मध्यप्रदेश में सरकार वसूलेगी काउ टैक्स, आंगनबाड़ियों में बच्चों को अंडे की जगह दूध दिया जाएगा

मध्यप्रदेश में सरकार वसूलेगी काउ टैक्स, आंगनबाड़ियों में बच्चों को अंडे की जगह दूध दिया जाएगा

मध्यप्रदेश में गो-कैबिनेट के दिन ही सीएम शिवराज ने लोगों से काउ टैक्स वसूलने का ऐलान कर दिया। आगर के सालरिया में शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश की आंगनबाड़ियों में बच्चों को अंडे की जगह दूध बांटने का ऐलान भी किया।

इससे पहले, एमपी की गो-कैबिनेट की पहली बैठक रविवार को भोपाल स्थित मंत्रालय में हुई। इसमें आगर में गायों को लेकर रिसर्च सेंटर बनाने का फैसला लिया गया। आगर में शिवराज ने गायों की सुरक्षा के लिए गो अधिनियम बनाने की घोषणा भी की।

गोपाष्टमी के मौके पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आगर के गो अभयारण्य में पूजा की।

शिवराज की घोषणाएं

लकड़ी की जगह कंडों से अंतिम संस्कार
शिवराज ने कहा कि अंतिम संस्कार में लकड़ी की जगह कंडे का इस्तेमाल किया जाए। होली पर भी लकड़ी के बजाय कंडों का इस्तेमाल करने की अपील की।

एमपी में बनेगा गो अधिनियम
शिवराज ने एमपी में गो अधिनियम बनाने का ऐलान किया। साथ ही प्रदेश में गोसदन बनाने और आगर के गो अभयारण्य को गो-पर्यटन केंद्र के रूप में विकसित करने की बात भी कही। अभयारण्य में गाय के उत्पादों की बिक्री के इंतजाम भी होंगे।

एमपी में बनेंगी 2000 गोशालाएं
शिवराज ने प्रदेश में 2000 गोशालाएं खोलने का ऐलान किया। वन विभाग की खाली जमीन पर चारा उगाया जाएगा। गोवंश के इलाज के लिए संजीवनी योजना चालू की जाएगी। पंचायत में गोवंश के लिए राज्य वित्त आयोग फंड का इंतजाम करेगा।

ऑफिसों में गो फिनाइल से सफाई
सीएम शिवराज ने सरकारी ऑफिसों में सफाई के लिए गो फिनाइल का इस्तेमाल करने के आदेश दिए। गोपालन के लिए स्व सहायता समूह और संस्थाओं की मदद लेने की बात भी कही।

उज्जैन के शासकीय धन्वंतरि आयुर्वेदिक कॉलेज के बनाए स्टॉल से आरोग्य कषाय काढ़ा पीते हुए मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ।

गो-कैबिनेट की 4 प्रमुख बातें

  • प्रदेश को आत्मनिर्भर बनाने के लिए गोधन का इस्तेमाल किया जाएगा। स्वाबलंबन के लिए गोमाता की अवधारणा को लागू करेंगे।
  • गोशालाओं को आत्मनिर्भर बनाया जाएगा। गायों के गोबर और गोमूत्र का बेहतर उपयोग कैसेे करें, अधिकारी इस पर सुझाव लें और काम शुरू करें।
  • प्रदेश और देश में कई गोशालाएं, संस्थाएं इस दिशा में बेहतर काम कर रही हैं। मुख्यमंत्री ने स्वसहायता समूहों को गोशालाओं का संचालन करने की सहमति दी।
  • प्रदेश में बड़ी संख्या में गोशालाएं बनाई जाएंगी और इसमें समाज का सहयोग लिया जाएगा। सिर्फ पशुपालन विभाग नहीं, बल्कि अन्य विभाग भी इस भूमिका को निभाएं।
गायों को रोटी खिलाते मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान। उन्होंने यह फोटो ट्वीट किया।

CM के लिए अभयारण्य का कायाकल्प, पर गायों की स्थिति खराब
सालरिया में 472 हेक्टेयर में फैले एशिया के सबसे बड़े गौ अभयारण्य का मुख्यमंत्री के पहुंचने से पहले कायाकल्प किया गया। सीएम शेड क्रमांक 8 में गायों की पूजा करेंगे और इसके बाद एक स्थानीय कार्यक्रम को संबोधित किया। शेड क्रमांक 8 में प्रशासन ने तंदुरुस्त गायों को पूजन के लिए रखा गया है। इस शेड से थोड़ी दूर शेड-24 में रखी गई कई गायों की स्थिति खराब है।

