मिशन मून कल इस कक्षा में करेगा प्रवेश

मिशन मून कल इस कक्षा में करेगा प्रवेश

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) का मिशन मून कल यानी मंगलवार को चांद की कक्षा में प्रवेश करेगा। प्रातः काल 8.30 से 9.30 के बीच चंद्रयान-2 को अग्नि इम्तिहान से गुजरना होगा। इसके लिए इसरो वैज्ञानिकों ने कमर कस ली है। 7 सितंबर को चंद्रयान-2 चांद के दक्षिणी ध्रुव पर उतरेगा। बता दें कि चंद्रयान-2 को 22 जुलाई को श्रीहरिकोटा प्रक्षेपण केन्द्र से रॉकेट बाहुबली के माध्यम से प्र‍क्षेपित किया गया था।

Image result for चाँद की कक्षा में प्रवेश करेगा चंद्रयान-2

इससे पहले 14 अगस्त को चंद्रयान-2 को ट्रांस लूनर ऑर्बिट में प्रवेश कराया गया था। मतलब वह लंबी कक्षा जिसमें चलकर चंद्रयान-2 चांद के पास पहुंच रहा है। चंद्रयान-2 की स्थिति व उसके मार्ग पर इसरो के तीन सेंटर्स नज़र बनाए हुए हैं। ये तीन सेंटर हैं- मिशन ऑपरेशन कॉम्प्लेक्स (MOX), इसरो टेलीमेट्री ट्रैकिंग एंड कमांड नेटवर्क (ISTRAC) वभारतीय डीप स्पेस नेटवर्क (IDSN)। इसरो वैज्ञानिकों ने जानकारी देते हुए बताया है कि चंद्रयान-2 की स्वास्थ्य अभी ठीक है।

इसरो के चेयरमैन डाक्टर के। सिवन ने बोला कि चांद की कक्षा में जाते वक़्त चंद्रयान-2 की कड़ी इम्तिहान होगी। चांद की गुरुत्वाकर्षण शक्ति 65000 किमी तक रहती है। ऐसे में चंद्रयान-2 की रफ़्तार को धीमा करना पड़ेगा। नहीं तो, चांद की गुरुत्वाकर्षण शक्ति के असर में आकर चंद्रयान-2 उससे टकरा भी सकता है। गति धीमी करने के लिए चंद्रयान-2 के ऑनबोर्ड प्रोपल्‍शन सिस्‍टम को कुछ समय के लिए चालू किया जाएगा। इस दौरान एक छोटी सी गलती भी चंद्रयान-2 को अनियंत्रित कर सकती है। यह सिर्फ चंद्रयान-2 के लिए ही नहीं बल्कि वैज्ञानिकों के लिए भी अग्नि इम्तिहान होगी।