकेट से दी शिकस्त

नामिबिया ने डेविड विसे के ताबड़तोड़ अर्धशतक से बुधवार को यहां टी-20 विश्व कप के पहले दौर के ग्रुप-ए के मैच में अपने से ऊंची रैंकिंग की नीदरलैंड्स को छह गेंद रहते छह विकेट से हरा दिया। दक्षिण अफ्रीका के लिए भी टी-20 मैच खेल चुके विसे ने 40 गेंदों पर चार चौके और पांच छक्के की मदद से नाबाद 66 रन बनाए। इसके चलते नामिबिया ने 19 ओवर में चार विकेट पर 166 रन बनाकर जीत दर्ज की। नीदरलैंड्स ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में चार विकेट पर 164 रन का स्कोर बनाया था।


लक्ष्य का पीछा करते हुए नामिबिया ने नौ ओवर में 52 रन पर तीन विकेट गंवा दिए थे, लेकिन 36 साल के विसे ने अकेले दम पर नीदरलैंड्स को छह गेंद बाकी रहते हराने में मदद की। उन्होंने प्रतिद्वंद्वी टीम के कप्तान पीटर सीलार पर छक्का लगाकर महज 29 गेंद में करियर का पहला अंतरराष्ट्रीय अर्धशतक पूरा किया।


उन्होंने कप्तान गेरहार्ड इरास्मस (32) के साथ चौथे विकेट के लिए 51 गेंद में 93 रन की साझेदारी की। अंत में जेजे स्मिट ने आठ गेंद में नाबाद 14 रन बनाए। स्मिट ने 19वें ओवर की अंतिम दो गेंद पर दो चौके लगाकर टीम की जीत सुनिश्चित की। पदार्पण कर रही नामिबिया की पहले दौर के मैच में यह पहली जीत थी।


इससे पहले नीदरलैंड्स के सलामी बल्लेबाज मैक्स ओडोड (70) ने लगातार दूसरा अर्धशतक जड़ा और कोलिन एकरमैन (35) के साथ 82 रन की साझेदारी की। ओडोड की 57 गेंद की पारी में छह चौके और एक छक्का शामिल था। इस जीत से नामिबिया सुपर-12 चरण की दौड़ में बनी हुई है और पहले दौर के अंतिम मैच में उसे इसके लिए आयरलैंड को हराना होगा। वहीं, दो मैच हारने के बाद नीदरलैंड्स के अगले चरण में पहुंचने की संभावना काफी कम है।