प्रेसिडेंशियल अकाउंट ‘पोटस’ को जो बाइडेन को ट्रांसफर करेगी TWITTER!

प्रेसिडेंशियल अकाउंट ‘पोटस’ को जो बाइडेन को ट्रांसफर करेगी TWITTER!

लॉस एंजिलिस। ट्विटर अमेरिका के राष्ट्रपति के आधिकारिक ‘पोटस’ अकाउंट का नियंत्रण राष्ट्रपति चुनाव में विजयी हुए जो बाइडन को 20 जनवरी को उनके शपथ ग्रहण करते ही सौंप देगी। ट्विटर ने कहा है कि भले ही राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चुनाव में हार नहीं मानी है लेकिन वह इस हस्तांतरण की प्रक्रिया को पूरा करेगी। पोटस (प्रेसीडेंट ऑफ यूएस या पीओटीयूएस) अमेरिका के राष्ट्रपति का आधिकारिक ट्विटर खाता है और यह डोनाल्ड ट्रंप के उस खाते से अलग है, जिससे वह ट्वीट किया करते हैं। बाइडन (78) शपथ ग्रहण करने के बाद अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति बन जाएंगे।

ट्विटर ने कहा कि अकाउंट को सौंपने की प्रक्रिया में ट्रंप की टीम और नये राष्ट्रपति बनने जा रहे बाइडन की टीम के बीच सूचना साझा करने की कोई आवश्यकता नहीं है। कंपनी ने कहा कि इस खाते पर मौजूदा सभी ट्वीट को संग्रह कर रखा जाएगा और शपथ ग्रहण के दिन बिना किसी ट्वीट के नये खाते के रूप में उसे बाइडन को सौंप दिया जाएगा। ट्विटर के प्रवक्ता निक पेसिलियो ने एक ई-मेल में कहा, ‘‘ट्विटर 20 जनवरी, 2021 को व्हाइट हाउस के संस्थागत ट्विटर खातों के हस्तांतरण की सक्रियता से तैयारी कर रही है।’’ कंपनी के अनुसार, इसी तरह व्हाइट हाउस, उप राष्ट्रपति आदि के ट्विटर खातों के साथ भी होगा।


डिफेन्स मिनिस्टर पहुंचे काठमांडू, नेपाल पर चीन की नजरें

डिफेन्स मिनिस्टर पहुंचे काठमांडू, नेपाल पर चीन की नजरें

नेपाल पर चीन गिद्ध दृष्टि लगाये बैठा है और हर तरह से इस हिमालयी देश को कंट्रोल करने में लगा हुआ है। इस कड़ी में चीनी रक्षा मंत्री वेई फेंगही रविवार को नेपाल दौरे पर हैं। इस दौरान वह प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली और सेना प्रमुख जनरल पूर्ण चंद्र थापा से मिलने वाले हैं। भारत के विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला के दो दिवसीय नेपाल यात्रा के समापन के तुरंत बाद चीनी रक्षा मंत्री नेपाल आये हैं। इससे पहले भारतीय सेना के प्रमुख एमएम नरवणे तीन दिवसीय दौरे पर नेपाल आए थे। दोनों की नेपाल यात्रा से चीन बेचैन हो गया और यही कारण है कि उसने अपने रक्षा मंत्री को नेपाल भेजा है।

चीन का दखल
नेपाल की राजनीति में चीन का दखल बढ़ता ही जा रहा है। पिछले कुछ दिनों में नेपाल में चीनी राजदूत हाओ यांकी कई बार राजनीतिक बैठक कर चुकी हैं। इस महीने की शुरुआत में उन्होंने प्रधानमंत्री ओली से दो घंटे तक बातचीत की। बताया जाता है कि यह मुलाकात नेपाल की सत्ताधारी पार्टी की एकीकरण प्रक्रिया और पार्टी के अंदर चल रहे मुद्दों को सुलझाने को लेकर हुई थी।

अब चीन के रक्षा मंत्री की नेपाल यात्रा दिखाती है कि चीन लगातार नेपाल को अपने साथ रखने की कोशिश कर रहा है। रक्षा मंत्री वेई फेंगही का दर्जा उप प्रधानमंत्री के बराबर है। इसलिए नेपाल की उनकी यात्रा बहुत महत्त्व रखती है। दोनों देशों की सेनाओं ने अप्रैल 2017 में संयुक्त सैन्य अभ्यास की शुरुआत की थी। इससे एक महीने पहले चीन के तत्कालीन रक्षा मंत्री चांग वानच्विएन ने नेपाल की यात्रा की थी।

