गर्मियों के मौसम में आलूबुखारा करें डायट में शामिल, कई बीमारियों से देता है राहत

गर्मियों के मौसम में आलूबुखारा करें डायट में शामिल, कई बीमारियों से देता है राहत

गर्मियों के मौसम में स्वास्थ्य का विशेष रूप से ध्यान रखना चाहिए। क्योंकि इस मौसम में कई बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। गर्मी में बीमारियों से बचने व स्वस्थ रहने के लिए लोग अक्सर मौसमी फलों का सहारा लेते हैं। ऐसे में शरीर को प्राकृतिक रूप से कूल करने के लिए आलूबुखारा फल बेहद फायदेमंद है। औषधीय गुणों से भरपूर आलूबुखारा गर्मियों में अधिक मात्रा में खाया जाता है। इसका सेवन स्वास्थ्य के लिए लाभकारी है। चलिए जानते हैं कि इसे खाने से आपको क्या-क्या फायदे होते हैं....

- अगर आपको खून की कमी के कारण एनीमिया रोग हो गया है तो इसे खाने से शरीर में हीमोग्लोबिन बढ़ता है और एनीमिया से बचाव होता है।

- विटामिन सी से भरपूर यह खट्टा-मीठा रफल खांसी-जुकाम को रोकने और गले में होने वाली समस्याओं से निजात पाने के लिए काफी प्रभावशाली है।

- गर्मी के मौसम स्‍वास्‍थ्‍य समस्याओं को दूर करने के लिए फालसे के रस का सेवन करना शरीर के लिए टॉनिक का काम करता है। यह पित्त की समस्याओं को दूर करता है और पाचन क्रिया को मजबूत बनाता है।

- विटामिन सी और खनिज तत्वों से भरपूर फालसा के सेवन से ब्‍लड प्रेशर और कोलेस्ट्रॉल का लेवल कंट्रोल में रहता है।

- यूनिवर्सिटी इंस्‍टीट्यूट ऑफ साइकोलॉजी हेल्‍थ एंड सोसायटी द्वारा किए गए एक ताजा अध्‍ययन में पाया कि वजन और मोटापे से ग्रस्‍त लोगों ने 12 हफ्ते तक रोजाना सूखे प्‍लम खाकर लगभग 2 किलो वजन कम कर लिया था। प्‍लम ऊर्जा का बेहतर स्‍त्रोत हैं। ये देरी से पचते हैं और लंबे समय तक भूख नहीं लगने देते।  

- इसमें मौजूद हाई पोटेशियम से ब्‍लड प्रेशर रेगुलेट करने में मदद मिलती है। सौ ग्राम सूखे प्‍लम में 745 मिलिग्राम पोटेशियम पाया जाता है। अहमद टी और उनके सहयोगियों ने अपने एक अध्‍ययन में पाया कि सूखे प्‍लम को भिगोकर उसकी केवल एक खुराक खाने वाले मरीजों को ब्‍लड प्रेशर नियंत्रित करने में मदद मिली थी।

- प्‍लम में हाई फाइबर होने की वजह से ये लीवर डिसऑर्डर के इलाज में भी सहायक हो सकता है। लीवर सेल्‍स डैमेज होने की वजह से लीवर एंजाइम का लेवल बढ़े लोगों पर एक अध्‍ययन किया गया। इन लोगों को तीन सूखे प्‍लम दिए, जिन्‍हें रातभर पानी में भिगोकर रखा गया था। आठ हफ्ते बाद ये परिणाम देखने को मिला कि इन लोगों को लीवर की बीमारियों में फायदा हो रहा था।

- सूखे प्‍लम कब्‍ज और खराब पाचन से पीड़ित लोगों के लिए एक बेहतर ऑप्‍शन है। इतना ही नहीं ये बड़ी आंत में अच्छे बैक्‍टीरिया के विकास को बढ़ावा देकर पाचन में सहायक है। 

