भदोही गोलीकांड, ताबड़तोड़ फायरिंग से दहले लोग

भदोही गोलीकांड, ताबड़तोड़ फायरिंग से दहले लोग

उत्तर प्रदेश के भदोही जनपद मे चौरी थाना क्षेत्र के सरबतखानी गांव में रविवार की सुबह बच्चों के क्रिकेट गेंद को लेकर दो पक्ष आमने-सामने हो गए। मामला इतना तूल पकड़ा कि दोनों ओर से लाठी-डंडे चलने के साथ ही धारदार हथियार चले। इस दौरान एक पक्ष ने गोली चला दी। जिसमें एक युवक गंभीर रूप से घायल हो गए। जबकि लाठी-डंडे से अन्य 4 लोग घायल हो गए।

क्रिकेट के वजह से हुआ विवाद
जानकारी के अनुसार चौरी क्षेत्र के सरबतखानी गांव में बटुक बिंद व लक्ष्मण बिंद के बच्चे घर के सामने क्रिकेट खेल रहे थे।  इतने में लक्ष्मण के परिवार के किसी बच्चे का गेंद बटुक बिंद के शौचालय पर जा लगा और जिसको लेकर विवाद बढ़ गया। मामला इतना तूल पकड़ा कि दोनों ओर से लाठी-डंडे ईट पत्थर भी  चलने लगे। इसीबीच  लक्ष्मण  भी आ गया। तभी आरोपी  बटुक  ने बंदूक से गोली चला दी। जिससे लक्ष्मण बिन्द  गंभीर रूप से घायल हो गया। जबकी अन्य घायलों में रीना देवी 25 वर्ष प्रहलाद 25 वर्ष अनीता 22 वर्ष व संजय 18 वर्ष गंभीर रूप से घायल हो गई।

वही आसपास के लोगों ने गोली से घायल लक्ष्मण बिंद को जिला चिकित्सालय पहुंचाया, जहां पर  चिकित्सकों ने लक्ष्मण को सर व सीने में गोली लगने की वजह से प्रथम उपचार के बाद घायल की बिगड़ती हालत को देखकर अन्यत्र के लिए रेफर कर दिया ।

8 की हुई गिरफ्तारी
इस मामले में क्षेत्राधिकारी औराई का कहना है कि गोली चली है और दोनों पक्ष से विवाद हुआ है। जिसमें 8 लोगों की गिरफ्तारी हुई हैं,  और दोनों पक्षों से लगभग दर्जनों लोगों को पाबंद किया जा रहा है ,और बाकियों के गिरफ्तारी जल्द कर ली जाएगी।  वही  चौरी थाना अध्यक्ष रामदरस राम ने बताया कि मामला दर्ज कर लिया गया है जल्द ही  बाकियों की गिरफ्तारी होगी ।


इज्जत बचाने के लिए डीजीपी की कार से भागीं महिला आईपीएस

इज्जत बचाने के लिए डीजीपी की कार से भागीं महिला आईपीएस

‘कातिल भी तुम्हीं हो मुंसिफ भी तुम्हीं हो, कैंसे यकीन करूँ फैसला मेरे हक़ मैं आएगा।’ यह पंक्ति बड़ी घटनाओं पर एकदम सटीक बैठती है। क्योंकि यहां अधिकतर मामलों में इंसाफ मिलता नहीं बल्कि सामर्थवान इसे छीन लेते हैं। तभी रसूख और पहुंच वालों के खिलाफ शिकायत करने से लोग डरते हैं। अगर कोई गलती से शिकायत करने की हिमाकत कर भी दे तो उसे इतने जांचों में उलझा दिया जाता है कि इंसाफ पाने का उसका सपना बीच में ही दम तोड़ देता है।

ऐसा ही मामला तमिलनाडु से सामने आ रहा है। यहां के स्पेशल डीजीपी पर एक महिला आईपीएस ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है। हालांकि इस आरोप पर तमिलनाडु सरकार ने स्पेशल डीजीपी को उनके पद से हटा दिया है। लेकिन जांच में अभी तक जो बात निकलकर आ रही है, उससे महिला आईपीएस को इंसाफ मिलने की बात दूर—दूर तक नजर नहीं आ रही है।

जाने पूरा मामला 
जानकारी के अनुसार स्पेशल डीजीपी के खिलाफ शिकायत करने वालीं महिला आईपीएस अधिकारी उनके साथ करीब 40 मिनट तक उनकी कार में रहीं और कार रुकते ही निकलकर भागने लगीं। वहीं यह घटना 22 फरवरी की दोपहर की बताई जा रही है। इसके बाद महिला आईपीएस ने डीजीपी जेके त्रिपाठी और गृह मंत्रालय में इस बाबत शिकायत की। फिलहाल शिकायत मिलने के दो दिन बाद तमिलनाडु सरकार ने स्पेशल डीजीपी राजेश दास (कानून व्यवस्था) को उनके पद से हटा दिया है। इतना ही नहीं गृह मंत्रालय ने मामले की जांच के लिए छह सदस्यीय कमिटी का गठन कर दिया है। जबकि इस बारे में मुख्यमंत्री ईडापड्डी पलानीस्वामी का कहना है कि अभी तक की जांच में कुछ भी साबित नहीं हुआ है। आगे की जांच अभी जारी है।

