अमेरिका ने चाइना के विरूद्ध उठाया ये बड़ा कठोर कदम

अमेरिका ने चाइना के विरूद्ध उठाया ये बड़ा कठोर कदम

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सत्ता संभालने के बाद से चाइना के विरूद्ध कठोर तेवर अपना रखे हैं. उन्होंने चाइना पर कई वाणिज्यिक प्रतिबंध लगाए. अब अमेरिका ने चाइना के विरूद्ध बड़ा कठोर कदम उठाया है. अमेरिका ने कल यानि मंगलवार को बोला कि वह लेकर चीनी अधिकारियों के वीजा पर रोक लगाएगा. अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने अल्पसंख्यक मुसलमानों पर अत्याचार रोकने की अपील करते हुए एक बयान में कहा, ‘अमेरिका चाइना से अपील करता है कि वह शिंजियांग में दमन के अपने अभियान को तत्काल बंद करे.’ अमेरिका ने चाइना पर शिनजियांग के पश्चिमी क्षेत्र में उइगर मुस्लिमों के हाइटेक सर्विलांस व सख्त नियंत्रण का आरोप लगाया है.

Image result for अमेरिका ने चाइना \

पोम्पियो ने कहा, 'चीन सरकार ने शिनजियांग में उइगर, कजाख व किर्ग अल्पसंख्यक मुस्लिमों पर कड़े नियंत्रण की कोशिशें की हैं.' अमेरिकी विदेश मंत्री ने कहा, 'चीन ने बड़े पैमाने पर अल्पसंख्यक मुस्लिमों को डिटेंशन कैंप में रखा है. उनकी सांस्कृतिक व धार्मिक पहचान पर कड़ा नियंत्रण रखा जा रहा है. विदेश से लौटने वाले लोगों पर भी तरह-तरह के प्रतिबंध लगाए जा रहे हैं व कड़ी निगरानी की जा रही है.'

इससे पहले अमेरिका ने चाइना के 28 संगठनों को संयुक्त प्रदेश अमेरिका की ब्लैकलिस्ट में शामिल किया था. इसके पीछे मानवाधिकारों के हनन में उनकी किरदार को वजह बताया गया था. ट्रेड वार के बीच अमेरिका के ये निर्णय दोनों राष्ट्रों के संबंधों में व कड़वाहट घोल सकते हैं. बता दें किउइगर मुस्लिमों के दमन के कारण चाइना की दुनियाभर में आलोचना होती रही है.