ब्रिटेन में घातक वायरस दक्षिण अफ्रीकी वैरिएंट ने भी पसारे पांव, 77 मामलों की हुई पहचान : स्वास्थ्य मंत्री

ब्रिटेन में घातक वायरस दक्षिण अफ्रीकी वैरिएंट ने भी पसारे पांव, 77 मामलों की हुई पहचान : स्वास्थ्य मंत्री

कोरोना महामारी की दूसरी लहर से जूझ रहे ब्रिटेन की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। यह यूरोपीय देश कोरोना का नया रूप मिलने से पहले ही जूझ रहा है। अब यहां इस घातक वायरस के दक्षिण अफ्रीकी वैरिएंट ने भी पांव पसारना शुरू कर दिया है। देशभर में कोरोना के इस वैरिएंट के 77 मामलों की पुष्टि की गई। जबकि बीते 24 घंटों में 33 हजार 552 नए कोरोना रोगी पाए गए और 1,348 पीड़ितों की मौत हुई।

स्वास्थ्य मंत्री मैट हैनकॉक ने रविवार को बताया कि ब्रिटेन में दक्षिण अफ्रीकी वैरिएंट से संक्रमित 77 लोग पाए गए। ये सभी दक्षिण अफ्रीका की यात्रा से लौटे हैं। देश में ब्राजील वैरिएंट के भी नौ मामलों की पहचान हुई है। उन्होंने लोगों से आग्रह किया है कि वे लॉकडॉउन के नियमों का सख्ती से पालन करें। नियमों के पालन से ही संक्रमण पर अंकुश पाया जा सकता है। यह देश कोरोना के ब्रिटिश वैरिएंट से पहले ही जूझ रहा है।

ब्रिटेन में बीते माह कोरोना के इस नए प्रकार की पहचान हुई थी। तब से यहां महामारी बढ़ गई है। कोरोना का यह नया वैरिएंट दुनिया के 50 से ज्यादा देशों तक पहुंच चुका है। यह 70 फीसद ज्यादा संक्रामक बताया जाता है। ब्रिटेन में कुल 36 लाख 17 हजार से ज्यादा मामले मिले हैं। 97 हजार 329 पीड़ितों की मौत हुई है।

ब्राजील में मिले 62 हजार नए केस

ब्राजील के स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि बीते 24 घंटों के दौरान 1,202 पीड़ितों की मौत से मरने वालों की संख्या दो लाख 16 हजार से अधिक हो गई। इस दौरान देशभर में 62 हजार 334 नए मामले पाए गए। इससे संक्रमित लोगों का आंकड़ा 88 लाख से ज्यादा हो गया है।

न्यूजीलैंड : दो माह से ज्यादा समय बाद इस देश में कोरोना संक्रमण का पहला मामला मिला। यूरोप से लौटी 56 वर्षीय महिला संक्रमित पाई गई है।


फ्रांस : 23 हजार 924 नए संक्रमित मिलने से पीडि़तों की संख्या 30 लाख 35 हजार से ज्यादा हो गई। यहां कुल 72 हजार 877 पीडि़तों की मौत हुई।


विवादित एक बच्चे की नीति के बाद चीन अब आबादी बढ़ाने की दिशा में अग्रसर

विवादित एक बच्चे की नीति के बाद चीन अब आबादी बढ़ाने की दिशा में अग्रसर

विश्व की सबसे ज्यादा आबादी वाला देश चीन एक बार फिर अपने यहां जन्मदर बढ़ाने की कवायद शुरू करने वाला है। चीन ने चार साल पहले तक विवादित एक बच्चे की नीति का अनुसरण करता था। दशकों तक चीन ने अपने यहां जनसंख्या पर कड़ा नियंत्रण रखने के उपाय किए थे। उस समय उसकी दलील थी कि सीमित संसाधनों को बचाना जरूरी है। चीन घटती जन्मदर को रोकना चाहता है। 

