रोमांटिक-कॉमेडी फिल्म 'ड्रीम गर्ल के लिए हां कहने के पीछे था उनका अपना स्वार्थ

रोमांटिक-कॉमेडी फिल्म 'ड्रीम गर्ल के लिए हां कहने के पीछे था उनका अपना स्वार्थ

अभिनेता आयुष्मान खुराना (Ayushmann khurrana) का बोलना है कि रोमांटिक-कॉमेडी फिल्म 'ड्रीम गर्ल' (Dream Girl) के लिए हां कहने के पीछे उनका अपना स्वार्थ है. उन्होंने कहा, 'मैं बेहतरीन व्यावसायिक सिनेमा करना चाहता हूं, जो मुझे ज्यादा से ज्यादा दर्शकों के साथ जोड़ सके. मुझे यह एहसास हुआ कि इस तरह की मसाला फिल्में करने से मैं वास्तव में अपनी उन फिल्मों को दर्शकों की पहुंच तक ले जा सकता हूं, जिनके जरिए मैं अक्सर सामाजिक मुद्दों को उजागर करता हूं.' एक्टर ने आगे कहा, 'अगर वे मुझे इस तरह के व्यावसायिक बॉलीवुड सिनेमा में पसंद करते हैं, तो वे शायद एक ऐसी परियोजना को देखने के लिए वापस आएंगे, जो लोगों के देखने व विचार करने के लिए बेहद प्रासंगिक व जरूरी हो. तो हां, 'ड्रीम गर्ल' के लिए हां करने में मेरा अपना स्वार्थ है, क्योंकि ऐसा करके मैं अपनी सामाजिक मुद्दों पर बनी फिल्मों के लिए बहुत दर्शकों को आकर्षित कर सकता हूं.'

साथ ही उनका बोलना है कि वे बॉक्स ऑफिस सक्सेस को अवॉर्ड्स से जरूरी मानते हैं. बता दें कि हाल ही में फिल्म 'अंधाधुन' के लिए उन्हें राष्ट्रीय पुरस्कार मिला है. नेशनल अवॉर्ड के बारे में उन्होंने कहा,'नेशनल अवॉर्ड की वजह से जो प्रेशर है मुझ पर, इसे मैं हैपी प्रेशर कहूंगा. किसी भी फिल्म में कार्य करने से पहले हम यह नहीं कि हमको नेशनल अवॉर्ड मिलेगा, लेकिन मिलता है तो खुश होते हैं, इनकरेज होते हैं, फिल्मों के चुनाव करने के तरीका को ठीक समझते हैं.

राष्ट्रीय सम्मान की घोषणा के बाद मेरा फिल्म चुनने का उपाय वैलिड हो गया है, अब मैं इसी सोच के साथ ही आगे भी फिल्म करता रहूंगा.' साथ ही उन्होंने कहा, 'मैं अवॉर्ड्स से ज्यादा फिल्म की कमर्शल सफलता को महत्त्व देता हूं, दर्शकों का प्यार अगर फिल्म को मिलता है तो ज्यादा खुशी होती. हम एक्टर्स बच्चों की तरह होते हैं.' 'ड्रीम गर्ल' इस शुक्रवार को रिलीज होगी.