ट्रंप को हिंदुस्तान ने दिया उसी की भाषा में जवाब जिससे भारत को मिलेगा सीधा फायदा

ट्रंप को हिंदुस्तान ने दिया उसी की भाषा में जवाब जिससे भारत को मिलेगा सीधा फायदा

भारत ने अमेरिका को कठोर जवाब देते हुए बादाम पर कस्टम ड्यूटी हटाने से मना कर दिया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अमेरिका की ओर से बादाम पर कर घटाने की मांग को नरेन्द्र मोदी सरकार ने खारिज कर दिया है। आपकी जानकारी के लिए बताते चलें कि पिछले महीने हिंदुस्तान ने बढ़ाया था जिसमें बादाम भी शामिल है। वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल ने पिछले सप्ताह लोकसभा में बताया कि हिंदुस्तान लगातार द्विपक्षीय व्यापार बातचीत के तहत इस मामले पर अमेरिका के साथ सम्पर्क में है हालांकि अमेरिका ने इस शुल्क को वापस लेने का हिंदुस्तान का अनुरोध स्वीकार नहीं किया है। इतना ही नहीं अमेरिका ने जनरल सिस्टम ऑफ प्रेफरेंस (GSP) कार्यक्रम के तहत 5 जून से प्रभावी 6.3 बिलियन डॉलर के भारतीय निर्यात को प्रोत्साहन भी वापस ले लिया।


Image result for ट्रंप को हिंदुस्तान ने दिया उसी की भाषा में जवाब जिससे भारत को मिलेगा सीधा फायदा
ट्रंप को हिंदुस्तान ने दिया उसी की भाषा में जवाब! अमेरिकी ने पिछले वर्ष मार्च में स्टील व एल्यूमीनियम प्रोडेक्ट के आयात पर क्रमश: 25 फीसदी व 10 प्रतिशत का वैश्विक अलावाशुल्क लगाया था। इसके जवाब में हिंदुस्तान ने अमेरिका से आने वाली 28 चीजों पर टैरिफ बढ़ा दिया था जो 16 जून से प्रभावी हो गया है।

-भारत को मिलेगा सीधा फायदा- अंग्रेजी के बिजनेस अखबार इकोनॉमिक टाइम्स में छपी समाचार में बताया गया है कि भारतीय सामानों पर बढ़े टैरिफ के बदले के रूप में अमेरिकी सामानों पर बढ़ाए गए कस्टम ड्यूटी शुल्क से हिंदुस्तान के राजस्व में करीब 1,519 करोड़ रुपये की बढ़ोतरी होगी।

इसमें से अकेले बादाम पर लगाए गए 17 प्रतिशत अलावा शुल्क से 98.7 मिलियन डॉलर (691 करोड़ रुपये) की बढ़ोतरी होगी। हिंदुस्तान ने 2019 वित्त साल में अमेरिका से 625 मिलियन डॉलर(4,375 करोड़ रुपये) के बादाम आयात किए थे।