ड्राइविंग सीखने के लिए बेस्ट हैं ये 4 कारें, ईजी हैंडलिंग के साथ आसान है गियर शिफ्टिंग

ड्राइविंग सीखने के लिए बेस्ट हैं ये 4 कारें, ईजी हैंडलिंग के साथ आसान है गियर शिफ्टिंग

भारत में जब भी शख्स ड्राइविंग सीखने जाता है तो उसे शुरुआत में काफी दिक्कत होती है। दरअसल कई बार आप एसयूवी या फिर किसी सेडान से ड्राइविंग सीखने लगते हैं। साथ ही कई बार लोग ड्राइविंग सीखते समय कार को हैंडल नहीं कर पाते हैं और उसे डैमेज कर देते हैं। ऐसे में ड्राइविंग सीखते समय आपको किसी तरह की दिक्कत ना आए इसके लिए जरूरी है कि कार हल्की हो जिसे आसानी से हैंडल किया जा सके साथ ही उसकी गियर शिफ्टिंग भी आसान हो। अगर आप भी ड्राइविंग सीखने जा रहे हैं तो आज हम आपको उन कारों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनसे ड्राइविंग सीखना काफी आसान हो जाता है।

Maruti Suzuki Celerio

Maruti Suzuki Celerio एक लाइट वेट कार है जिसमें 5 लोग आसानी से बैठ सकते हैं। अगर इंजन और पावर की बात करें तो इस कार में 998 cc का इंजन लगा हुआ है। इसकी फ्यूल टैंक की क्षमता 35 लीटर की है। अगर कीमत की बात की जाए तो आप इसे 4,31,289 लाख (दिल्ली एक्स शोरूम) रुपये में खरीद सकते हैं।

Maruti S-Presso

Maruti S-Presso में 998cc का 3 सिलेंडर K10B पेट्रोल इंजन दिया जाता है। ये इंजन 55,00 आरपीएम पर 67 बीएचपी की मैक्सिमम पावर और 35,00 आरपीएम पर 90 न्यूटन मीटर का पीक टॉर्क जेनरेट करता है। इस कार में 5 स्पीड मैनुअल और ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन का ऑप्शन मिलता है। इस कार की कीमत 3.7 लाख रुपये (एक्स-शोरूम) है।

ये एक एंट्री लेवल हैचबैक है जिसका डिजाइन काफी स्पोर्टी है। इस कार की हैंडलिंग काफी आसान है जिसकी वजह से बिगिनर ड्राइवर्स के लिए ये कार बेस्ट साबित होती है। क्विड में दो इंजन ऑप्शन मिलते हैं जिनमें पहला 0.8 लीटर का 3 सिलेंडर पेट्रोल इंजन है जो 54 एचपी की मैक्सिमम पावर और 72 न्यूटन मीटर का पीक टॉर्क जनरेट करता है। वहीं दूसरा 1.0 लीटर का 3 सिलेंडर पेट्रोल इंजन है जो 68 एचपी की मैक्सिमम पावर और 9 1 न्यूटन मीटर का पीक टॉर्क जनरेट करता है। ये दोनों ही इंजन मैनुअल और ऑटोमेटिक ट्रांसमिशन से लैस है। Renault Kwid को भारत में 3,12,800 रुपये की शुरुआती कीमत पर खरीदा जा सकता है।  


रेलवे लाइन पर बिजली से चलने वाली ट्रेनों का दायरा बढ़ेगा, राष्ट्रीय रेल योजना 2030 का भी एलान

रेलवे लाइन पर बिजली से चलने वाली ट्रेनों का दायरा बढ़ेगा, राष्ट्रीय रेल योजना 2030 का भी एलान

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण आम बजट पेश कर रही हैं। इस दौरान 2021-21 के लिए उन्होंने रेलवे से जुड़े कई एलान किए हैं। सबसे पहले तो उन्होंने 1,10,055 करोड़ रुपये रेलवे के लिए आवंटित किए। इसके अलावा सीतारमण ने रेलवे के लिए रेल योजना 2030 के बारे में भी जानकारी दी। जिसका उद्देश्य मेक इन इंडिया को सक्षम करने के लिए उद्योग के लिए लॉजिस्टिक लागत में कमी लाना बताया गया।

