बिहार में 7200 करोड़ की लागत से बनेगा पहला फोरलेन एक्सप्रेस-वे, चार घंटे में तय होगी पटना की दूरी

बिहार में 7200 करोड़ की लागत से बनेगा पहला फोरलेन एक्सप्रेस-वे, चार घंटे में तय होगी पटना की दूरी

बिहार का पहला फोरलेन ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस-वे औरंगाबाद से पटना होकर दरभंगा तक बनेगा. इसके बनने से राज्य के किसी भी हिस्से से पटना चार घंटे में पहुंचा जा सकेगा. करीब 7200 करोड़ रुपये की लागत से 205 किमी की लंबाई में इस एक्सप्रेस-वे को बनाने के लिए औरंगाबाद से पटना के बीच भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया चल रही है. इसका निर्माण मार्च 2021 तक शुरू होने और करीब 30 महीने में पूरा होने की संभावना है.

80 फीसदी नयी सड़क होगी

उत्तर और दक्षिण बिहार को जोड़ने वाली इस सड़क से पटना का गया और दरभंगा एयरपोर्ट से सीधा संपर्क हो जायेगा. साथ ही इसका संपर्क जीटी रोड से भी हो जायेगा. सड़क बनाने की जिम्मेदारी एनएचएआइ को दी गयी है. सूत्रों के मुताबिक भारतमाला योजना के तहत बनने वाली इस सड़क में 80 फीसदी ग्रीनफील्ड रखा गया है. ग्रीन फील्ड का अर्थ है कि इस कॉरिडोर में 80 फीसदी नयी सड़क होगी. बीते दिनों एनएचएआइ की भू-अर्जन समिति की बैठक में इस सड़क को औरंगाबाद से जयनगर तक करीब 271 किमी की लंबाई में बनाने का प्रस्ताव था. समिति ने फिलहाल औरंगाबाद से दरभंगा तक के लिए इस सड़क की मंजूरी दी है. इसके बाद अगले चरण में इसका विस्तार दरभंगा से जयनगर तक किया जायेगा.

इन रास्तों से गुजरेगी सड़क

औरंगाबाद जिले के मदनपुर से शुरू होने वाली यह फोरलेन सड़क गया एयरपोर्ट के बगल से होते हुए जीटी रोड को भी कनेक्टिविटी देगी. गया से यह जहानाबाद और नालंदा के बॉर्डर से गुजरते हुए पटना में कच्ची दरगाह आयेगी और वहां से बिदुपुर के बीच बन रहे सिक्स लेन पुल से चकसिकंदर, महुआ के पूरब होते हुए ताजपुर से कल्याणपुर, समस्तीपुर तक जायेगी. वहां से दरभंगा एयरपोर्ट के समीप इस्ट-वेस्ट कॉरिडोर तक पहुंचेगी.

चल रही है जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया

एनएचएआइ बिहार के क्षेत्रीय पदाधिकारी लेफ्टिनेंट कर्नल चंदन वत्स ने कहा कि यह सड़क बिहार के लिए बहुउपयोगी साबित होगी. फिलहाल औरंगाबाद से पटना के बीच तेजी से जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया चल रही है जो जनवरी तक पूरी होने की संभावना है. इसके बाद पहले चरण में औरंगाबाद से पटना के बीच निर्माण कार्य के लिए टेंडर आमंत्रित किया जायेगा. मार्च 2021 से पहले चरण का निर्माण शुरू होने की संभावना है. इसके बाद पटना से दरभंगा के बीच भी भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया मार्च, 2021 तक पूरा करने का प्रयास किया जा रहा है.


भारत में कोरोना वैक्सीन पर बड़ी खुशखबरी! किया ये बड़ा ऐलान...सुनकर हो जाएंगे खुश

भारत में कोरोना वैक्सीन पर बड़ी खुशखबरी! किया ये बड़ा ऐलान...सुनकर हो जाएंगे खुश

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुनिया की सबसे बड़ी वैक्सीन निर्माता कंपनी सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया का शनिवार दौरा किया। इसके साथ उन्होंने बन रही कोरोना वैक्सीन के बारे में जानकारी हासिल की है। इसके बाद सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया से सीईओ अदार पूनावाला ने शनिवार शाम को प्रेस कांफ्रेस किया। उन्होंने ऐलान करते हुए कहा कि कोरोना वैक्सीन में देरी की संभावना नहीं है।

