थोक महंगाई दर ने तोड़े सारे रिकॉर्ड! अप्रैल में WPI हुई 10.49 परसेंट

थोक महंगाई दर ने तोड़े सारे रिकॉर्ड! अप्रैल में WPI हुई 10.49 परसेंट

पेट्रोल डीजल और LPG की बढ़ती कीमतों के चलते थोक महंगाई अब नए आसमान पर पहुंच गई है। मार्च में थोक महंगाई दर (WPI) 7.39 परसेंट पर पहुंच गई थी, जो कि थोक महंगाई की दर का पिछले 8 वर्ष में यह सबसे ऊंचा स्तर था, जबकि इससे पहले फरवरी 2021 में थोक महंगाई दर 4.17 परसेंट थी।

आज थोक महंगाई दर (WPI) के अप्रैल के आंकड़े जारी हुए हैं, जो कि 10.49 परसेंट है। वाणिज्य मंत्रालय मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार एक महीने में WPI में 3.1 परसेंट की वृद्धि हुई है। मंत्रालय के बयान में बोला गया है कि महंगे क्रूड पेट्रोलियम और मिनरल ऑयल्स यानी पेट्रोल-डीजल के कारण वस्तुओं की थोक कीमतों में वृद्धि हो रही है।  

फ्यूल और पावर कीमतों का इंडेक्स उछलकर 20.94 परसेंट पर आ गया है, जो कि पिछले महीने 10.25 परसेंट था, यानी दोगुने से भी अधिक महंगाई बढ़ी है। पेट्रोल की महंगाई दर 42.37 परसेंट और हाई स्पीड डीजल की महंगाई दर 33.82 रही है।

WPI इंडेक्स में मैन्यूफैक्चरिंग प्रोडक्ट्स का सबसे अधिक वेटेज होता है, इसकी महंगाई दर 7.34 परसेंट से बढ़कर 9.01 परसेंट हो गई है। मंत्रालय के डाटा के मुताबिक, फूड आर्टिकल्स में अप्रैल महीने में दाल, फल और अंडा-मीट की थोक महंगाई दर बढ़ी है। दालों की महंगाई दर 10.74 परसेंट, फलों की महंगाई दर 27.43 परसेंट, दूध की महंगाई दर 2.04 परसेंट और अंडा-मीट-मछली की महंगाई दर 10.88 परसेंट रही है। नॉन-फूड आर्टिकल्स में तेल सीड्स की महंगाई दर 29.95 परसेंट, मिनरल्स की महंगाई दर 19.60 परसेंट और क्रूड पेट्रोलियम एंड नेचुरल गैस की महंगाई दर 79.56 परसेंट रही है।  

हालांकि अप्रैल में फूड आर्टिकल्स में थोक महंगाई घटी है। जैसे सब्जियों की महंगाई दर 9.03 परसेंट घटी है। आलू की महंगाई दर 30.44 परसेंट कम हुई है, प्याज की महंगाई दर 19.72 परसेंट कम रही है। अन्न की महंगाई दर 3.32 परसेंट और धान की महंगाई दर 0.92 परसेंट कम रही है। गेहूं की महंगाई दर 3.29 परसेंट घटी है।


सिंगल चार्ज में 402 किलोमीटर की रेंज देगा Tesla Cybertruck, लॉन्च से पहले ही मिल रही जबरदस्त बुकिंग

सिंगल चार्ज में 402 किलोमीटर की रेंज देगा Tesla Cybertruck, लॉन्च से पहले ही मिल रही जबरदस्त बुकिंग

 दुनियाभर में ट्रक्स की कई वैराइटी हैं लेकिन इनमें सबसे यूनीक है Tesla Cybertruck जिसे हाल ही में पेश किया गया है। ये एक इलेक्ट्रिक ट्रक है जिसका डिजाइन बेहद ही यूनीक है। इस इलेक्ट्रिक ट्रक को साल के आखिर तक अमेरिका में लॉन्च किया जा सकता है लेकिन इसकी लोकप्रियता ने अभी से सारे रिकार्ड्स तोड़ने शुरू कर दिए हैं। जानकारी के अनुसार लॉन्च से पहले ही Cybertruck के 10 लाख यूनिट्स की बुकिंग हो चुकी है और इसी से आप समझ सकते हैं कि ग्राहकों में इसे लेकर कितना जबरदस्त क्रेज है। जानकारी के अनुसार इसकी डिलीवरी भी अगले साल से शुरू कर दी जाएगी।

जबरदस्त है ड्राइविंग रेंज

Tesla Cybertruck की रेंज की अगर बात की जाए तो यह सिंगल चार्जिंग में ढाई सौ मील से भी ज्यादा रेंज देता है जो किलोमीटर में तकरीबन 402 किलोमीटर के आसपास होती है। यह रेंज किसी ट्रक के हिसाब से ज्यादा नहीं लगती है उसके बावजूद भी इस बेहद यूनीक दिखने वाले इलेक्ट्रिक ट्रक को ग्राहक जमकर रिस्पॉन्स दे रहे हैं। आपको बता दें कि इस ट्रक की रेंज से जुड़ी हुई जानकारी कंपनी की आधिकारिक वेबसाइट पर मौजूद है। यह ट्रक महज 6.5 सेकेंड में ही 0 से 60 किलोमीटर की रफ़्तार पकड़ने में पूरी तरह से सक्षम है। यह एक रियर व्हील ड्राइव ट्रक है।

टेस्ला साइबरट्रक का कॉन्सेप्ट वर्जन 2019 में पहली बार पेश किया गया था। जिसके बाद से ही यह चर्चा में है। इस साइबरट्रक ने अपनी कई खास विशेषताओं के कारण सभी का ध्यान आकर्षित किया है। टेस्ला इस इलेक्ट्रिक साइबरट्रक को तीन वेरिएंट्स में लॉन्च करने जा रही है, जिसमें एक एंट्री-लेवल सिंगल-मोटर वैरिएंट होगा। जिसमें रियर-व्हील-ड्राइव कॉन्फ़िगरेशन और लगभग 402 किमी की रेंज शामिल है। वहीं मिड-रेंज वैरिएंट एक ड्यूल-मोटर सेटअप के साथ-साथ ऑल-व्हील-ड्राइव सेटअप के साथ शामिल होगी। जिसकी रेंज लगभग 483 किमी तय की जाएगी। रिपोर्ट के अनुसार टॉप मॉडल तीन इलेक्ट्रिक मोटर्स से लैस होगा। जो जाहिर तौर पर ऑल-व्हील-ड्राइव सिस्टम के साथ आएगा। इस मॉडल की रेंज करीब 805 किमी हो सकती है।

जानकारी के अनुसार टेस्ला साइबरट्रक के सबसे महंगे मॉडल की टोइंग क्षमता करीब 6,350 किलोग्राम होगी। फिलहाल कंपनी की तरफ से इस नए टेस्ला साइबरट्रक के लॉन्च की सही तारीख का खुलासा नहीं किया गया है।