ब्रिटिश की महारानी ने पौत्र की जिद के आगे झुकते हुये बोली यह बड़ी बात, जाने

 ब्रिटिश की महारानी ने पौत्र की जिद के आगे झुकते हुये बोली यह बड़ी बात, जाने

 हाल ही में ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय अपने पौत्र हैरी व उनकी पत्नी मेगन की ख़्वाहिश के सामने पराजय गई हैं जो ज्यादा स्वतंत्र जिंदगी जीना चाहते हैं। 

वहीं इस मामले पर टकराव सुलझाने के लिए बीते सोमवार यानी 13 जनवरी 2020 को ब्रिटिश शाही परिवार की एक आपात मीटिंग बुलाई गई थी। लेकिन ब्रिटिश मीडिया ने इस प्रकरण को 'ब्रेक्जिट' की तर्ज पर 'मेग्जिट' नाम दिया है।

कनाडा व ब्रिटेन में समय बिताने के लिए ट्रांजिशन पीरियड को दी मंजूरी: वहीं इस बात कि जानकारी मिली है कि हैरी व उनकी अमेरिकी अभिनेत्री पत्नी मेगन ने पिछले सप्ताह यह घोषणा करके शाही परिवार में संकट पैदा कर दिया था कि वे राजसी कर्तव्यों से हटना चाहते हैं व उत्तरी अमेरिका में ज्यादा समय बिताना चाहते हैं। लेकिन बीते सोमवार को पूर्वी इंग्लैंड में महारानी के ग्रामीण सैंड्रिंघम इस्टेट में बुलाई गई आपात मीटिंग में हैरी के पिता व सिंहासन के उत्तराधिकारी प्रिंस चा‌र्ल्स व हैरी के बड़े भाई प्रिंस विलियम भी मौजूद थे। मीटिंग के बाद जारी बयान के मुताबिक, शाही परिवार हैरी-मेगन की योजना का समर्थन कर रहे है।

स्वतंत्र ज़िंदगी जीने की ख़्वाहिश का सम्‍मान: सूत्रों का बोलना है कि बयान के मुताबिक, 'यद्यपि हमारी अहमियत होती कि वे शाही परिवार के पूर्णकालिक मेम्बर बने रहते, लेकिन मेरे परिवार के अमूल्य मेम्बर बने रहते हुए ज्यादा स्वतंत्र ज़िंदगी जीने की उनकी ख़्वाहिश को हम समझते हैं व उसका सम्मान करते हैं। हैरी व मेगन ने साफ कर दिया है कि वे अपने नए ज़िंदगी में सार्वजनिक धन पर निर्भर नहीं रहना चाहते। लिहाजा सहमति बनी है कि इसके लिए एक ट्रांजिशन पीरियड होगा जिसमें वे कनाडा व ब्रिटेन में समय बिताएंगे। वहीं यह मेरे परिवार के लिए जटिल मसले हैं, कुछ व कार्य बाकी है, लेकिन मैंने आगामी दिनों में अंतिम फैसला लेने के लिए बोला है। '