राज्य में करीब 1500 गो-शालाएं

प्रदेश में करीब 1500 गो-शालाएं हैं, जिनमें 1.80 लाख गायों को रखा गया है। पिछली कमलनाथ सरकार ने बजट में प्रति गाय 20 रुपए का आवंटन किया था। पिछले वित्तीय वर्ष में पशुपालन विभाग का बजट 132 करोड़ रुपए रखा था, जबकि 2020-21 में तो यह सीधे 11 करोड़ रुपए हो गया यानी लगभग 90% की कटौती कर दी गई।

मीडिया को एंट्री नहीं
पूरे कार्यक्रम के दौरान अभयारण्य में मीडिया को पूरी तरह बैन किया गया था। जहां गायों की मौत हुई, वहां भी उन्हें नहीं ले जाया गया।


इंदौर में अवैध निर्माणों पर चला जिला प्रशासन का बुलडोजर

इंदौर में अवैध निर्माणों पर चला जिला प्रशासन का बुलडोजर

इंदौर।  अपराधियों के मकान और अवैध निर्माणों को जमींदोज करने का अभियान गुरुवार सुबह से एक बार फिर शुरू कर दिया गया। इस अभियान के अंतर्गत गुरुवार सुबह  निगम की टीम ने कुख्यात असलम मोटा समेत 3 गुंडों के चार मकान जमींदोज कर दिए। यह कार्रवाई चंदन नगर के साथ गांधीनगर में की गई। अपराधियों की आर्थिक कमर तोड़ने और उनका रसूख खत्म करने के लिए डीआईजी हरिनारायणचारी मिश्र के द्वारा नगर निगम और प्रशासन के सहयोग से यह अभियान चलाया जा रहा है। पिछले 3 दिनों से कार्रवाई का सिलसिला थमा हुआ था। लेकिन गुरुवार सुबह  निगम ने एक बार फिर इस कार्रवाई की शुरुआत कर दी।

 इस बार  शुरुआत चंदन नगर से की गई। पुलिस के द्वारा दी गई सूची के अनुसार अपराधी असलम उर्फ मोंटा के मकान को जमींदोज करने के लिए सबसे पहले निगम की टीम पहुंची। नगर निगम के मुख्यालय से रिमूवल की टीम के साथ निगम के जोन क्रमांक 16 के अधिकारी भी मौजूद थे। पुलिस चंदननगर को इस कार्रवाई की सूचना पहले से ही दे दी गई थी। जिसके परिणाम स्वरूप पुलिस के द्वारा कार्रवाई के लिए बल तैयार रखा गया था। निगम ने पुलिस बल की मौजूदगी में इस कार्रवाई को अंजाम दिया और चंद मिनटों में ही इस अपराधी का मकान ध्वस्त कर दिया। 

इस कार्रवाई के बाद निगम की टीम ने दूसरी कार्रवाई गांधीनगर के पास सहयोग नगर में की । यह स्थान भी नगर निगम के जोन क्रमांक 16 में ही आता है । इस स्थान पर नगर निगम के द्वारा गुंडा अभियान के तहत संजू काना राठौर निवासी ग़ोरधन पैलेस के मकान का रिमूवल किया गया। यह मकान 1500 वर्ग फीट क्षेत्र में बना हुआ था । इस मकान को तोडऩे की कार्रवाई करने में भी निगम के अधिकारियों को ज्यादा वक्त नहीं लगा। उन्होंने बहुत आसानी के साथ इस मकान को जेसीबी के पंजों के वार से ढेर कर दिया। 

