पाकिस्तान, अमेरिका नही बल्कि इस देश से है चाइना के अधिक संबंध, विदेश मंत्री वांग यी ने बोला

पाकिस्तान, अमेरिका नही बल्कि इस देश से है चाइना के अधिक संबंध, विदेश मंत्री वांग यी ने बोला

हर साल चीनी विदेश मंत्री की पहली यात्रा अफ्रीका क्यों होती है? इससे जवाब में जिम्बाब्वे दौरे पर हरारे पहुंचे चीनी विदेश मंत्री वांग यी ने बोला कि तीन कारणों की वजह से हर साल चीनी विदेश मंत्री की पहली यात्रा जरूर अफ्रीका होती है। 

विदेश मंत्री वांग यी ने बोला कि तीन कारणों में पहला है- चाइना व अफ्रीका के बीच पीढ़ी-दर-पीढ़ी मित्रवत संबंध व समान रूप से कठिनाइयों को दूर करने की विशेष भावना है। चाइना व अफ्रीका ने देश की स्वतंत्रता व मुक्ति की प्रक्रिया में एक दूसरे का समर्थन किया, जिससे ये एक दूसरे के विश्वसनीय मित्र बन गए हैं। विकास व निर्माण के चरण में दोनों पक्ष एक साथ मिलकर आपसी फायदा व समान जीत के लक्ष्य से अच्छे मित्र बन गए हैं।

दूसरा, चाइना व अफ्रीका के बीच योगदान व विकास को गहराने की व्यावहारिक जरूरतों पर आधारित है। चाइना सबसे बड़ा विकासशील देश है व अफ्रीका विकासशील राष्ट्रों का सबसे केंद्रित महाद्वीप है। दोनों पक्षों के बीच योगदान की बड़ी निहित शक्ति है। चाइना अफ्रीका के विकास के प्रति आशावान है।

तीसरा, चाइना व अफ्रीका संबंध अंतर्राष्ट्रीय योगदान को मजबूत करने व आम हितों की रक्षा करने के जरूरी मिशन पर आधारित है। मौजूदा समय में संसार में एकपक्षवाद, सत्ता की राजनीति, शीत युद्ध की सोच बढ़ रही है। चाइना व अफ्रीका को आपसी सम्पर्क व समन्वय से दोनों पक्षों के वैध अधिकारों की रक्षा करनी चाहिए।

इससे पहले वांग यी ने हरारे में जिम्बाब्वे के विदेश मामलों व अंतरराष्ट्रीय व्यापार मंत्री सिबुसियो मोयो के साथ मुलाकात की।