ये है भारत के 10 हैवान, इसलिए करते हैं हत्यांए 

ये है भारत के 10 हैवान, इसलिए करते हैं हत्यांए 

‘सायनाइड किलिंग' नाम से चर्चित इस केस की जाँच कर रहे विशेष जाँच दल (एसआईटी) ने यह चौंकाने वाला खुलासा किया है. महिला के विवाहेत्तर संबंध व पारिवारिक संपत्ति के लालच में हत्याओं को अंजाम देने का संदेह है. इस मुद्दे की जाँच कर रहे पुलिस अधीक्षक केजी साइमन ने कहा, हमारे पास सबूत हैं कि उसकी व हत्याओं को अंजाम देने की योजना थी. वैसे नतीजे पर पहुंचना जल्दबाजी होगा. पूछताछ के लिए सात व लोगों को बुलाया जाएगा. जॉली को शनिवार को अरैस्ट कर लिया गया था. इन हत्याओं का खुलासा तब हुआ, जब पुलिस ने 47 वर्षीय जॉली जोसेफ सहित उसके दोस्त एम मैथ्यू व प्राजू कुमार को अरैस्ट किया.

बच्चे को भी नहीं बख्शा : सिलसिलेवार हत्याओं में पहली बलि 2002 में सेवानिवृत्त शिक्षिका व जॉली की सास अनम्मा थॉमस की चढ़ी व 2008 में अपने ससुर टॉम थॉमस की मर्डर की. उनका बेटा एवं जॉली का पहला पति रॉय 2011 में संदिग्ध दशा में मारा गया. जॉली ने अनम्मा के भाई की 2014 में मर्डर की. इसके बाद 2016 में अनम्मा की अन्य सम्बन्धी सिली व उसके एक वर्ष के बच्चे अल्पाइन की संदिग्ध परिस्थितयों में मृत्यु हो गई. इन सभी संदिग्ध मौतों में जॉली का हाथ था. वहीं, राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (एनआईटी) ने बुधवार को बोला कि जॉली जोसेफ कभी भी उसकी कर्मचारी नहीं थी.
सबसे क्रूर कातिल -

‘जैक द रिपर’ को संसार का सबसे खतरनाक सीरियल कातिल बोला जाता है. उसने 1888 को इंग्लैंड के पूर्वी लंदन में एक के बाद एक लगातार पांच वेश्याओं की बेहद ही जघन्य ढंग से मर्डर की. वह सिर्फ नशे में धुत वेश्याओं को शिकार बनाता था व उनकी लाशों से हैवानियत करता था.

इसलिए करते हैं हत्यांए-

मनोवैज्ञानिक डाक्टर शांतनु गुप्ता के मुताबिक, सिलसिलेवार हत्याओं का मुख्य मकसद मनोवैज्ञानिक संतुष्टि होती है. अधिकांश हत्याओं में पीड़ित के साथ हत्यारे का शारीरिक संबंध होता है. किसी के प्रति क्रोध, रोमांच व ध्यान आकर्षित करने के लिए भी सीरियल किलिंग हो सकती है.


भारत के 10 हैवान
1. ठग बहराम: 900 लोगों की हत्या
2. कंपटीमार शंकरिया:70 लोगों को मारा
3. मोहन कुमार: 20 स्त्रियों की हत्या
4. दरबारा सिंह: 20 लोगों की हत्या
5. चार्ल्स शोभराज:12 पर्यटकों की हत्या
6. ऑटो शंकर: नौ किशोरियों की हत्या
7. सुरेंद्र कोली : चार बच्चों की हत्या
8. मोट्टा नवास: पांच लोगों की हत्या
9. मल्लिका: छह लोगों की हत्या
10. चंद्रकांत झा: छह लोगों की हत्या

कौन होता है सीरियल किलर
नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ जस्टिस ने भिन्न-भिन्न घटनाओं में दो या दो से अधिक सिलसिलेवार हत्याओं को ‘सीरियल किलिंग’ के रूप के रूप में परिभाषित किया है. इस तरह की एक मानसिक विकृति से पीड़ित शख्स अपनी संतुष्टि के लिए अगर मर्डर को अंजाम देता है, तो वह सीरियल कातिल होता है.