भारत-चीन तनाव के बीच आज शाम 5 बजे सर्वदलीय बैठक

भारत-चीन तनाव के बीच आज शाम 5 बजे सर्वदलीय बैठक

नई दिल्ली। पूर्वी लद्दाख (Ladakh) में एलएसी (LAC) पर चाइना के साथ तनाव के बीच नरेन्द्र मोदी सरकार (Modi Government) ने सर्वदलीय मीटिंग बुलाई है। ये मीटिंग आज शाम 5 बजे हो सकती है, जिसमें कई सियासी पार्टियों के नेता शामिल होंगे। यह मीटिंग रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) द्वारा चाइना के साथ एलएसी पर जारी दशा को लेकर लोकसभा में दिए गए बयान के बाद हो रही है। इस सर्वदलीय मीटिंग में सरकार की ओर से संसद सत्र के आने वाले दिनों के प्लान की बात भी होगी।

बता दें कि संसद सत्र में मोदी सरकार (Modi Government) की ओर से एलएसी के मामले पर बयान दिया गया है, लेकिन विपक्ष की ओर से इस मसले पर विस्तार से चर्चा की मांग की जा रही है। जिसको लेकर कांग्रेस पार्टी ने लोकसभा में विरोध भी जताया था। इस मीटिंग में कांग्रेस LAC के मसले पर फिर से मंथन की मांग कर सकती है। बता दें कि जब संसद का मानसून सत्र प्रारम्भ हुआ व प्रश्नकाल रद्द किया गया, तब भी कांग्रेस, टीएमसी समेत कई विपक्षी दलों ने सरकार को घेरा व चाइना मसले पर चर्चा से भागने का आरोप लगाया।

रक्षा मंत्री ने लोकसभा में दिया था जवाब
लोकसभा में राजनाथ सिंह ने अपने बयान में बोला था कि एलएसी (LAC) को लेकर दोनों राष्ट्रों के बीच में मतभेद है। सीमा टकराव जटिल मुद्दा है लेकिन इसे सुलझाया जा सकता है। राजनाथ सिंह ने बोला कि हिंदुस्तान व चाइना दोनों ही सीमा पर शांति बनाए रखने के लिए सहमत हुए हैं, यह आगे के द्विपक्षीय संबंधों के लिए महत्वपूर्ण है। राजनाथ सिंह ने बोला कि हिंदुस्तान चाइना सीमा टकराव का कोई हल नहीं निकल सका है। अब तक इसे सुलझाने को लेकर कोई भी संयुक्त सहमति नहीं बन सकी है। चाइना सीमा पर असहमति जता रहा है।
रक्षा मंत्री ने बोला कि चाइना सीमा की सांस्कृतिक व प्रथागत मार्गरेखा की पहचान नहीं करता है हम मानते हैं कि यह मार्गरेखा अच्छी तरह से स्थापित भौगोलिक रियासतों पर आधारित है। राजनाथ सिंह ने कहा, 'भारत के पहले भी चाइना के साथ टकराव होते रहे हैं। ये टकराव लंबे समय तक चले हैं, हालांकि, इस साल की स्थिति, पहले से बहुत अलग है। फिर भी हम मौजूदा स्थिति के शांतिपूर्ण निवारण के लिए प्रतिबद्ध हैं। ' उन्होंने बोला कि इसके साथ-साथ मैं सदन को आश्वस्त करना चाहता हूं कि हम सभी परिस्थितियों से निपटने के लिए तैयार हैं। राजनाथ सिंह ने बोला कि यह समय है जब यह सदन अपने सशस्त्र सेनाओं के साहस व बहादुरी पर पूर्ण विश्वास जताते हुए उनको यह संदेश भेजे कि यह सदन व सारा देश सशस्त्र सेनाओं के साथ है जो हिंदुस्तान की संप्रभुता एवं सम्मान की रक्षा में जुटे हुए हैं।

पूरा विपक्ष सरकार पर हमलावर
कांग्रेस नेता राहुल गांधी की अगुआई में कांग्रेस पार्टी व समूचा विपक्ष नरेन्द्र मोदी सरकार पर हमलावर है। राहुल गांधी हर रोज ट्विटर के जरिए केन्द्र सरकार पर चाइना टकराव पर भ्रमित करने व पीएम नरेंद्र मोदी पर डरने का आरोप लगा रहे हैं। बुधवार को भी राहुल गांधी ने सरकार के भिन्न-भिन्न बयान दिए जाने का दावा किया।