मध्य प्रदेश : कलेक्ट्रेट में लगे हुए 47 कंप्यूटर में से 19 कंप्यूटर में चलाए जाते है अश्लील क्लिपिंग, SDM की छानबीन में हुआ खुलासा

मध्य प्रदेश : कलेक्ट्रेट में लगे हुए 47 कंप्यूटर में से 19 कंप्यूटर में चलाए जाते है अश्लील क्लिपिंग, SDM की छानबीन में हुआ खुलासा

मध्य प्रदेश के में पोर्न साइट व अन्य साइट देखने के मुद्दे में एडीएम ने अपनी विस्तृत रिपोर्ट कलेक्टर को सौंपी है। इस रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि कलेक्ट्रेट में लगे हुए 47 कंप्यूटर में से 19 कंप्यूटर में अश्लील क्लिपिंग चलाए जाने के सबूत मिले हैं। इसके साथ ही 10 कंप्यूटर में हरियाणवी डांसर देखे गए हैं। जिसके बाद सभी 19 कर्मचारियों को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिए गए हैं।

Related image

इसके साथ ही कलेक्टर ने एडवाइजरी भी जारी कर दी है जिसमें सभी को कठोर हिदायत दी गई है कि कोई भी आदमी ऑफिस उपयोग के अतिरिक्त कोई भी साइट अपने कंप्यूटर पर नहीं खोलेगा। यदि चेतावनी के बाद भी ऐसा पाया गया तो उसके विरूद्ध विभागीय कार्रवाई की जाएगी। बता दें यह कार्य लोकसेवा प्रबंधक व एनआईसी अधिकारियों की मौजूदगी में किया गया है।

जांचकर्ता ऑफिसर संदीप केरकेट्टा की मानें तो जो संविदा कर्मचारी हैं उनकी बर्खास्तगी की जाएगी व जो कर्मचारी नियमित हैं, उनको सस्पेंड किया जाएगा व उनके विरूद्ध विभागीय कार्रवाई की जाएगी। बताते चलें कि 5 दिन पहले कलेक्टर ने टीएल मीटिंग के दौरान कामों की पेंडेंसी का मामला उठाया था, जिसके बाद शिकायत मिलने पर एक जाँच कमेटी बनाकर कलेक्ट्रेट में लगे हुए कुछ कंप्यूटर्स को ip-address के माध्यम से चेक कराया तो उसमें पता चला था कि 6 कंप्यूटर में अश्लील सामग्री देखी गई है।

मामला सामने आने के बाद उस टीम को विस्तृत रिपोर्ट पेश करने के आदेश दिए थे। एडीएम संदीप केरकेट्टा ने ग्वालियर कलेक्टर में लगे सभी 47 कंप्यूटरों को बारीकी से जांचा तो उसमें पाया कि 19 कंप्यूटर में पोर्न वीडियो देखा गया, वहीं दस में हरियाणवी डांसर को देखा गया इसके अतिरिक्त कुछ कंप्यूटर ऐसे भी थे जिनमें अन्य साइट का भी अवलोकन किया गया है। ऐसे में सवाल यह उठते हैं कि सरकारी दफ्तर में जनता की सेवा के लिए बैठे ऑफिसर व कर्मचारी जब कार्य के समय में ब्लू फिल्म देखते हैं तो इसका क्या प्रभाव होगा।