अक्ल दाढ़ के दर्द से है परेशान तो कर सकते है ये इलाज

अक्ल दाढ़ के दर्द से है परेशान तो कर सकते है ये इलाज

अक्ल दाढ़ आमतौर पर यह किशोरावस्था के बाद ही आती है। यह दाढ़ कई बार बहुत ज्यादा परेशान करती हैं और कभी दर्द इतना बढ़ जाता है कि इसे सहन भी नहीं किया जा सकता। अगर दाढ़ टेढ़ी है, इसमें लगातार दर्द हो रहा है या इसमें संक्रमण हो गया है तो इसे निकलवाना ही बेहतर होता है।

अक्ल दाढ़ के दर्द का इलाज:

 जब दर्द असहनीय हो जाए तथा तकलीफ बढ़ने लगे तो उस दाढ़ को नीम-हकीमों से बचते हुए किसी कुशल प्रशिक्षित चिकित्सक से सलाह-मश्र्विरा कर निकलवा देने से पीड़ाजनक समस्या से निजात पाई जा सकती है। 

 इस दर्द को कम करने के लिए घर पे हल्के गुनगुने पानी में थोड़ा सा नमक डाल कर कुल्ला करने से मसूड़ों के दर्द और सूजन की समस्या से राहत मिलती है।

 लहसुन में एंटीऑक्सीडेंट, एंटीबायोटिक और एंटी- इंफ्लामेट्री और दूसरे कई औषधीय गुण पाए जाते हैं जो अक्ल दाढ़ के दर्द को कम करने में मदद करते हैं। 

 तेज दर्द के दौरान दर्द वाले हिस्से पर लौंग का तेल लगाना बेहद उपयोगी माना जाता है। लेकिन इससे छुटकारा पाने के लिए आपको किसी कुशल दन्त चिकित्सक के पास ही जाना चाहिए।


महिलाओं को पीरियड्स में दर्द से बचाता है गुलकंद का सेवन

महिलाओं को पीरियड्स में दर्द से बचाता है गुलकंद का सेवन

कई घरेलु चीजें हमारे स्वस्थ से जुड़ी कई समस्या को सही कर देते हैं और इसका सेवन करने से कई तरह के लाभ शरीर को मिलते हैं। गुलकंद के फायदे क्या है, इसके नुकसान और इसे किस तरह से बनाया जाता है। इन सब चीजों की जानकारी इस लेख में दी गई है।

गुलकंद के फायदे:

# गुलकंद खाने से वजन को भी कम किया जा सकता है। इसलिए वजन कम करने हेतु आप रोज गुलकंद खाया करें। इसके अंदर फैट बिल्कुल नहीं होता है और इसे खाने से शरीर में जमा वास भी कम होने लग जाता है।

# गुलकंद के फायदे पेट के संग भी हैं और इसे खाने से पेट से जुड़ी कई समस्या सही हो जाती हैं। जिन लोगों को कब्ज की परेशानी रहती है वो लोग रोज एक चम्मच गुलकंद खा लें। इसे खाने से कब्ज से आराम मिल जाएगा।

# गुलकंद को आंखों के लिए भी उत्तम माना जाता है और इसे खाने से आंखों की रक्षा कई रोगों से होती है। गुलकंद की तासीर ठंडी होती है, जिसकी वजह से इसे खाने से आंखों में जलन की शिकायत नहीं होती है।

# महिलाओं के लिए गुलकंद बेहद ही कारगर माना जाता है और इसे खाने से मासिक धर्म के दौरान दर्द की शिकायत नहीं होती है। मासिक धर्म के दौरान दर्द होने पर महिलाएं गुलकंद वाला दूध पी लें।

# मुंह में छाले हो जाने पर आप गुलकंद का सेवन करें। गुलकंद खाने से छाले एकदम सही हो जाएंगे और दर्द की समस्या से भी राहत मिल जाएगी।