वहीं, उन्होंने इस दौरान बताया कि बिजली से चलने वाली ट्रेनों के लिए दायरा बढ़ाया जाएगा। उन्होंने बजट भाषण में बताया कि 46 हजार किलोमीटर रेलवे लाइन पर ट्रेनें बिजली से दौड़ेंगी। इसके अलावा उन्होंने कहा कि एनआरपी (National Rail Plan) 2023 के ड्राफ्ट पर तेजी से काम किया जा रहा है। उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि देश में सिर्फ एक निर्माणाधीन बुलेट ट्रेन परियोजना है, जो मुंबई को अहमदाबाद से जोड़ेगी। 

रेलवे बजट में उनकी बड़ी बातों में

-46 हजार किलोमीट की रेलवे लाइन पर ट्रेनें बिजली से दौड़ेंगी।

-पर्यटन वाले रेलवे ट्रैक पर नए और आधुनिक कोच लाए जाएंगे।

-चेन्नई मेट्रो के दूसरे चरण के लिए 63 हजार करोड़ आवंटित किए गए हैं।

-2030 तक नेशनल रेल प्लान तैयार हो सके, उसपर तेजी से काम।

2017 से पहले आम बजट और रेलवे बजट अलग-अलग पेश किया जाता था, लेकिन अरुण जेटली पहले ऐसे वित्त मंत्री रहे, जिन्होंने आम बजट और रेलवे बजट को संयुक्त रूप से पेश किया। उन्होंने एक फरवरी 2017 को ऐसा किया था। साथ ही दोनों को अलग-अलग पेश ना करते हुए एक ही बजट के समान पेश करने से 92 साल की परंपरा खत्म हुई थी। वहीं, रेलवे बजट के आम बजट में विलय के बाद से कई बड़ी घोषणाएं हुई हैं। इनमें 550 स्टेशनों पर वाईफाई शुरू करने का ऐलान हुआ था। रेलवे ट्रैक के साथ सोलर पॉवर प्लांट लगाए जाने की बात कही गई थी।


लॉकडाउन के दौरान क्या करें और क्या न करें       हेल्दी ब्रेकफास्ट के साथ भरपूर मात्रा में लिक्विड्स लेकर सुधार सकते हैं अपना इम्यून सिस्टम       COVID-19 के बारे में 6 बातें जो गर्भवती महिलाओं के लिए हैं ज़रूरी       बुजुर्गों को सेहतमंद रखने में बेहद कारगर हैं ये 5 प्राणायाम       क्या सीज़नल इंफेक्शन भी बन सकता है कोरोना वायरस?       कोरोना वायरस का अटैक होने पर शरीर पर होने लगता है ऐसा असर       लंबे लॉकडाउन के दौरान इस तरह रखें अपने बच्चों की पढ़ाई का ध्यान       बाहर से आई सब्ज़ी और फलों से भी है वायरस का ख़तरा, बरतें ये सावधानियां       जानें, डिप्रेशन से बचने के लिए वर्क फ्रॉम होम करने वालों को क्या-क्या करना चाहिए       लॉकडाउन के दौरान क्रिएटिविटी बनाए रखने के लिए वर्क फ्रॉम होम करने वालों को ये करना चाहिए       कोरोना वायरस से लड़ने में सक्षम हैं ये 5 आयुर्वेदिक ड्रिंक्स       पिछली महामारियों से कैसे 10 गुणा ज़्यादा ख़तरनाक है कोरोना वायरस       सूखी खांसी और गीली खांसी में क्या है फर्क?       नींद आने में हो रही है दिक्कत, तो चैन से सोने के लिए अपनाएं ये टिप्स       7 दिनों का ये डाइट मेन्यू करें फॉलो, मिलेगी हेल्दी और स्लिम-ट्रीम बॉडी       देश के इन हिस्सों में गरज के साथ होगी तेज बारिश, जानें- IMD का ताजा अपडेट       हरियाणा में जन्मे और अल्‍पसंख्‍यकों की आवाज रहे पाकिस्तानी मानवाधिकार कार्यकर्ता आइए रहमान का निधन       Kareena Kapoor Khan ने प्रेगनेंसी के दौरान जमकर खाया पिज्जा और पास्ता       अपनी टीम की हार से निराश हुए शाहरुख खान, फैंस से इस अंदाज में मांगी माफी       'रात बाक़ी है' में फीमेल लीड निभा रहीं पाउली दाम ने बताया, 'हेट स्टोरी' के बाद क्यों हो गयीं बॉलीवुड से दूर