यूपी-बिहार-उत्तराखंड सहित इन राज्यों में भारी बारिश की चेतावनी

यूपी-बिहार-उत्तराखंड सहित इन राज्यों में भारी बारिश की चेतावनी

मध्य और उत्तर भारत में कई जगह बारिश का दौर जारी है। जहां मध्य भारत में जबरदस्त बारिश रिकॉर्ड की जा रही है, वहीं उत्तर भारत में भी मध्यम से हल्की वर्षा दर्ज हुई है। मौसम विभाग का उत्तर प्रदेश और बिहार में आज जबरदस्त बारिश का अनुमान भी काफी हद तक सही साबित हुआ है। दोनों राज्यों में सुबह से ही बादल छाए रहने के बाद बारिश हुई। फिलहाल कुछ इलाकों में आकाशीय बिजली गिरने की संभावना जताई गई है।

मौसम विभाग के मुताबिक, मानसून फिलहाल उत्तर भारत में ठहर गया है और यूपी के पश्चिमी हिस्से और गुजरात, राजस्थान में इसके दो-तीन बाद पहुंचने की उम्मीद है। लखनऊ स्थित मौसम केंद्र की रिपोर्ट के मुताबिक पूर्वी उत्तर प्रदेश और आसपास के क्षेत्रों में कम दबाव का क्षेत्र बन रहा है जिससे अगले 24 से 48 घंटों के दौरान राज्य के विभिन्न जिलों में बारिश हो सकती है।

मौसम विभाग ने बताया कि बिहार, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पूर्वी मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और झारखंड में आज यानी शुक्रवार को तेज हवाओं के साथ मध्यम से भारी स्तर की बारिश हो सकती है और कई स्थानों पर आकाशीय बिजली गिर सकती है। एनसीआर में भी आज हर जगह बादल छाए रहने का अनुमान है। मौसम विभाग के अनुसार, गरज के साथ हल्‍की बारिश भी हो सकती है।


इसके अलावा, मानसून को लेकर मौसम विभाग ने अपडेट दिया कि गुजरात और उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्से में अगले दो-तीन दिनों में इसकी धीमी प्रगति होगी और बारिश भी देखने को मिलेगी। फिलहाल, मॉनसून की उत्तरी सीमा दीव, सूरत, नंदरबार, भोपाल, नौगोंग, हमीरपुर, बाराबंकी, बरेली, सहारनपुर, अंबाला और अमृतसर से गुजर रही है।

दिल्ली जल्दी पहुंचेगा मानसून (weather news delhi)


मौसम विभाग ने पहले पूर्वानुमान जताया था कि मानसून 12 दिन पहले ही 15 जून तक दिल्ली पहुंच जाएगा। मानसून सामान्य तौर पर 27 जून तक दिल्ली पहुंचता है और आठ जुलाई तक पूरे देश को कवर कर लेता है। निजी पूर्वानुमान एजेंसी स्काइमेट वेदर के मुताबिक, पिछले वर्ष मानसून 25 जून को दिल्ली पहुंचा था और 29 जून तक इसने पूरे देश को कवर कर लिया था।

बिहार में मानसून का असर, इन जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी (Monsoon Update news Bihar)

मौसम विभाग ने पूर्वानुमान जारी करते हुए कहा है कि 21 जून तक उत्तर-पश्चिम बिहार के जिलों के लिए सामान्य से अधिक बारिश होगी। यहां के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। पश्चिम चंपारण, सीवान, सारण, पूर्वी चंपारण और गोपालगंज जैसे जिलों में भारी बारिश होने की संभावना है।

यूपी के इन जिलों में बहुत भारी बारिश की संभावना (Monsoon Update UP)

उधर, उत्तर प्रदेश में अगले 24 घंटों के दौरान प्रदेश के महराजगंज, सिद्धार्थ नगर, गोंडा, बलरामपुर, श्रावस्ती, बहराइच, लखीमपुर खीरी तथा आसपास के इलाकों में बहुत भारी वर्षा होने का अनुमान है। इसके अलावा सोनभद्र, मिर्जापुर, वाराणसी, संत रविदास नगर, आजमगढ़, मऊ, बलिया, देवरिया, गोरखपुर, संत कबीर नगर, बस्ती, कुशीनगर, बाराबंकी, सुल्तानपुर, अयोध्या तथा अंबेडकर नगर और आसपास के क्षेत्रों में भारी वर्षा होने की संभावना जताई गई है। मौसम विभाग ने इस पूरे हफ्ते राज्य के ज्यादातर इलाकों में बारिश होने की संभावना जताई थी लेकिन सोमवार के बाद से बारिश कमजोर पड़ गई।


उत्तराखंड में भारी बारिश के आसार, इन जिलों में रेड अलर्ट (Heavy rainfall arert in Uttarakhand)

