दुनियाभर में प्रतिष्ठित इस उद्घाटन सत्र में पीएम नरेंद्र मोदी होंगे शामिल, जाने महत्व

दुनियाभर में प्रतिष्ठित इस उद्घाटन सत्र में पीएम नरेंद्र मोदी होंगे शामिल, जाने महत्व

दुनियाभर में प्रतिष्ठित कूटनीतिक संवाद प्रोग्राम रायसीना डायलॉग का शुरुआत आज होगा. इसके उद्घाटन सत्र में पीएम नरेंद्र मोदी शामिल होंगे. इस सत्र में संसार की मौजूदा चुनौतियों पर सात पूर्व देश प्रमुख विचार साझा करेंगे.


विदेश मंत्रालय ने बताया कि प्रतिष्ठित रायसीना डायलॉग के पांचवे संस्करण का आयोजन विदेश मंत्रालय व ऑर्ब्जवर रिसर्च फाउंडेशन ने संयुक्त रूप से किया है व इसमें करीब 100 राष्ट्रों के 700 अंतर्राष्ट्रीय प्रतिनिधि शामिल होंगे. यह अपनी तरह के सबसे बड़े समागमों में एक है.

इस दौरान भू- सियासी व आर्थिक मुद्दों पर वैश्विक मंथन होगा. तीन दिन चले वाले इस अयोजन में रूस, ईरान, डेनमार्क, हंगरी, मालदीव, दक्षिण अफ्रीका, इस्टोनिया व यूरोपीय यूनियन सहित 12 राष्ट्रों के विदेश मंत्री शामिल होंगे.

ईरानी कुद्स फोर्स के कमांडर कासिम सुलेमानी के मारे जाने के बाद ईरान के विदेश मंत्री जावेद जरीफ के सम्मेलन में शामिल होने को जरूरी माना जा रहा है.

विदेश मंत्रालय की ओर से जारी विज्ञप्ति के मुताबिक शंघाई योगदान संगठन के महासचिव व राष्ट्रसंघ के महासचिव भी शामिल होंगे. विदेश मंत्रालय ने बताया कि अफगानिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार, अमेरिका के उप राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार व जर्मनी सहित कई राष्ट्रों के राज्यमंत्री भी सम्मेलन में अपने विचारों को रखेंगे.

सम्मेलन के विभिन्न सत्रों में संसार के 30 थिंक टैंक भी अपने विचार रखेंगे. पीएम मोदी व सात देश प्रमुख एवं शासनाध्यक्ष उद्घाटन सत्र में शामिल होंगे व इस दौरान संसार के समक्ष वैश्वीकरण से जुड़ी चुनौतियों, 2030 का एजेंडा, आधुनिक संसार में प्रौद्योगिकी की भूमिका, जलवायु बदलाव व आतंकवाद का मुकाबला जैसे मुद्दों पर अपनी राय रखेंगे