इंतज़ार खत्म इस दिन पेश होगी Citroen की 'मेड इन इंडिया' कॉम्पैक्ट SUV, कंपनी ने जारी किया टीज़र

इंतज़ार खत्म इस दिन पेश होगी Citroen की 'मेड इन इंडिया' कॉम्पैक्ट SUV, कंपनी ने जारी किया टीज़र

फ्रेंच कार निर्माता कंपनी Citroen ने पुष्टि की है कि वह सबकॉम्पैक्ट SUV, जिसका कोडनेम CC21 है, को 16 सितंबर को ग्लोबली पेश करेगी। कार निर्माता ने भारत में अपने आधिकारिक सोशल मीडिया पेज पर SUV का एक टीज़र फोटो जारी कर इस बात को कंफर्म किया है।


मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, ज्यादातर बाजारों में C3 कहलाने वाली छोटी Citroen SUV को पहले एशियाई देशों में और अगले साल लैटिन अमेरिका में लॉन्च किया जाएगा। टीज़र इमेज में ग्रिल के ऊपर पारंपरिक लोगो दिखाया गया है। C3 के बोनट को बटर फ्लाई-पैटर्न मिलने की संभावना है जैसा कि C5 एयरक्रॉस एसयूवी में भी देखा गया है। टीज़र इमेज में एलईडी डीआरएल भी काफी फ्यूचरिस्टिक दिखाई दे रहे हैं, और भारत में फ्रेंच ऑटो दिग्गज की पहली लांच की गई एसयूवी पर देखे गए लोगों से थोड़ा अलग नज़र आ रहे हैं।

Citroen C3, जब भी भारत में लांच की जाएगी तो यह फ्रेंच ऑटोमेकर की तरफ से देश में दूसरी पेशकश होगी। इससे पहले कंपनी भारत में अपनी C5 Aircross SUV लॉन्च की थी। माना जा रहा है कि कंपनी इसे 2022 में भारतीय सड़कों पर उतारेगी। C3 अपने लॉन्च के बाद भारत में पहले से बिक्री के लिए मौजूद मारुति सुजुकी विटारा ब्रेज़ा, हुंडई वैन्यू, किआ सोनेट, निसान मैग्नाई, टाटा नेक्सॉन और महिंद्रा एक्सयूवी 300 जैसी कारों को टक्कर देगी।


Citroen C3, जिसका कोडनेम CC21 है, भारत की पहली SUV होगी जो एथनॉल आधारित ईंधन के अनुकूल फ्लेक्स-फ्यूल इंजन के साथ आएगी। रिपोर्ट्स के मुताबिक, Citroen C3 में, 1.2-लीटर का टर्बोचार्ज इंजन के अलावा फ्लेक्स-फ्यूल इंजन भी फिट होने जा रहा है, जिसे 5-स्पीड मैनुअल या ऑटोमैटिक गियरबॉक्स के साथ जोड़ा गया है। इंजन 130 बीएचपी की अधिकतम पावर जनरेट करने में सक्षम है। एसयूवी में 1.6-लीटर नैचुरली एस्पिरेटेड इंजन का भी विकल्प मिल सकता है।


Citroen C3 SUV के लिए अपने नए कॉमन मॉड्यूलर प्लेटफॉर्म (CMP) का उपयोग करेगा, जिसका उद्देश्य वाहन की लागत को यथासंभव कम रखना और भारत जैसे बाजारों में इसे और अधिक किफायती बनाना है, जहां 4 मीटर एसयूवी सेग्मेंट के तहत कारें देखी गई हैं। आपको बता दें पैसेंजर्स व्हीकल की लिस्ट में ये सेग्मेंट काफी पॉपुलर है।  


प्रधानमंत्री मोदी के अभियान सौभाग्य योजना के तहत 2.82 करोड़ परिवारों को मिला बिजली कनेक्शन

प्रधानमंत्री मोदी के अभियान सौभाग्य योजना के तहत 2.82 करोड़ परिवारों को मिला बिजली कनेक्शन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा शुरू किए गए अभियान, सौभाग्य योजना के तहत अब तक 2.82 करोड़ परिवारों को बिजली का कनेक्शन हासिल हो चुका है। बिजली मंत्रालय ने शनिवार को यह जानकारी उपलब्ध कराई है। सौभाग्य योजना के चार साल पूरे होने पर एक बयान जारी करते हुए बिजली मंत्रालय ने यह कहा है कि, "इस योजना के शुरू होने के बाद से, इस साल 31 मार्च तक, 2.82 करोड़ घरों में बिजली का कनेक्शन दिया जा चुका है। मार्च 2019 तक, देश के ग्रामीण और शहरी दोनों इलाकों में 2.63 करोड़ घरों को 18 महीने के रिकॉर्ड समय में बिजली का कनेक्शन प्रदान किया गया था।"

"इसके बाद, सात राज्यों असम, छत्तीसगढ़, झारखंड, कर्नाटक, मणिपुर, राजस्थान और उत्तर प्रदेश राज्यों में, 31 मार्च, 2019 से पहले चिन्हित किए गए लगभग 18.85 लाख बिना बिजली कनेक्शन वाले घर, जो पहले कनेक्शन नहीं लेना चाहते थे, लेकिन बाद में उन्होंने बिजली कनेक्शन प्राप्त करने की इच्छा जाहिर की थी। इस तरह के घर भी इस योजना के तहत शामिल थे।"

क्या है सौभाग्य योजना

सौभाग्य योजना की घोषणा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 25 सितंबर, 2017 को की थी और यह दुनिया के सबसे बड़े घरेलू विद्युतीकरण अभियानों में से एक है। इस योजना का उद्देश्य अंतिम छोर तक कनेक्टिविटी के जरिए देश में 'सार्वभौमिक घरेलू विद्युतीकरण' प्राप्त करना है। इसके साथ ही, ग्रामीण क्षेत्रों के उन सभी घरों और क्षेत्रों में बिजली कनेक्शन देना है, जिन घरों और शहरी क्षेत्रों में गरीब परिवारों तक बिजली कनेक्शन नहीं पहुंचा है।


इस योजना की शुरुआत करते हुए, प्रधानमंत्री ने "नए युग के भारत" में बिजली कनेक्शन प्रदान करने और इक्विटी, दक्षता और स्थिरता की दिशा में काम करने का संकल्प लिया था। इस योजना के तहत कुल बजट 16,320 करोड़ रुपये का था, जबकि सकल बजटीय सहायता (जीबीएस) 12,320 करोड़ रुपये की थी।