214 दिनों में सबसे कम सक्रिय मामले, 24 घंटे में 15 हजार से ज्यादा नए केस दर्ज

214 दिनों में सबसे कम सक्रिय मामले, 24 घंटे में 15 हजार से ज्यादा नए केस दर्ज

देश में हर दिन नए मामलों की तुलना में ज्यादा रिकवरी दर्ज की जा रही हैं। बीते 24 घंटे में संक्रमण के 15 हजार से ज्यादा नए मामले दर्ज किए गए हैं और इस दौरान 22 हजार से ज्यादा लोग संक्रमण से ठीक हुए हैं। इसके साथ ही सक्रिय मामले घटकर 2,07,653 हो गए हैं, जो 214 दिनों में सबसे कम है। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, देश में रिकवरी दर 98.06 प्रतिशत दर्ज की गई है। 24 घंटे के दौरान सक्रिय कोविड केसलोएड में 7,247 मामलों की कमी दर्ज की गई है। दैनिक सकारात्मकता दर 1.19 फीसद दर्ज की गई है। पिछले 44 दिनों से यह तीन फीसद से भी कम है। साप्ताहिक सकारात्मकता दर 1.46 फीसद दर्ज की गई थी। मंत्रालय के मुताबिक पिछले 110 दिनों से यह तीन फीसदी से नीचे है।

वहीं, एक दिन पहले 14 हजार के ऊपर नए मामले सामने आए थे जबकि ठीक होने वालों का आंकड़ा 23 हजार से ज्यादा था। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से जारी रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में 15,823 मामले सामने आए हैं और 22,844 रिकवरी दर्ज की गई हैं। वहीं, इस दौरान संक्रमण के कारण 226 लोगों की मृत्यु हो गई है।

ताजा मामलों के बाद देश में कोरोना संक्रमण के मामलों की कुल संख्या 3,40,01,743 तक पहुंच गई है। इसमें से 3,33,42,901 लोग कोरोना से ठीक हो चुके हैं और 4,51,189 लोगों की मृत्यु हुई है। इसके अलावा 2,07,653 कोरोना मरीजों का फिलहाल इलाज चल रहा है, यह आंकड़ा 214 दिनों में सबसे कम है।


एक दिन पहले पूरे 224 दिन यानी साढ़े सात महीने बाद देश में कोरोना संक्रमण के सबसे कम 14,313 नए मामले मिले थे। इनमें केरल में करीब सात हजार और महाराष्ट्र में करीब दो हजार मामले शामिल हैं। पिछले दिनों की तुलना में दोनों राज्यों में नए मामलों में भारी गिरावट आई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से मंगलवार सुबह आठ बजे अपडेट किए गए आंकड़ों के मुताबिक पिछले एक दिन में 181 लोगों की मौत हुई थी।


भारत रक्षा निर्यात में वैश्विक लीडर बने इसके लिए रक्षा मंत्रालय प्रयासरत: राजनाथ सिंह

भारत रक्षा निर्यात में वैश्विक लीडर बने इसके लिए रक्षा मंत्रालय प्रयासरत: राजनाथ सिंह

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि रक्षा उत्पादों के निर्यात को बढ़ावा दिया जा रहा है। रक्षा मंत्री ने बेंगलुरु में कहा कहा कि रक्षा उत्पादों के निर्यात को बढ़ावा देने और भारत को वैश्विक रक्षा आपूर्ति चेन का हिस्सा बनाने के उद्देश्य से हमने 2024-25 तक एयरोस्पेस, रक्षा सामान और सेवाओं में 35,000 करोड़ रुपये के निर्यात का लक्ष्य निर्धारित किया है।

उन्होंने आगे एक रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि भारत पहली बार दुनिया के शीर्ष 25 रक्षा निर्यातक देश की सूची में शामिल हुआ है। रक्षा मंत्री ने कहा, 'स्टाकहोम अंतर्राष्ट्रीय शांति अनुसंधान संस्थान की 2020 की रिपोर्ट के अनुसार, भारत पहली बार दुनिया के शीर्ष 25 रक्षा निर्यातक देश की सूची में शामिल हुआ है। भारत रक्षा निर्यात में वैश्विक लीडर बने इसके लिए रक्षा मंत्रालय लगातार प्रयास कर रहा है।'


हाल ही में राजनाथ सिंह ने नौसेना कमांडर सम्मेलन के तीन दिवसीय दूसरे संस्करण को संबोधित करते हुए कहा था कि भारत हिंद महासागर क्षेत्र को नौवहन की नियम आधारित स्वतंत्रता और मुक्त व्यापार जैसे सार्वभौमिक मूल्यों के साथ देखता है जिसमें सभी प्रतिभागी देशों के हितों की रक्षा हो। राजनाथ सिंह ने कहा कि व्यापार और अन्य आर्थिक गतिविधियों को बढ़ाने के लिए भारतीय समुद्र क्षेत्र में शांति एवं स्थिरता कायम रखने की बेहद जरूरत है।