अब वह जन्मदर बढ़ने को आर्थिक उन्नति और सामाजिक स्थिरता के लिए जरूरी मान रहा है। चीन ने कहा है कि वह जन्मदर बढ़ाने के लिए पहले अपने यहां उत्तरपूर्वी क्षेत्र पर ध्यान देगा। यह क्षेत्र पुराने समय का औद्योगिक उदय माना जाता है। यहां जनसंख्या में भारी गिरावट आ गई है। नौजवान और उनके परिवार बेहतर अवसरों के लिए यहां से पलायन कर गए हैं। अधिकारियों के अनुसार पिछले साल जन्म दर में 15.3 प्रतिशत की गिरावट आई है। चीन में 2010 की जनगणना के अनुसार एक अरब 34 करोड़ जनसंख्या थी। वार्षिक जन्मदर 0.57 फीसद रही। जबकि एक दशक पहले जन्मदर 1.07 फीसद थी। जन्मदर को देखते हुए संयुक्त राष्ट्र की एक रिपोर्ट के अनुसार 2027 तक भारत आबादी के लिहाज से चीन को पछाड़ देगा।

चीन की आबादी तकरीबन एक अरब 40 करोड़ से ज्‍यादा है। यह दुनिया का सबसे अधिक आबादी वाला देश है। कुछ दशक पहले तक चीन की लगातार बढ़ रही आबादी उसके लिए चिंता का सबब बनी हुई थी। अपनी बढ़ती जनसंख्‍या को नियंत्रित करने के लिए चीन ने वर्ष 1979 में एक बच्चे की नीति बना दी। इसके तहत केवल एक ही बच्चा पैदा करने की अनुमति थी। हालांकि कुछ साल पहले चीन को एहसास हुआ कि देश में बुजुर्गों की संख्या बढ़ती जा रही है, उसके अनुपात में युवाओं की जनसंख्या काफी कम हो रही है। लिहाजा वर्ष 2016 में चीन ने एक बच्चे की नीति को निरस्त कर दो बच्चों की नीति बना दी। मतलब चीन में अब एक कपल दो बच्चे पैदा कर सकता है।


इस फ़िल्म के पोस्टर से आखिर क्यों किया गया इस एक्ट्रेस का चेहरा ग़ायब       Kangana Ranaut ने किया दावा, कभी नहीं किया आइटम नंबर       सारा अली खान ने इस मैग्जीन के लिए कराया बोल्ड फोटोशूट       Rashford ने कहा कि इस पल को हमेशा भाई के लिए संजोया       Pochettino ने कहा कि कभी भी उनकी रक्षात्मक रेखा को तोड़ने का उपाय नहीं मिला       nd vs Eng: पिंक बॉल टेस्ट में पहली गेंद फेंकते ही कपिल देव क्लब में शामिल होंगे इशांत शर्मा       IPL 2021: कृष्णप्पा गौतम ने कहा कि माही भाई की कप्तानी में खेलना सपने के पूरे होने जैसा, बड़ी मूल्य का दबाव नहीं       IPL में ना चुने जाने पर Sreesanth का BCCI को करारा जवाब       लॉकडाउन की तैयारी, फिर कोरोना ने मचाया ऐसा हाहाकार       8 वर्ष के बच्चे के साथ सौतेली मां ने की बर्बरता, शरीर पर मिले गहरे घाव       राजस्थान: झुंझुनू में 5 वर्ष की मासूम का अगवा कर किया रेप       आंध प्रदेश की उपमुख्यमंत्री पामुला पुष्पा श्रीवाणी बनीं मां       आंदोलन के लिए समर्थन जुटाने गुजरात का रुख करेंगे Rakesh Tikait       कहीं आपके बाल कम तो नहीं हो रहे, अपनी डाइट से करें बाल झड़ने का इलाज       आपकी इम्यून पावर बढ़ाते हैं जिंक वाले फूड       गर्मी में गले के इंफेक्शन से परेशान हैं तो इन घरेलू उपायों से करें उपचार       गर्मी से बचना चाहते हैं तो अपनी डाइट में पुदीना शामिल करें       सुसाइड का ख्याल आएं तो क्या करें और कैसे रोकें नेगेटिव थॉट्स को, जानें       लड़कियाँ चेहरे को कील-मुहांसों से बचाने के लिए करें ये टिप्स       अपने बालो को चमकदार और खूबसूरत बनाने के लिए फॉलो करे ये टिप्स