गिली ने इस मामले पर एक वेबसाइट को अपनी राय देते हुए कहा ये बात

गिली ने इस मामले पर एक वेबसाइट को अपनी राय देते हुए कहा ये बात

हाल ही में ने भारतीय प्रीमियर लीग (IPL) को लेकर कुछ नियमों की समीक्षा की है। इनमें नो बॉल का नियम सबसे ज्यादा चर्चा में हैं। अब नए नियम के अऩुसार हर गेंद पर नो बॉल का निर्णय एक अलग टीवी एंपायर करेगा। इस नियम के आने के बाद इस बात पर बहस प्रारम्भ हो गई है कि क्या इससे मैच का समय बेकार होगा कि नहीं। इस पर ऑस्ट्रेलिया के पूर्व विकेटकीपर एडम गिलक्रिस्ट (Adam Gilchrist) का बोलना है कि इस नए नियम से कोई कठिनाई नहीं होगा। Image result for एडम गिलक्रिस्ट ने कहा,

इसमें नहीं लगेगा ज्यादा समय
गिली ने इस मामले पर एक वेबसाइट को अपनी राय देते हुए कहा, "नहीं, मुझे नहीं लगता है कि यह मैच को धीमा करेगा। क्योंकि वह यह फौरन कर सकते हैं। मैं जानता हूं, मैं प्रसारण से जुड़ा हुआ हूं, आप पांच सेकंड में रीप्ले हासिल कर सकते हैं। "

पिछले सीजन में आई थीं नोबॉल की शिकायतें
बताते चलें कि वर्ष 2019 के आईपीएल में कई मैचों में फ्रंट फुट नोबाल को लेकर शिकायतें आई थीं। ऐसे गलत फैसलों से कुछ मैचों के नतीजों पर भी प्रभाव पड़ा था। खास तौर पर बेंगलुरू व मुंबई के बीच हुए मैच में यह गलत फैसला टकराव की वजह बन गया था।

मुश्किल होता है फील्ड अंपायरों के लिए निर्णय लेना
गिलक्रिस्ट ने फील्ड अंपायरों को बचाव करते हुए कहा, "फील्ड अंपायर्स के लिए नो बॉल का निर्णय करना बहुत ज्यादा कठिन होता है। पहले वे नीचे देखते हैं, फिर उन्हें फौरन ऊपर देखना होता है। बेशक पिछले सीजन में वह नो बॉल थी। (मुंबई बेगंलुरू मैच में)।

लंबा खिंच सकता है अगला सीजन
आमतौर पर आईपीएल 45 दिनों में समाप्त होता है। जिसमें ज्यादातर एक दिन में दो मैच होते हैं। एक मैच चार बचे प्रारम्भ होता है, जबकि दूसरा मैच रात को 8 बजे प्रारम्भ होता है। बीसीसीआई के सूत्रों ने बताया, "हम शाम को व ज्यादा मैच कराना चाहते हैं। व दिन के मैचों को कम करना चाहते हैं इसके वजह से आईपीएल लंबे समय तक खेला जा सकता है।