चीन की बढ़ सकती है दिक्‍कत, हांगकांग के मुद्दे पर अमेरिका ने खोला मोर्चा, तिब्बत की स्वायत्तता को दी मान्यता

चीन की बढ़ सकती है दिक्‍कत, हांगकांग के मुद्दे पर अमेरिका ने खोला मोर्चा, तिब्बत की स्वायत्तता को दी मान्यता

वाशिंगटन। हांगकांग में नागरिक अधिकारों के हनन के मामलों पर अमेरिका सहित पांच देशों ने चीन के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। अमेरिकी संसद ने तो इसको लेकर बीजिंग की निंदा वाला प्रस्ताव सर्वसम्मति से पारित कर दिया। साथ ही चेताया है कि अगर चीन ने हांगकांग में लोगों के अधिकारों पर हमले बंद नहीं किए तो उसे गंभीर खामियाजा भुगतना पड़ेगा।

अमेरिकी संसद में प्रस्ताव पारित होने के साथ ही पांच देशों के विदेश मंत्रियों ने संयुक्त बयान जारी करते हुए चीन से कहा है कि वह हांगकांग के नागरिक अधिकारों को कम ना करे। हांगकांग के निर्वाचित जनप्रतिनिधियों को अयोग्य करार देने के लिए बनाए गए नए कानूनों पर भी गंभीर चिंता जताई है। इस साझा बयान में अमेरिका के साथ ही कनाडा, न्यूजीलैंड, ऑस्ट्रेलिया और ब्रिटेन शामिल हैं। इन पांच देशों ने हांगकांग में राष्ट्रीय सुरक्षा कानून लागू करने और सितंबर माह में विधान परिषद के चुनाव स्थगित किए जाने को भी स्वायत्तता, अधिकारों और स्वतंत्रता को कम करना बताया है।

अमेरिकी संसद में हांगकांग को लेकर प्रस्ताव पारित करने के दौरान सांसदों ने चीन पर तीखे हमले किए। उन्होंने सलाह दी कि इस संबंध में अमेरिका को अपने सहयोगी देशों से बात करनी चाहिए और चीन की मौलिक अधिकारों को कुचलने की कोशिशों पर लगाम लगानी चाहिए।

अमेरिकी संसद ने तिब्बत की स्वायत्तता को दी मान्यता

अमेरिकी संसद ने सर्वसम्मति से एक महत्वपूर्ण प्रस्ताव पारित करते हुए तिब्बत की वास्तविक स्वायत्तता और 14 वें दलाई लामा द्वारा वैश्विक शांति, सौहार्द्र और तालमेल के महत्व के लिए किए जा रहे कार्यो को मान्यता दी है। अमेरिका की प्रतिनिधि सभा के इस प्रस्ताव में तिब्बत के सांस्कृतिक और धार्मिक महत्व को पहचान दिए जाने के साथ ही संघर्ष के शांतिपूर्ण समाधान का भी उल्लेख किया गया है। अमेरिकी संसद में कहा गया कि तिब्बत के लोगों की इच्छाओं, मानवाधिकारों और स्वतंत्रता के साथ ही उनकी धार्मिक, सांस्कृतिक, भाषाई और राष्ट्रीय पहचान के अंतरराष्ट्रीय संरक्षण को हम प्रस्ताव के माध्यम से समर्थन देते हैं।

तिब्बत और पूरे विश्व में साठ लाख से ज्यादा तिब्बती हैं। प्रस्ताव के दौरान सांसद और विदेशी मामलों की समिति के अध्यक्ष इलियट एंजल ने कहा कि चीन की सरकार स्वायत्त तिब्बत क्षेत्र में अमेरिका के राजनयिक, अधिकारियों, पत्रकारों और पर्यटकों का जाना नियोजित तरीके से अवरुद्ध कर रही है।

पुलिस ज्यादती पर हांगकांग की अदालत ने फटकार लगाई

लोकतंत्र समर्थकों के प्रदर्शन के दौरान पुलिस की ज्यादती के संबंध में यहां की हाइकोर्ट में दायर एक याचिका में सुनवाई के दौरान अदालत ने पुलिस को कड़ी फटकार लगाई है। अदालत ने पुलिस के खिलाफ आने वाली शिकायतों के लिए नई व्यवस्था बनाए जाने की जरूरत बताई है। अदालत ने यह भी माना है कि मौजूदा व्यवस्था में पुलिस नागरिकों के अधिकारों को बनाए रखने में असफल साबित हुई है। इस संबंध में हांगकांग के पत्रकार संगठन ने अदालत में याचिका दायर करते हुए प्रदर्शन के दौरान ज्यादती होने की न्यायिक जांच की भी मांग की है।


भारतीय सीमा पर निर्माण काम को लेकर अमरीकी सांसद ने चिंता जताई

भारतीय सीमा पर निर्माण काम को लेकर अमरीकी सांसद ने चिंता जताई

वाशिंगटन: अमरीका ( America ) में सत्ता बदलाव होने के बाद भी चाइना के साथ तनाव बरकरार है. कोविड-19 महामारी ( Corona Epidemic ) और आर्थिक संकट समेत कई अन्य वैश्विक मुद्दों पर अमरका-चीन में विवाद ( America China Tension ) की स्थिति बनी है और अब यह विवाद और भी गहराता जा रहा है.

