Mumbai के इस बैंक पर लगा 79 लाख रुपए का जुर्माना, कहीं आप इस बैंक के कस्‍टमर तो नहीं

Mumbai के इस बैंक पर लगा 79 लाख रुपए का जुर्माना, कहीं आप इस बैंक के कस्‍टमर तो नहीं

रिजर्व बैंक ने एनपीए वर्गीकरण सहित कुछ निर्देशों का पालन नहीं करने को लेकर अपना सहकारी बैंक, मुंबई पर 79 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है। रिजर्व बैंक ने कहा कि बैंक की टेस्टिंग से पता चला है कि उसने एनपीए वर्गीकरण, मृतक व्यक्तिगत जमाकर्ताओं के चालू खातों में जमा रकम पर ब्याज का भुगतान या दावों का निपटान करते समय और बचत बैंक खाते में न्यूनतम राशि नहीं रखने के लिए दंडात्मक शुल्क लगाने के निर्देशों का पालन नहीं किया था। अपना सहकारी बैंक का वैधानिक निरीक्षण 31 मार्च 2019 को उसकी वित्तीय स्थिति के संदर्भ में था।

कर्जदाता को एक नोटिस जारी किया गया था जिसमें यह कारण बताने के लिए कहा गया था कि उपरोक्त निर्देशों के उल्लंघन के लिए जुर्माना क्यों नहीं लगाया जाना चाहिए। रिजर्व बैंक ने कहा कि नोटिस पर बैंक के जवाब, अतिरिक्त अनुपूरक उत्तर और व्यक्तिगत सुनवाई के दौरान मौखिक प्रस्तुतियों पर विचार करने के बाद जुर्माना लगाया गया।

हालांकि, रिजर्व बैंक ने कहा कि नियामक अनुपालन में कमी के कारण जुर्माना लगाया गया और इसका उद्देश्य बैंक के अपने ग्राहकों के साथ किए गए किसी भी लेनदेन या उनके साथ समझौते की वैधता पर सवाल उठाना नहीं है।

दूसरी तरफ बाजार नियामक Sebi ने दो विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों द्वारा सातवाहन इस्पात लिमिटेड के शेयर में निवेश सीमा के उल्लंघन से संबंधित मामले में कोटक महिंद्रा बैंक के खिलाफ कार्यवाही का निपटान कर दिया। हालांकि बोर्ड ने इसी मामले में दो विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (FPI) ...हेसिका ग्रोथ फंड और प्लुटुस टेरा इंडिया फंड... पर 1 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है। सेबी ने इस संदर्भ में दो अलग-अलग आदेश जारी किए।


मामले में कोटक महिंद्रा बैंक के खिलाफ कार्यवाही मनोनीत डिपोजिटरी पार्टिसिपेन्ट (डीडीपी) के रूप में की गयी थी। सेबी ने कहा कि कोटक महिंद्रा बैंक लि. के खिलाफ आरोप साबित नहीं हुए। इसीलिए उस पर कोई जुर्माना नहीं लगाया जाएगा। शेयर में एफपीआई की संयुक्त हिस्सेदारी 10 प्रतिशत को पार कर गयी थी। यह 28 जुलाई, 2014 से 11 जून, 2019 के बीच एफपीआई (विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों) नियमों के अनुरूप नहीं था।


दिवाली पर Home Loan लेने पर पाइए 12 EMI की छूट, Axis-IndusInd बैंक लाएं हैं शानदार ऑफर

दिवाली पर Home Loan लेने पर पाइए 12 EMI की छूट, Axis-IndusInd बैंक लाएं हैं शानदार ऑफर

देश के दो अग्रणी प्राइवेट बैंक Axis Bank और IndusInd Bank ने त्‍योहारों से पहले दो शानदार ऑफर निकाले हैं। ऑफर ऐसा है जो घर खरीदारी और दूसरी शॉपिंग में बड़ा काम आएगा। IndusInd Bank के ऑफर में जहां डेबिट कार्ड पर शॉपिंग करने पर EMI में बदलने का ऑप्‍शन है, वहीं Axis Bank त्योहारी पेशकश के तहत चुनिंदा Home Loan उत्पादों पर 12 मासिक किस्तों (EMI) की छूट दे रहा है।

IndusInd Bank ने ऐलान किया है कि उसने त्‍योहारी पेशकश के तहत EMI on Debit Card फैसिलिटी शुरू की है। बैंक का ग्राहक किसी भी पार्टिसिपेटिंग स्‍टोर में जाकर खरीदारी कर सकता है और डेबिट कार्ड पर Emi की सुविधा उठा सकता है।

IndusInd Bank में CDO चारू माथुर के मुताबिक बैंक ने 60 हजार ऑफलाइन स्‍टोर के साथ पार्टनरशिप की है। इसमें Consumer Durables, Electronics, Apparels, Automobiles, Home Décor, Hospitals और दूसरे शामिल हैं। यहां कस्‍टमर जब शॉपिंग करेगा तो डेबिट कार्ड से पेमेंट के बाद उसे उस खरीदारी को EMI में बदलने का मौका मिलेगा। वह 3 से 24 महीने की Emi में अपनी शॉपिंग को बदल सकता है। इसके लिए वे 5676757 पर SMS कर अपनी एलिजिबिलिटी पता कर सकते हैं। ग्राहक को MYOFR टाइप कर भेजना होगा।


दूसरी तरफ Axis Bank ने Home Loan के अलावा विभिन्न ऑनलाइन खरीद पर भी छूट देने का फैसला किया है। बैंक ने कहा कि वह चुनिंदा आवास ऋण उत्पादों पर 12 ईएमआई की छूट की पेशकश कर रहा है और दोपहिया ग्राहकों के लिए बिना किसी प्रोसेसिंग शुल्क के कर्ज प्रदान कर रहा है। बैंक कारोबार क्षेत्र के लोगों के लिए सावधि कर्ज, उपकरण कर्ज और वाणिज्यिक वाहन कर्ज पर कई लाभ प्रदान करेगा।

बैंक ने 'दिल से ओपन सेलिब्रेशंस : क्योंकि दिवाली रोज रोज नहीं आती' पेश करने की घोषणा करते हुए कहा कि वह एक्सिस बैंक के डेबिट और क्रेडिट कार्ड से की गयी खरीदारी पर रेस्तरां और अन्य खुदरा ऋण उत्पादों में खरीदारी पर सौदों और छूट की पेशकश करेगा। ग्राहकों को 50 शहरों में चुनिंदा 2,500 स्थानीय व्यापारियों से खरीदारी पर 20 प्रतिशत तक की छूट दी जाएगी। बैंक ग्राहकों को इन दुकानों से खरीदारी करने पर 20 प्रतिशत तक की छूट मिलेगी।