नक्सलियों का जवानों पर बड़ा हमला, असिस्टेंट कमांडेंट शहीद

नक्सलियों का जवानों पर बड़ा हमला, असिस्टेंट कमांडेंट शहीद

रायपुर: छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में नक्सलियों ने सुरक्षाबलों को निशाना बनाया है। नक्सलियों ने कोबरा 206 बटालियन के जवानों पर आईईडी से हमला किया है। इस हमले में असिस्टेंट कमांडेंट नितिन शहीद हो गए हैं, तो वहीं 9 सीआरपीएफ (केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल) जवान जख्मी बताए जा रहे हैं।

मिली जानकारी के मुताबिक, सभी जवान रात दस बजे के करीब ऑपरेशन से वापस आ रहे थे, तभी ताड़मेटला क्षेत्र के बुर्कापाल से छह किलोमीटर दूर एक स्थान पर नक्सलियों ने जवानों पर हमला बोल दिया।

कोबरा 206 बटालियन के हैं सभी जवान
हमले में घायल सभी जवान कोबरा 206 बटालियन के हैं। सुकमा एसपी केएल ध्रुव ने इस हमले की जानकारी दी है। उन्होंने बताया कि सभी घायल जवानों को हेलीकॉप्टर से रायपुर ले जाया गया है, तो वहीं असिस्टेंट कमांडेंट नितिन की रास्ते में ही मौत हो गई।

तो वहीं बस्तर आईजी सुंदरराज पी ने इस घटना के बारे में कहा कि इस मामले में ज्यादा जानकारी जंगल से जवानों के लौटने के बाद ही मिल सकती है। जवान ब्लास्ट में घायल हुए हैं या स्पाइक होल से इसकी भी जानकारी हासिल की जा रही है।

नक्सलियों ने बिछाई थी आईईडी
शनिवार को सुरक्षाबलों की संयुक्त टीम ने ताड़मेटला क्षेत्र में नक्सलियों के खिलाफ सर्च ऑपरेशन पर चला रही थी। इसी दौरान देर रात नक्सलियों द्वारा लगाए गए स्पाइक होल में फंसकर कुछ जवान घायल हो गए हैं, जबकि कुछ जवानों के आईईडी की चपेट में आने की खबर है। बताया जा रहा है कि सभी जवान कोबरा 206 बटालियन के हैं।

घायल जवानों को रेस्क्यू करने की कोशिश की जा रही है। नक्सलियों की मौजूदगी की सूचना पर बुरकापाल, तेमलवाड़ा और चिंतागुफा में ज्वॉइंट ऑपरेशन चलाया गया है। देर शाम ताड़मेटला के जंगल में गश्त करते हुए जवान आगे जा रहे थे कि इस दौरान जवान नक्सलियों द्वारा लगाए गए स्पाइक होल व आईईडी की चपेट में आ गये।

सुरक्षाबल नक्सलियों के सफाए के लिए अभियान चला रहे हैं जिससे नक्सली बौखलाए हुए हैं और आए दिन जवानों को निशाना बनाते हैं।


Co-Win ऐप में खामियां, लोगों को नहीं मिला टीकाकरण का मैसेज

Co-Win ऐप में खामियां, लोगों को नहीं मिला टीकाकरण का मैसेज

नई दिल्ली: कोरोना वैक्सीन का बड़ा अभियान शुरू होने के साथ ही सरकार और प्रशासन को कई चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है। देशभर में एक साथ शुरू हुए इतने बड़े वैक्सीनेशन ड्राइव को लेकर समस्या तब आई, जब सरकार के Co-Win एप में खामियां नजर आने लगी। जिसके बाद एक ओर तो महाराष्ट्र में दो दिन के लिए वैक्सीनेशन को रोक दिया गया तो वहीं दिल्ली में करीब 35 फीसदी लोगों को वैक्सीनेशन का मैसेज ही नहीं पहुंचा।

Co-Win ऐप काफी खामियां
दरअसल, भारत में कोरोना वैक्सीनेशन शुरू हुए तीन दिन हो गए हैं। अब तक लाखों लोगों को टीका लग चुका है। लेकिन इस अभियान में कई समस्याएं भी दिखना शुरू हुई हैं। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में सरकार द्वारा बनाई गई Co-Win ऐप को लेकर काफी खामियां मिली हैं।

