कोरोना वायरस की चपेट में आकर चाइना में अब तक 1300 से अधिक लोगों की हुई मृत्यु 

कोरोना वायरस की चपेट में आकर चाइना में अब तक 1300 से अधिक लोगों की हुई मृत्यु 

रहस्मय जानलेवा कोरोना वायरस ( Coronavirus ) का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है. धीरे-धीरे दशा बेकार होते जा रहे हैं. आलम ये है कि इस वायरस की चपेट में आकर चाइना ( China ) में अब तक 1300 से अधिक लोगों की मृत्यु हो चुकी है, जबकि संक्रमितों की संख्या 45 हजार से भी अधिक हो गई है.

यही कारण है कि सरकार युद्धस्तर पर बचाव अभियान चला रही है. अब इसी कड़ी में कोरोना वायरस से राहत के संभावना अभी नहीं दिखने के बीच सेना के चिकित्सा कर्मचारियों को भी वहां पर उपचार के लिए भेजा जा रहा है.

केंद्रीय सैन्य आयोग के अध्यक्ष शी जिनपिंग ( Xi Jinping ) की ओर से जारी एक बयान में बताया गया है कि सशस्त्र बलों के 2600 चिकित्सा कर्मचारियों को वुहान ( Wuhan ) रवाना किया जाएगा, जो कि कोरोना वायरस से पीड़ित मरीजों का उपचार करेंगे.

ग्लोबल टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, इन सैन्य चिकित्सा कर्मचारियों को वुहान में बने नए अस्पताल में भेजा जा रहा है. हालांकि जहां भी जरुरत होगी इन डॉक्टरों को मरीजों के उपचार के लिए भेजा जाएगा.

4000 से अधिक डॉक्टरों को वुहान भेजा गया

आपको बता दें कि जानलेवा कोरोना वायरस का प्रकोप सबसे अधिक वुहान में देखने को मिल रहा है. ये वायरस जनवरी माह से वुहान शहर से ही फैलना प्रारम्भ हुआ था. तब से लेकर अब तक 1300 से अधिक लोगों की मृत्यु हो चुकी है.

मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए इससे पहले 4000 चिकित्सा कर्मचारियों को वुहान भेजा गया है. चाइना ने कोरोना वायरस से निपटने के लिए दो अस्थायी अस्पताल भी बनाए हैं. लेकिन इसके बावजूद ये वायरस लगातार तेजी के साथ फैलता जा रहा है.

इस वायरस ने संसार के कई राष्ट्रों में भी पैर पसार लिए हैैं. संसार भर में इसको लेकर हाहाकार मचा हुआ है. दुनिया स्वास्थ्य संगठन ने इस वायरस के खतरे को देखते हुए अंतरराष्ट्रीय आपातकाल घोषित कर दिया है.

WHO ने इस बीमारी से निपटने के लिए 67 करोड़ 50 लाख डॉलर की रकम जुटाने का लक्ष्य रखा था मगर अब तक इस लक्ष्य की प्राप्ति नहीं हो सकी है. उन्होंने तमाम राष्ट्रों से इस रकम को जुटाने के लिए दान देने की अपील की है. जिससे इस लक्ष्य को पाया जा सके व वायरस से निपटने के लिए कार्य किया जा सके.