- सूखे प्‍लम बोरान का बेहतर स्‍त्रोत है जिससे हड्डियों के घनत्‍व में सुधार में मदद मिलती है। नेचुरल मेडिसीन जर्नल में प्रकाशित एक अध्‍ययन में पाया गया कि सूखे प्‍लम खाने से पुर बोन मिनरल डेनसिटी के रोगियों में बोन टर्नोवर मार्कर के सीरम का लेवल कम हो गया था।

- सूखे प्‍लम धमनियों को खत्‍म कर हार्ट डिजीज़ से बचाने में सहायक हैं। इसके अलावा हाई फाइबर होने की वजह से भी ये हार्ट डिजीज से बचाने में मददगार हैं। एक अध्‍ययन के अनुसार, हाई फाइबर के सेवन से कोरोनरी हार्ट डिजीज का खतरा 12 फीसदी और कार्डीओवैस्क्यलर डिजीज़ का खतरा 11 फीसदी तक कम किया जा सकता है। 


नींद न आने की समस्या से हैं बहुत ज्यादा परेशान, तो इन घरेलू नुस्खों को एक बार जरूर करें ट्राय

नींद न आने की समस्या से हैं बहुत ज्यादा परेशान, तो इन घरेलू नुस्खों को एक बार जरूर करें ट्राय

स्वस्थ शरीर के लिए जितना जरूरी पोषक तत्वों से भरपूर भोजन है, उतना ही आवश्यक भरपूर नींद भी है। अच्छी नींद से दिमाग शांत और मन खुश रहता है। आंखों के नीचे काले घेरे नहीं पड़ते, त्वचा की चमक बरकरार रहती है। अगर आप नींद न आने की समस्या से परेशान हैं तो यहां दिए जा रहे टिप्स आपकी मदद कर सकते हैं।

1. सिर की मालिश नींद लाने का एक कारगर उपाय है। सोने से पहले गुनगुने तेल से सिर की मालिश करें और हल्के हाथों से कनपटियों को अंगुलियों से दबाएं, कुछ ही देर में नींद आ जाएगी।


2. रात को सोने से पहले एक ग्लास गुनगुने दूध में एक टीस्पून शहद मिलाकर पिएं और सुकून भरी नींद लें।

3. रोज दो टीस्पून मेथी के पत्तों के रस में एक टीस्पून शहद मिलाकर खाने से नींद न आने की समस्या दूर होती है।

4. नियमित दलिया, बादाम, अखरोट और दूध के सेवन से अच्छी नींद आती है।

5. अच्छी नींद के लिए रात में काबुली चना, केला और कीवी खाया जा सकता है।


6.  अध्ययनों के मुताबिक सोने स कुछ देर पहले चेरी खाने से सुकूनभरी नींद आती है। दिन में दो बार एक कप चेरी का जूस पीना भी फायदेमंद होता है।

7. केले में मौजूद पोटैशियम और मैग्नीशियम मांसपेशियों को तनावमुक्त करता है, जिससे नींद अच्छी आती है। इसलिए रात को नींद न आने पर कटे हुए केले पर भुना-पिसा जीरा छिड़कर खाना चाहिए।

8. शरीर में मैग्नीशियम की कमी अनिद्रा के लिए जिम्मेदार होती है। बादाम में अच्छी मात्रा में मैग्नीशियम पाया जाता है, इसलिए सुकूनभरी नींद के लिए हर रोज 8-10 बादाम खाएं।

9. दूध में हल्दी या जायफल मिलाकर पीने से नींद से दोस्ती हो सकती है।

10. गहरी नींद के लिए रात को सोने से पहले एक ग्लास दूध में आधा टीस्पून दालचीनी पाउडर मिला सकते हैं।

11. एक ग्लास दूध में केसर के दो धागे मिलाकर पीने से गहरी नींद आती है।

12. सोने से पहले जीरे की चाय पीने या एक ग्लास दूध में एक टीस्पून जीरा पाउडर और एक केला मसल कर खाने से नींद अच्छी आती है।