35% लोगों को वैक्सीनेशन का नहीं मिला मैसेज
जानकारी के मुताबिक, दिल्ली में कई लोगों को टीकाकरण के वक्त का मैसेज ही नहीं मिला। जानकारी न मिलने से वह वैक्सीनेशन में चूक गए। रिपोर्ट्स के मुताबिक, दिल्ली में वैक्सीनेशन के पहले दिन ही लोगों को Co-Win ऐप में खामियां मिलीं। जिनका टीकाकरण होना था, उन्हें वैक्सीनेशन के समय का मैसेज नहीं पहुंचा। इस खामी का पता चलने के बाद अब अस्पतालों की ओर से लोगों को खुद फोन करके टीकाकरण के समय की जानकारी दी जा रही है।

टीकाकरण के टारगेट से चूक गया स्वास्थ्य विभाग
बताया जा रहा है कि वैक्सीनेशन के पहले दिन करीब 35 फीसदी लोग टीकाकरण के लिए नहीं आए, जिसकी वजह उन्हें कोई मैसेज ही नहीं मिलना था। ऐेसे में सरकार वैक्सीनेशन के अपने तय टारगेट से चूक गई। बता दें कि पूरे देश में 3 लाख लोगों का टीकाकरण होना था, लेकिन 1 लाख 65 हजार 714 लोगों के ही वैक्सीनेशन हुए। जिसमें दिल्ली में 81 वैक्सीनेशन सेंटर मे 3403 लोगों को टीका लगा।

अधिकारी फोन करके दे रहे टीकाकरण के समय की जानकारी
बाद में अधिकारियों ने दूसरे दिन रिस्क ना लेते हुए खुद ही लोगों को फोन कर टीकाकरण का समय बताया और पहले दिन की तुलना में अधिक लोगों का वैक्सीनेशन हो सका।

इसके पहले वैक्सीनेशन शुरु होने के अगले दिन महाराष्ट्र में Co-Win ऐप में दिक्कत के मद्देनजर दो दिन के लिए टीकाकरण प्रोग्राम को रोका दिया था।


कम इंजेक्शनों में नवजात शिशु को बीमारियों से कैसे बचाएं?       शैंपू और बॉथरूम में इस्तेमाल होने वाले क्लीन प्रोडक्ट में होते हैं हानिकारक रसायन       इम्यूनिटी बूस्ट करने से लेकर स्किन के रोगों का इलाज करता है नीम       पाना चाहते हैं तेज दिमाग, तो रोज इतनी मात्रा में पिएं ये जूस       कैफीन फ्री कश्मीरी चाय इम्यूनिटी बूस्ट करने के साथ ही वजन भी कंट्रोल करेगी       पल्स ऑक्सीमीटर की ज़रूरत किन लोगों को पड़ती है, जानें       नाश्ते में अगर आप भी रोजाना खाते हैं ब्रेड, तो जान लें कौन सी है ज्यादा बेहतर       कोरोना पॉजिटिव मां से बच्चे को संक्रमण का कितना खतरा हो सकता है, जानिए       एक्सपर्ट से जानें जनरलाइज्ड एंग्ज़ाइटी डिसॉर्डर के बारे में, साथ ही इसके लक्षण       व्रत रखना सेहत के लिए है कितना फायदेमंद और इस दौरान किन बातों का ध्यान रखना है जरूरी       पीएम मोदी की दाढ़ी-बाल का पश्चिम बंगाल से कनेक्शन, इसलिए रखा ऐसा लुक       Co-Win ऐप में खामियां, लोगों को नहीं मिला टीकाकरण का मैसेज       वैक्सीन लगने के बाद एक और शख्स की मौत, जानें       भारत बायोटेक ने दी जानकारी, अगर ये समस्याएं हैं तो ना लगवाएं कोरोना वैक्सीन       CM शिवराज ने दिल्ली में 5 मंत्रियों से की मुलाकात       इस केंद्रशासित प्रदेश में सामने आया कोरोना का पहला केस, जानें       सूरत दर्दनाक हादसा, मृतक के परिवार को 2 लाख रुपये मुआवजा       दोस्ती का बड़ा दावा, रूस-भारत हुए करीब , अमेरिका-चीन को लेकर ये है बड़ा प्लान       बलिदान दिवस: महाराणा प्रताप की शौर्य गाथा, जानिए       बांग्लादेश को ये देश देगा फ्री में वैक्सीन, पाकिस्तान भी देख रहा ये बड़ा सपना