बालों की सही देखरेख के लिए जान लें हेयर केयर से जुड़े पुराने मिथ्स और उसके पीछे का सच

बालों की सही देखरेख के लिए जान लें हेयर केयर से जुड़े पुराने मिथ्स और उसके पीछे का सच

घने, मजबूत बालों की चाह में हम किसी की भी सलाह मानकर उसे फॉलो करने लगते हैं जो सही नहीं। बालों को लेकर ऐसे कई उपाय हैं जो सालों से चले आ रहे हैं लेकिन ये कितने असरदार हैं इसके बारे में स्योर नहीं? तो आज हम ऐसे ही कुछ मिथक और उनके पीछे की सच्चाई के बारे में जानने वाले हैं।

1. ज्यादा ब्रश करें

बालों को हल्के से ब्रश करने से स्कैल्प के नेचुरल ऑयल्स को अच्छी तरह बालों में डिस्ट्रीब्यूट करने में मदद मिलती है, लेकिन तेज ब्रशिंग बालों को नुकसान पहुंचाती है, जिससे वे कमजोर होकर टूटते हैं। अपने बालों को सुलझाने के लिए हमेशा बॉल-टिप ब्रिसल्स वाले ब्रश का इस्तेमाल करें।

2. ऑयली बालों को हर दिन धोएं

सुना होगा आपने कि हफ्ते में दो से तीन बार बाल जरूर धोने चाहिए लेकिन बालों को कम धोने से स्कैल्प में नेचुरल ऑयल को बचाकर रखने में मदद मिलती है। इसलिए हफ्ते में एक बार धोना काफी है।

3. बाल काटने से तेजी से बढ़ते हैं

बालों को काटने का स्किन या डर्मिस के भीतर स्थित फॉलिकल से कोई सीधा संबंध नहीं है। स्ट्रैंड्स को ट्रिम करने से अनहेल्दी बालों के टिप्स गायब हो जाएंगे, यह बालों को तेजी से बढ़ने से रोकता है। बालों के लॉक्स को नियमित रूप से ट्रिम करना उनके लिए अच्छा माना जाता है, क्योंकि यह सप्लीमेंट्स से छुटकारा पाने में मदद करता है।

4. एक सफेद बाल तोड़ने से ज्यादा निकलते हैं

सफेद बालों को तोड़ने से वास्तव में बालों के फॉलिकल को नुकसान हो सकता है, जो बालों को बढ़ने से रोकता है। एक फॉलिकल से एक हेयर स्ट्रेंड बढ़ता है, इसलिए एक के बजाय कई बालों को पॉपअप करना संभव नहीं है। सफेद बाल तब होते हैं, जब फॉलिकल में पिग्मेंट मर जाता है। बालों को स्वस्थ रखने के लिए उन्हें न तोड़ें।


इन तरीकों से करें मां लक्ष्मी की पूजा और पूरी होगी हर मनोकामना

इन तरीकों से करें मां लक्ष्मी की पूजा और पूरी होगी हर मनोकामना

हमें सालभर दीवाली का बेसब्री से इंतजार किया जाता है और दीवाली की तैयारियों की जिम्मेदारी आमतौर पर महिलाएं ही निभाती हैं। बात चाहे रिश्तेदारों और परिचितों को गिफ्ट देने की हो, या घर के लिए नई खरीदारी करने की और इससे भी अहम लक्ष्मी पूजन की, इन सभी चीजों में महिलाओं की महत्वपूर्ण भूमिका होती है।

मां लक्ष्मी की पूजा को बनाएं सफल

# घर से अवांछित सामान जैसे कि पुराने कपडे़, जूते, डिब्बे आदि हटा दें। यह सामान नकारात्मक ऊर्जा का स्रोत होता है और आर्थिक अवसरों पर प्रतिकूल प्रभाव डालता है। 

# लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए भली प्रकार से पूजन करना भी आवश्यक है। जिस कक्ष में पूजा स्थल बनाएं, वहां ताजा हवा व रोशनी का पर्याप्त प्रबंध होना चाहिए।

# अपने प्रेम व देखरेख से मकान को घर बनाने वाली होती हैं महिलाएं। शास्त्रों में भी वर्णित है कि जिस घर में स्त्री का आदर-मान नहीं होता, वहां दरिद्रता वास करती है।