शिकायत को बताया राजनीतिक
वहीं अपने ऊपर लगे आरोप पर स्पेशल डीजीपी राजेश दास का कहना है कि शिकायत पूरी तरह राजनीति से प्रेरित है। उन्होंने कहा कि सबको पता है यह शिकायत झूठी है और राजनीतिक है। साथ ही उन्होंने कहा कि आप लोग जांच के परिणाम आने तक इंतजार कीजिए। सच सामने आ जाएगा। इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि आपको पता होना चाहिए कि अभी आप इस मामले में नहीं लिख सकते। वहीं वरिष्ठ अधिकारी भी इस मामले में खुलकर बोलने से बचते नजर आ रहे हैं।

कार का दरवाजा खुलते ही भागीं महिला आईपीएस
वरिष्ठ अधिकारियों की मानें तो घटनाओं का क्रम त्रिची-चेन्नई राजमार्ग पर बीते रविवार को रात लगभग 10 बजे की है। यहां चुनावी कार्यक्रम के बाद मुख्यमंत्री का काफिला कोंगू क्षेत्र से गुजर रहा था। इस दौरान स्पेशल डीजीपी ‘वीआईपी ड्यूटी’ के बाद चेन्नई वापस लौट रहे थे। रास्ते में ही महिला शिकायतकर्ता का भी क्षेत्र था, जहां से उन्हें वरिष्ठ अधिकारियों को रिसीव करना था। अधिकारियों का कहना है कि सामान्य तौर पर उन्हें सैल्यूट करने के बाद काफिले में शामिल होना होता था। लेकिन स्पेशल डीजीपी ने उन्हें अपने साथ कार के अंदर बैठने को कहा। इस पर वह कार में बैठ गई, करीब 40 मिनट चलने के बाद कार जैसे ही रुकी वह तुरंत कार से निकलकर भागने लगीं। यहां पर आईजीपी (उत्तर क्षेत्र) के शंकर, डीआईजी एम पांडियन और आईपीएस अधिकारी जियाउल हक दास खड़े थे जो उनके काफिले का इंतजार कर रहे थे।


तैयार पंजाबी रोबोट: बड़े-बड़े वैज्ञानिक भी हुए हैरान, हरजीत ने कर दिखाया कमाल       इज्जत बचाने के लिए डीजीपी की कार से भागीं महिला आईपीएस       बंदूक तो सिर्फ़ शौक के लिए रखता हूं... फुल एक्शन अवतार में जॉन अब्राहम       वीर सावरकर की पुण्यतिथि पर भारतरत्न लता मंगेशकर ने दी श्रद्धांजलि       ये एक्टर आज शुरू करेंगे 'गंगूबाई काठियावाड़ी' की शूटिंग       कभी पेंटर बनना चाहते थे प्रकाश झा, इतने साल बाद दीप्ति नवल संग लिया था तलाक       Ranbir Kapoor और आलिया भट्ट की तस्वीर हुई वायरल       Raisin Water Benefits: रोज़ाना पिएंगे किशमिश का पानी फिर देखें इसका कमाल       Immunity Improve Tips: इन कुछ हेल्दी तरीकों से इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाएं       दिल और लिवर को रखना चाहते हैं सुरक्षित, तो डाइट में शामिल करें ये सब्जी       Health Benefits of Bitter Foods: ऐसी कुछ कड़वी सब्जियां जो सेहत का ख़ज़ाना है, जानें       Dieting Side Effects: डाइटिंग का सोच रहे हैं, तो जान लें इसके बारे में       तेजी से वजन बढ़ाना चाहते हैं, तो दिन में करें ये काम       मोटापा, डायबिटीज, दिल की बीमारियों का रिस्क कम करने के लिए करें ये काम       ब्लड शुगर कंट्रोल करने के लिए ऐसे करें इसका सेवन       नेचुरल तरीके से हैप्पी हार्मोन बढ़ाने के लिए फॉलो करें ये घरेलू उपाय       रक्त को भी प्रभावित करता है Covid-19, शरीर में हो सकते हैं ये...       Dasvi के सेट से यामी गौतम ने शेयर किया अपना IPS का लुक       Kiston Song: आज रिलीज होगा जाह्नवी कपूर- राजकुमार राव की फिल्म 'रूही' का दूसरा गाना 'किस्तों'       इस एक्ट्रेस ने बॉलीवुड को लेकर फिर दिया बड़ा बयान