उत्तराखंड में मानसून की दस्तक आम लोगों के लिए खतरनाक हो सकती है। दरअसल, पिथौरागढ़, नैनीताल और चंपावत जैसे पहाड़ी जिलों में शुक्रवार को बहुत भारी बारिश की संभावना जताई गई है। उधर चमोली, बागेश्वर, अल्मोड़ा व ऊधमसिंह नगर में भारी बारिश के आसार हैं। इसके मद्देनजर मौसम विभाग ने इन जिलों में रेड अलर्ट जारी किया है।


हरियाणा में 2-3 दिन के अंदर पहुंच सकता है मानसून (Monsoon Update Haryana)

हरियाणा के अधिकतर शहरों में सुहावना मौसम जारी है। हालांकि, जल्द बारिश होने की संभावना अभी कम है। मौसम विभाग ने दो से तीन दिन बाद बारिश का अनुमान लगाया है। मौसम विभाग के अनुसार बंगाल की खाड़ी पर बने एंट्री साइक्लोन के कारण मानसून कमजोर पड़ा है। जिससे पानीपत समेत प्रदेश के अन्य जिलों में मानसून पहुंचने में देरी हो रही है। वहीं, पूर्वी हवाओं के साथ आ रही नमी ने फिर से उमस पैदा कर दी है।


देश में एक बार फिर कोरोना के मामलों में हुई बढ़ोतरी

देश में एक बार फिर कोरोना के मामलों में हुई बढ़ोतरी

देश में कोरोना (Coronavirus) के मामले एक बार फिर से बढ़ना शुरू हो रहे है. जिसके बाद चिकित्सा विभाग अलर्ट मोड पर आ गए है. बात करें मामलों की तो केरल में तेजी से कोरोना (Kerala Mein Corona Case) के मामले बढ़ रहे है. देशभर में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 43,654 नए मामले सामने आए (Aaj India Mein Corona Ke Kitne Naye Mamle Aae) है. वहीं, 640 लोगों की मौत भी हुई है. वहीं, कोरोना के कुल नए मामलों में आधे से ज्यादा मरीज अकेले केरल से हैं. केरल में मंगलवार को कोरोना के 22,129 नए मामले सामने आए हैं, जो कि 29 मई के बाद एक दिन में मिले संक्रमितों की सबसे बड़ी संख्या है. बढ़ते मामलों के बीच केरल इस समय सबसे अधिक चिंता का विषय बना हुआ है. देश के कुल मामलों का लगभग 50 परसेंट केरल से ही है. राज्य में पिछले 24 घंटे में 22129 केस दर्ज किए गए हैं. केरल में डेली मामलों का औसत करीब 16700 केस बना हुआ है. केरल के अलावा पूर्वोत्तर के राज्यों में भी कोरोना के मामलों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है. इन जगहों पर आए हैं मामले सबसे ज्यादा 4,037 मामले मलाप्पुरम से सामने आए हैं. इसके बाद त्रिशूर में 2,623, कोझिकोड से 2,397 और एर्नाकुलम से 2,352 और पलक्कड़ से 2,115 मामले मिले. इसके अलावा कोल्लम से 1,914 और कोट्टायम से 1,136, तिरुवनंतपुरम से 1,100, कन्नूर से 1,072 और अलप्पुझा से 1,064 मामले सामने आए. अलर्ट मोड पर केरल प्रशासन केरल प्रशासन बढ़ते मामलों को देखते हुए अलर्ट मोड पर आ गई है. विभाग ने अस्पतालों में व्यवस्था पूरी कर ली है. जिससे कोरोना की दूसरी लहर की तरह मामला न बिगड़े और समय रहते लोगों को इलाज मिल जाए. इन पांच राज्यों से कोरोना से सबसे अधिक नए मामले देश में जिन पांच राज्यों से कोरोना के सबसे अधिक नए मामले सामने आए हैं, उसमें केरल सबसे ऊपर है. इसके बाद हमेशा की तरह महाराष्ट्र से 6258 नए केस पिछले 24 घंटे में सामने आए. वहीं, तमिलनाडु से 1767 केस और आंध्र प्रदेश से 1540 नए मामले सामने आए. कर्नाटक से भी 1501 नए केस सामने आए हैं. कोरोना वैक्सीन की 44.61 करोड़ डोज देश में अभी तक कोविड-19 रोधी टीके की 44 करोड़ 61 लाख 56 हजार 659 डोज दी जा चुकी है. पांच राज्यों - गुजरात, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, राजस्थान और उत्तर प्रदेश में 18-44 आयु वर्ग में एक करोड़ से अधिक लोगों को कोविड-19 रोधी टीके की खुराक दी गई है. वहीं, आंध्र प्रदेश, असम, छत्तीसगढ़, दिल्ली, हरियाणा, झारखंड, केरल, तेलंगाना, हिमाचल प्रदेश, ओडिशा, पंजाब, उत्तराखंड और पश्चिम बंगाल में 18-44 आयु वर्ग में 10 लाख से अधिक लोगों को टीके की पहली खुराक दी गई है.