इसके बाद निगम की टीम तीसरी कार्रवाई को अंजाम देने के लिए गांधीनगर में पहुंच गई। वहां गांधीनगर के पास परशुराम मार्ग के पीछे कस्तूरबा नगर नामक एक अवैध कॉलोनी स्थित है। इस अवैध कॉलोनी में निगम की टीम ने पहुंचकर अपनी कार्रवाई को शुरू किया। इस स्थान पर निगम के द्वारा अपराधी राजकुमार खटीक के मकान को तोडऩे का काम शुरू किया गया। मौके पर पहुंचे निगम के अधिकारियों ने बताया कि इस कॉलोनी में खटीक के दो मकान है। दोनों मकान 15 बाय 40 के प्लाट पर बनाए गए हैं।  यह दोनों की मकान पक्के बने हुए थे निगम के द्वारा मौके पर भेजी गई पोकलेन मशीन ने एक झटके के साथ इन मकानों को तोड़कर ढेर करना शुरू कर दिया।

महिला ने किया विरोध, आत्मदाह का प्रयास गांधीनगर में जब टीम कार्रवाई करने पहुंची तो वहां कार्रवाई को रुकवाने के लिए एक महिला ने आत्मदाह करने की कोशिश की। इस कोशिश को पुलिस ने नाकाम कर दिया और महिला के हाथ से केरोसिन छीन लिया। निगम की टीम गांधीनगर क्षेत्र में गुंडे राजकुमार के दो मकान तोड़ने  के लिए पहुंची थी।  इस टीम के द्वारा जब कार्रवाई को शुरू किया जाना था उसी समय राजकुमार के परिवार की एक महिला सामने आ गई।

 इस महिला ने  कार्रवाई का विरोध किया और उसने जेसीबी के सामने आकर कार्रवाई को रुकवाने की कोशिश की। इसमें असफल रहने पर महिला ने अपने हाथों में केरोसिन ले लिया और वह आकर सामने खड़ी हो गई। उसने निगम के अधिकारियों को चेतावनी दी कि यदि मकान को तोडने की कोशिश की गई तो वह खुद पर केरोसिन डालकर आग लगा लेगी, वह खुद मर जाएगी। यह स्थिति देखकर नगर निगम के अधिकारियों के हाथ पैर फूल गए। ऐसी नाजुक हालत में पुलिस ने तत्काल मोर्चा संभाला। महिला पुलिस कर्मियों की मदद से पुलिस के द्वारा इस महिला के हाथ से केरोसिन छीना गया और उसे अपनी गाड़ी में बिठा लिया गया। इस महिला के द्वारा मचाए जा रहे बवाल को खत्म करने के बाद इस कार्रवाई को अंजाम दिया जा सका।


जेल में बंद लालू यादव की मुश्किलें बढ़ीं       इंदौर में अवैध निर्माणों पर चला जिला प्रशासन का बुलडोजर       इंदौर में दर्दनाक सड़क हादसे में ऑटो चालक की मौत       मध्य प्रदेश के 4 लाख से अधिक अधिकारी कर्मचारियों ने नारेबाजी कर प्रदर्शन किया       दिल्ली में कोरोना से एक दिन में 91 और लोगों की मौत, नये मामले 5,475       दिल्ली चलो मार्च: किसानों पर पुलिस ने की पानी की बौछार       टीम इंडिया ने पूरा किया 14 दिन का पृथकवास       शादी के बंधन में बंधे संगीता फौगाट और पहलवान बजरंग       Chahal ने फोटो शेयर कर Dhanashree के लिए लिखा मैसेज       मोहम्मद शमी के भाई ने ठोका तूफानी अर्धशतक       कपिश शर्मा के शो में सूर्यकुमार यादव बने थे बाजीगर       विंडीज टीम का तीसरा कोविड-19 टेस्ट नेगेटिव       क्रिकेटर युजवेंद्र चहल की मंगेतर धनाश्री वर्मा के डांस वीडियो ने मचाया तहलका       India vs Australia 1st ODI Preview: 8 महीने बाद टीम इंडिया करेगी मैदान पर वापसी       रोहित शर्मा की गैरमौजूदगी में कौन होगा शिखर धवन का पार्टनर       प्रेग्नेंसी के बाद इतनी स्लिम हुई Hardik Pandya की मंगेतर Natasa       मुकाबले से पहले न्यूजीलैंड ने लगाई पाक की क्लास       Omega Seiki ने लॉन्च किए 3 इलेक्ट्रिक व्हीकल       हाई-सिक्यॉरिटी विशेषता से लैस कारों पर भूलकर भी न करें भरोसा       Royal Enfield Classic 350 दो नए कलर में हुई लॉन्च