Horseback Riding का आनंद उठाने के लिए इन जगहों पर एक बार जरूर जाएं

Horseback Riding का आनंद उठाने के लिए इन जगहों पर एक बार जरूर जाएं

त्योहारों का सीजन शुरू होने वाला है। इस सीजन में छुट्टी के दिनों में लोगों के पास पर्याप्त समय रहता है। इस दौरान लोग अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ हॉलिडे सेलिब्रेट करने के लिए देश्भर की सैर करते हैं। हालांकि, कोरोना महामारी के दौर में घर से बाहर निकलते समय और यात्रा करते समय Covid-19 के संक्रमण से बचाव के लिए आवश्यक सावधानियां जरूर बरतें। सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन्स का सख्ती से पालन करें और लोगों को भी नियमों का पालन करने की हिदायत दें। अगर आप भी आने वाले दिनों में घूमने की प्लानिंग कर रहे हैं, तो Horseback Riding का आनंद उठाने के लिए इन जगहों पर जरूर जाएं। आइए जानते हैं-

दार्जलिंग

पश्चिम बंगाल में स्थित दार्जलिंग बेहद पॉपुलर हिल स्टेशन है। काफी संख्या में पर्यटक दार्जलिंग घूमने आते हैं। खासकर हॉर्स राइडिंग के लिए पश्चिम बंगाल पूर्व से ही प्रसिद्ध है। दार्जलिंग में जलापहाड़ स्थित है, जिसे पोनी स्टैंड भी कहा जाता है। यहां से दार्जलिंग का प्राकृतिक और मनोरम दृश्य का अवलोकन कर सकते हैं। जलापहाड़ में हॉर्स राइडिंग के लिए उपयुक्त सुविधाएं है। जब कभी दार्जलिंग घूमने के लिए जाएं, तो एक बार हॉर्स राइडिंग के लिए जलापहाड़ जरूर जाएं।


महाबलेश्वर

मुंबई के दक्षिण में महाबलेश्वर स्थित है। यह पश्चिम घाट का प्रसिद्ध हिल स्टेशन है। पर्यटकों के लिए महाबलेश्वर आकर्षण का केंद्र है। खासकर बरसात के दिनों में महाबलेश्वर का प्राकृतिक नजारा देखने लायक रहता है। सूर्यास्त के समय हॉर्स राइडिंग करना सबसे उत्तम माना जाता है। इसके लिए महाबलेश्वर जाएं, तो सूर्यास्त के समय हॉर्स राइडिंग का आनंद उठाएं।


पुष्कर

आमतौर पर पुष्कर कैमल राइडिंग, पुष्कर मेला, ब्रह्मा जी का मंदिर और 52 घाटों के लिए प्रसिद्ध है। साथ ही पुष्कर में हॉर्स राइडिंग की उचित व्यवस्था है। आसान शब्दों में कहें तो पुष्कर हॉर्स राइडिंग के लिए बेहतर गंतव्य है। आप पुष्कर में मारवाड़ी घोड़ों की राइडिंग कर सकते हैं। इतिहास के पन्नों में मारवाड़ी घोड़ों का नाम सुनहरे अक्षरों में लिखा गया है। इतिहासकारों की मानें तो मारवाड़ घोड़े अपनी बहादुरी के लिए दुनियाभर में प्रसिद्ध हैं। जब कभी मौका मिले, एक बार पुष्कर जरूर जाएं।


इन तरीकों से करें मां लक्ष्मी की पूजा और पूरी होगी हर मनोकामना

इन तरीकों से करें मां लक्ष्मी की पूजा और पूरी होगी हर मनोकामना

हमें सालभर दीवाली का बेसब्री से इंतजार किया जाता है और दीवाली की तैयारियों की जिम्मेदारी आमतौर पर महिलाएं ही निभाती हैं। बात चाहे रिश्तेदारों और परिचितों को गिफ्ट देने की हो, या घर के लिए नई खरीदारी करने की और इससे भी अहम लक्ष्मी पूजन की, इन सभी चीजों में महिलाओं की महत्वपूर्ण भूमिका होती है।

मां लक्ष्मी की पूजा को बनाएं सफल

# घर से अवांछित सामान जैसे कि पुराने कपडे़, जूते, डिब्बे आदि हटा दें। यह सामान नकारात्मक ऊर्जा का स्रोत होता है और आर्थिक अवसरों पर प्रतिकूल प्रभाव डालता है। 

# लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए भली प्रकार से पूजन करना भी आवश्यक है। जिस कक्ष में पूजा स्थल बनाएं, वहां ताजा हवा व रोशनी का पर्याप्त प्रबंध होना चाहिए।

# अपने प्रेम व देखरेख से मकान को घर बनाने वाली होती हैं महिलाएं। शास्त्रों में भी वर्णित है कि जिस घर में स्त्री का आदर-मान नहीं होता, वहां दरिद्रता वास करती है।