नेपाली रक्षा मंत्रालय के अधिकारियों के अनुसार, चीन ने नेपाली रक्षा मंत्रालय को 2018 और 2019 में मानवीय और आपदा राहत उपकरण के लिए लगभग तीन अरब 37 करोड़ रुपये की सहायता प्रदान की थी।

नेपाल में भारत के पूर्व राजदूत रनजीत रे ने चीनी रक्षा मंत्री की नेपाल यात्रा के समय को लेकर सवाल उठाए हैं क्योंकि ये दौरा उस समय हो रहा है जब सत्ताधारी पार्टी के अंदर गंभीर मतभेदों की स्थिति है और शीर्ष भारतीय राजनयिक नेपाल यात्रा से लौट रहे हैं। उन्होंने हाल में कहा था कि – मुझे ये नेपाल की ओर से असंवेदनशीलता लगती है, ख़ासतौर से ऐसे समय पर जब भारत चीन के रिश्तों में रक्षा और सैन्य स्तर पर तनाव बना हुआ है। चीन के रक्षा मंत्री को बुलाना दिखाता है कि नेपाल भारत की संवेदनाओं की कोई ख़ास परवाह नहीं करता। हो सकता है कि वो हमारे सैन्य प्रमुख के साथ चीन के रक्षा मंत्री की यात्रा के ज़रिए रिश्तों में संतुलन बनाना चाहते हों। लेकिन, मुझे ये असामान्य लगता है।

वह कहते हैं कि अगर नेपाल राजनीतिक स्थिरता और आर्थिक विकास लाने में विफल होता है तो वो अपने राष्ट्रीय हितों को बचाने में नाकाम हो सकता है। पिछले साल नेपाल यात्रा के दौरान, चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने विरोधियों को कड़ी चेतावनी देते हुए कहा था कि चीन को बांटने की कोशिश करने वालों को ‘मसल दिया जाएगा और हड्डियों का चूरमा बना दिया जाएगा।’ हाल के वर्षों में नेपाल की सत्ताधारी पार्टी ने चीन की कम्युनिस्ट पार्टी से मेलजोल बढ़ाया है और ‘राष्ट्रपति शी जिनपिंग के विचार’ के बारे में वैचारिक चर्चा भी की है।


43 लोगों की गला काटकर हत्या, लाशों को देखकर रो रहा पूरा देश       डिफेन्स मिनिस्टर पहुंचे काठमांडू, नेपाल पर चीन की नजरें       अभी अभी: कार धमाके में 26 सुरक्षाबलों की मौत, हर तरफ मच गई चीख-पुकार       राष्ट्रपति से थे इनके संबंध, अब अरबों में खेलती हैं ये...       OH NO! लिफ्ट में फंसा बच्चा, मौत का तांडव देख कांपी बहने       सावधान ATM धारक! मिनटों में खाली हो जाएगा आपका खाता       भारत में कोरोना वैक्सीन पर बड़ी खुशखबरी! किया ये बड़ा ऐलान...सुनकर हो जाएंगे खुश       लव जिहाद से हिला MP, मुस्लिम ने हिन्दू महिला के साथ किया ऐसा       आखिर ऐसा क्या हुआ की पूरे गाँव में मच गई भगदड़, खोदे गए पूरे के पूरे पहाड़       किसानों से शाह की अपील, सड़कों पर ना करें आंदोलन       नक्सलियों का जवानों पर बड़ा हमला, असिस्टेंट कमांडेंट शहीद       BJP ने झोंकी पूरी ताकत, हैदराबाद में रोड शो करेंगे अमित शाह       पाकिस्तान ने भारत में तबाही मचाने के लिए भेजा था ये...       मूसलाधार बारिश का अलर्ट, इन राज्यों में 4 दिन जमकर बरसेंगे बादल       बदला बैंक का नियम: खाताधारक जरूर जान लें, ये बड़ी खबर       पायलट का लाइसेंस हासिल करने वाले पहले भारतीय, इसलिए करते हैं याद       चीन की दिक्कतें अब बढ़ी: नेपाल ने उठाया बड़ा कदम, दिया ये जोरदार झटका!       इस तट पर सोने के मोती ढूंढने के लिए जुट रही हजारों की भीड़, लोगों के आये अच्छे दिन       कृषि कानून से किसानों को उनके अधिकार मिले : PM मोदी       Bank Holidays December 2020: दिसंबर में इतने दिन बैंक रहेंगे बंद