भारतीय स्टेट बैंक ने अपने ग्राहकों को दी राहत, MCLR की दरों में की कटौती

भारतीय स्टेट बैंक ने अपने ग्राहकों को दी राहत, MCLR की दरों में की कटौती

देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ( भारतीय स्टेट बैंक ) ने ग्राहकों को राहत दी है. भारतीय स्टेट बैंक ने MCLR की दरों में सभी अवधि के लिए 0.05 फीसद तक कटौती की है. अब आपका होम, ऑटो व व्यक्तिगत कर्ज़ सस्ता हो जाएगा.

Image result for भारतीय स्टेट बैंक ने अपने ग्राहकों को दी राहत

नयी दरें 10 नवंबर से प्रभावी होंगी. बैंक ने 10 अक्टूबर 2019 को भी MCLR में 0.10 फीसद तक की कटौती की थी. मालूम हो कि रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने इस वर्ष अब तक रेपो रेट में पांच बात कटौती की है. केन्द्रीय बैंक ने कुल 135 बेसिस पॉइंट्स की कमी की है. बैंक के मुताबिक, अब एक वर्ष के लिए नयी MCLR दरें 8.05 फीसद से घटकर 8 फीसद पर आ गई है. बैंक ने मौजूदा वित्त साल में लगातार सातवीं बार दरें घटाई हैं.

गौरतलब है कि व्यक्तिगत क्षेत्र के बड़े बैंक HDFC ने विभिन्न टेन्योर के लिए अपने MCLR में 10 बेसिस पॉइंट्स तक की कटौती की है. बैंक ने 6 महीने के MCLR के लिए 5 बेसिस पॉइंट्स की कटौती की है, जिसके बाद यह 8.1 फीसद हो गया है. 1 वर्ष की अवधि के लिए 5 बेसिस पॉइंट्स की कटौती के बाद यह 8.3 फीसद हो गया है. 2 वर्ष के टेन्योर के लिए 5 बेसिस पॉइंट्स की कटौती के बाद यह 8.4 फीसद व 3 वर्ष की अवधि के लिए 10 बेसिस पॉइंट्स की कटौती के बाद 8.5 फीसद हो गया है. सभी दरें 7 नवंबर से प्रभावी हैं.

बता दें कि केन्द्रीय बैंक ने रेपो रेट में कटौती के बाद सभी बैंकों से बोला है कि वह कटौती का फायदा तुरंत ग्राहकों को दें. दरअसल, भारतीय रिजर्व बैंक को ऐसी शिकायत मिली थी कि बैंक रेपो रेट में कटौती का पूरा फायदा ग्राहकों को नहीं दे रहे हैं.