15 वर्ष पुराने वाहनों के लिए कबाड़ नीति का कर सकती है ऐसा एलान

15 वर्ष पुराने वाहनों के लिए कबाड़ नीति का कर सकती है ऐसा  एलान

केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी का बोलना है कि सरकार जल्द ही 15 वर्ष पुराने वाहनों के लिए कबाड़ नीति का एलान कर सकती है. गडकरी के मुताबिक नीति पर कार्य चल रहा है व इसे वित्त मंत्रालय की मंजूरी मिलनी बाकी है. साथ ही राज्यों के साथ भी कुछ मुद्दों पर सहमति बननी बाकी है.

वित्त मंत्रालय के पास GST में कटौती का प्रस्ताव

होंडा मोटरसाइकिल एंड स्कूटर्स इंडिया की बीएस-6 उत्सर्जन मानक वाली नयी Activa 125 के लॉन्चिंग के मौके पर बोलते हुए गडकरी ने बोला कि वाहनों पर GST दरों में कटौती का प्रस्ताव पहले ही वित्त मंत्री के सामने रखा जा चुका है. GST काउंसिल में शामिल सदस्यों राज्यों को भरोसे में लेकर ही इस पर निर्णय किया जाएगा.

मारुति-टोयोटा ने मिलाया हाथ

वहीं सरकार की पुराने वाहनों को कबाड़ करने नीति को देखते हुए कार कंपनियां भी अपनी कमर कस रही हैं. मारुति सुजुकी ने पुराने वाहनों को कबाड़ करने के लिए टोयोटा के साथ मिल कर प्लांट लगाने की योजना बनाई है. मारुति ने इसके लिए टोयाटा की सब्सिडियरी कंपनी तूशो से करार किया है. यह कंपनी वाहनों को तोड़ने का कार्य करेगी व उनके पार्ट्स को कबाड़ में बेचेगी.

महिंद्रा ने किया MMTC से करार

इससे पहले महिंद्रा एंड महिंद्रा अपनी सब्सिडियरी कंपनी महिंद्रा असेलो के जरिये वाहनों को कबाड़ करने के लिए स्क्रैप प्लांट लगाएगी व इसके लिए पब्लिक सेक्टर की कंपनी एमएसटीसी के साथ गठजोड़ किया है. यह रीसाइकिल प्लांट ग्रेटर नोएडा में लगाया जाएगा. टोयोटा तूशो पहले ही हिंदुस्तान में एक्टिव है व ऑटो पार्ट्स के साथ कंपोनेंट्स के आयात-निर्यात का कार्य करती है.