जरूतरत से ज्यादा कैफीन माइग्रेन का दे सकता है दर्द, जाने

जरूतरत से ज्यादा कैफीन माइग्रेन का दे सकता है दर्द, जाने

माइग्रेन की समस्या अब आम हो गई है. मरीज के लिए इसका दर्द सह पाना बहुत कठिन होता है. माइग्रेन होने पर सिर के एक हिस्से में तेज दर्द उठता है. 

आधे सिर के तेज दर्द के साथ उल्टी आना, चक्कर आना व लाइट तथा आवाज से कठिनाई महसूस होना माइग्रेन के प्रमुख लक्षण हैं.

 इसका सही-सही कारण अभी तक पता नहीं चला है लेकिन चिकित्सक मानते हैं कि आदमी के मस्तिष्क की गतिविधियों में मामूली-एम्स के डाक्टर नबी वली के अनुसार, ‘माइग्रेन एक प्रकार का सिर दर्द है जिसमें सिर के दोनों या एक तरफ रुक-रुक कर भयानक दर्द होता है. माइग्रेन 2 घंटे से लेकर कई दिनों तक बना रहता है. माइग्रेन दूसरे सिरदर्द की तुलना में बहुत खतरनाक होता है.’  
कई चीजें माइग्रेन का कारण बन सकती हैं, जैसे कोई दवा, हार्मोन में परिवर्तन या नींद की कमी. इसमें आहार भी अहम किरदार निभाता है. इस सिरदर्द वाले लगभग 10 फीसदी लोगों में भोजन एक ट्रिगर का कार्य करता है. माइग्रेन रिसर्च फाउंडेशन के अनुसार, यह माना जाता है कि माइग्रेन पैदा करने वाले अन्य ट्रिगर्स के साथ फूड ट्रिगर सबसे अधिक प्रभावी है.

 
यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया के अध्ययन के मुताबिक, माइग्रेन पीड़ितों पर भिन्न-भिन्न डाइट का भिन्न-भिन्न तरह से प्रभाव पड़ता है. यह आवश्यक नहीं कि एक मरीज को किसी डाइट से सिरदर्द अधिक होता है तो दूसरे को भी उस डाइट से यह शिकायत हो.

 

कैफीन
जरूतरत से ज्यादा कैफीन माइग्रेन का दर्द दे सकता है. कॉफी में कैफीन ज्यादा मात्रा में पाया जाता है व इसके सेवन से दिमाग की नसों के कार्य में रुकावट पैदा होती है. इससे दिमाग में खून का संचार धीमा होता है. इस वजह से आधे सिर में तेज दर्द पैदा होता है.

 

स्वीटनर
कई प्रोसेस्ड फूड्स में आर्टिफिशियल स्वीटनर्स होते हैं. यह चीनी के विकल्प के रूप में कार्य आते हैं, लेकिन ये स्वीटनर्स माइग्रेन पैदा करते हैं. इन स्वीटनर्स को आइसक्रीम, पेस्ट्री, केक, चॉकलेट आदि में भी डाला जाता है जो कि माइग्रेन के दर्द को बढ़ा सकते हैं.

 

अल्कोहल
अल्कोहल उन आम पदार्थों में से एक है जो माइग्रेन पैदा कर सकते हैं. इनके सेवन के दो या तीन घंटे के भीतर ही माइग्रेन होने कि सम्भावना है. एल्कोहल के सेवन से डिहाइड्रेशन की समस्या हो सकती है जो कि सिर दर्द का कारण बन सकती है.

 

चॉकलेट
अमेरिकन माइग्रेन फाउंडेशन के अनुसार, एल्कोहल के बाद चॉकलेट माइग्रेन का दूसरा सबसे आम ट्रिगर है. यह उन 22 फीसदी लोगों को प्रभावित करता है जो माइग्रेन का अनुभव करते हैं. इसमें कैफीन व बेटा-फेनी लेथाइलमाइन होता है जो कि कुछ लोगों में सिर दर्द पैदा करता है.