दूसरी तरफ वास्तिव नियंत्रण रेखा ( LAC ) पर हिंदुस्तान और चाइना के बीच तनाव का माहौल है. चाइना भारतीय सीमा के करीब गैर कानूनी ढंग से निर्माण काम कर रहा है. वहीं भारतीय सीमा में घुसपैठ को लेकर लागातार नापाक प्रयास में भी जुटा है.

इन सबके बीच अमरीका ने चाइना को एक बार फिर से कड़ी फटकार लगाई है. अमरीका ने लद्दाख ( Ladakh ) में भारतीय सीमा के करीब चाइना के गैर कानूनी निर्माण काम को लेकर चिंता जाहिर की है. अमरीका के एक प्रभावशाली सांसद ने बोला है कि अमरीका हिंदुस्तान के साथ खड़ा था, है और रहेगा. यदि चाइना या कोई देश सीमा पर किसी तरह के परिवर्तन की प्रयास करता है, जो कि क्षेत्र की शांति और स्थिरता के लिए चुनौती हो, तो अमरीका उसका पुरजोर विरोध करेगा.

अमरीका के डेमोक्रेटिक पार्टी से कांग्रेस पार्टी के मेम्बर राजा कृष्णमूर्ति ने मंगलवार को एक बड़ा बयान देते हुए बोला कि LAC के करीब चीनी सेना की ओर से किए जा रहे निर्माण काम को लेकर जानकारी मिली है और इससे मैं बहुत ज्यादा चिंतित हूं. बता दें कि इस वर्ष मई से पूर्वी लद्दाख में LAC पर भारत-चीन के बीच गतिरोध जारी है.

भारत के साथ खड़ा रहेगा अमरीका

भारतीय अमरीकी सांसद राजा कृष्णमूर्ति ने बोला कि यदि यह रिपोर्ट हकीकत है तो चाइना के सैन्य उकसावे की वजह से क्षेत्र में तनाव बढ़ता ही रहेगा. उन्होंने बोला कि हिंद प्रशांत क्षेत्र में अपने भारतीय सहयोगी के साथ अमरीका हमेशा खड़ा रहेगा और यदि चाइना ने सीमा पर किसी तरह से परिवर्तन करने की प्रयास की तो उसका विरोध करेगा.

राजा कृष्णमूर्ति ने उपग्रह से ली गई तस्वीरों के आधार पर बयान देते हुए बोला कि इस तरह की तस्वीरों से साफ पता चल रहा है कि चाइना पूर्वी लद्दाख में निर्माण काम कर रहा है. बता दें कि इससे पहले इसी वर्ष जुलाई में अमरीकी प्रतिनिधि सभा ने अपना वार्षिक ‘नेशनल डिफेंस ऑथोराइजेशन’ अधिनियम पारित किया था. जिसमें LAC पर चाइना की आक्रमकता को समाप्त करने की मांग की गई थी. इस अधिनियम में कृष्णामूर्ति की ओर से दिए गए द्विदलीय संशोधन को भी शामिल किया गया था.


जेल में बंद लालू यादव की मुश्किलें बढ़ीं       इंदौर में अवैध निर्माणों पर चला जिला प्रशासन का बुलडोजर       इंदौर में दर्दनाक सड़क हादसे में ऑटो चालक की मौत       मध्य प्रदेश के 4 लाख से अधिक अधिकारी कर्मचारियों ने नारेबाजी कर प्रदर्शन किया       दिल्ली में कोरोना से एक दिन में 91 और लोगों की मौत, नये मामले 5,475       दिल्ली चलो मार्च: किसानों पर पुलिस ने की पानी की बौछार       टीम इंडिया ने पूरा किया 14 दिन का पृथकवास       शादी के बंधन में बंधे संगीता फौगाट और पहलवान बजरंग       Chahal ने फोटो शेयर कर Dhanashree के लिए लिखा मैसेज       मोहम्मद शमी के भाई ने ठोका तूफानी अर्धशतक       कपिश शर्मा के शो में सूर्यकुमार यादव बने थे बाजीगर       विंडीज टीम का तीसरा कोविड-19 टेस्ट नेगेटिव       क्रिकेटर युजवेंद्र चहल की मंगेतर धनाश्री वर्मा के डांस वीडियो ने मचाया तहलका       India vs Australia 1st ODI Preview: 8 महीने बाद टीम इंडिया करेगी मैदान पर वापसी       रोहित शर्मा की गैरमौजूदगी में कौन होगा शिखर धवन का पार्टनर       प्रेग्नेंसी के बाद इतनी स्लिम हुई Hardik Pandya की मंगेतर Natasa       मुकाबले से पहले न्यूजीलैंड ने लगाई पाक की क्लास       Omega Seiki ने लॉन्च किए 3 इलेक्ट्रिक व्हीकल       हाई-सिक्यॉरिटी विशेषता से लैस कारों पर भूलकर भी न करें भरोसा       Royal Enfield Classic 350 दो नए कलर में हुई लॉन्च