अदार पूनावाला ने कहा कि कोविशील्ड के ट्रायल के नतीजे बहुत अच्छे आए हैं। पूनावाला ने यह भी जानकारी दी  कि कोविशील्ड के इमर्जेंसी में इस्तेमाल की अनुमति के लिए जल्द ही कंपनी अप्लाई करेगी। इससे साफ हो गया है कि वैक्सीन का निर्माण अडवांस्ड स्टेज में है।

उन्होंने बताया कि हम कोविशील्ड के इमर्जेंसी में इस्तेमाल के लिए इजाजत के लिए अगले 2 हफ्तों में आवेदन करने की तैयारी कर रहे हैं। पूनावाला ने इस बारे में जानकारी देते हुए कहा कि कोविशील्ड के ट्रायल के नतीजे बहुत ही अच्छे रहे हैं।

”पीएम मोदी ने ली वैक्सीन के बारे में जानकारी”
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सीरम इंस्टिट्यूट के दौरे को लेकर सीरम इंस्टिट्यूट के प्रमुख ने कहा कि पीएम मोदी के साथ वैक्सीन को लेकर विस्तार से बातचीत हुई। उन्होंने बताया कि सीरम इंस्टिट्यूट ने पुणे में सबसे बड़ा संयंत्र का निर्माण किया है और मंडरी में नया कैंपस बनाया है। उन्होंने बताया कि पीएम को अब वैक्सीन और वैक्सीन प्रोडक्शन के बारे में बहुत जानकारी है। उन्होंने कहा कि हम हैरान थे कि उन्हें पहले से ही बहुत कुछ पता था। बहुत कम चीजों के बारे में उन्हें विस्तार से जानकारी देनी पड़ी।

पूनावाला ने बताया कि अभी तक उन्हें भारत सरकार ने लिखित में कुछ भी नहीं बताया है कि हमसे कितनी खुराक खरीदी जाएगी, लेकिन ऐसे संकेत है कि जुलाई 2021 तक 30 से 40 करोड़ डोज खरीद सकती है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस के टीके से संबंधित जानकारी के लिए शनिवार को अहमदाबाद, हैदराबाद और पुणे का दौरा किया। प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) की तरफ से बताया गया है कि कि दिन भर के दौरे का उद्देश्य नागरिकों के टीकाकरण में भारत के प्रयासों में आने वाली चुनौतियों, तैयारियों और रोडमैप जैसे पहलुओं की जानकारी हासिल करना था।


अंकिता लोखंडे ने दिया सुशांत सिंह राजपूत को ट्रिब्यूट       सिद्धार्थ शुक्ला की फैन ने की सारी हदें पार कर दिया जन्मदिन पर ऐसा गिफ्ट       क्या निक्की तंबोली करेंगी टोनी कक्कड़ से शादी?       क्या भारती सिंह ने ‘द कपिल शर्मा शो’ को बोला अलविदा? जाने पूरा सच       कपिल शर्मा को यूजर ने किया ट्रोल- पॉलिटिक्स मत कर, कॉमेडी कर चुप-चाप       क्या आलिया भट्ट ने खरीदा ब्वॉयफ्रेंड रणबीर कपूर की बिल्डिंग में 32 करोड़ का घर?       ऋत्विक धनजानी ने शेयर किया रूमर्ड गर्लफ्रेंड मोनिका डोगरा संग वीडियो, फैन्ल बोले- हम केवल...       ओएमजी! Priyanka Chopra के पति और उनके भाईयों पर महिला ने लगाए ये गंभीर आरोप       यूपी के इस जिले में नए कानून के तहत दर्ज हुआ पहला केस       कुशीनगर: मासूम के साथ दरिंदगी, फिर हैवानों ने किया ऐसा       बड़ी सफलता: कोरोना वायरस को सूंघ कर पता लेंगे कुत्ते       अपनी शादी के बाद अब नेहा कक्कड़ अपनी भाभी की तलाश में पहुंची इस जगह       लखनऊ में कोरोना का कहर: 24 घंटे में मिले इतने नए संक्रमित       वाराणसी में गरजेंगे मोदी, रौशन होंगे मुस्लिम इलाके       OH NO! बहू के साथ ससुर रोज करता था ये गंदा काम       गंगा की लहरों पर लेज़र शो, नौका विहार का आनंद लेंगे मोदी       पाकिस्तान में हिंदुओं पर बड़ा हमला, मार-मारकर घर से भगाया       तानाशाह का ऐसा आदेश: कांप उठी पूरी दुनिया       43 लोगों की गला काटकर हत्या, लाशों को देखकर रो रहा पूरा देश       डिफेन्स मिनिस्टर पहुंचे काठमांडू, नेपाल पर चीन की नजरें