पटना एयरपोर्ट पर टला हादसा, धुंध के कारण आगे निकल गया था विमान, झटके से सहम गए यात्री

पटना एयरपोर्ट पर टला हादसा, धुंध के कारण आगे निकल गया था विमान, झटके से सहम गए यात्री

जयप्रकाश नारायण अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर रविवार की शाम को अजीबोगरीब स्थिति देखने को मिली। बेंगलुरु से आई स्पाइसजेट की फ्लाइट धुंध के कारण हार्ड लैंडिंग हो गई। इसके कारण फ्लाइट को कंट्रोल करने के लिए इमरजेंसी ब्रेक लगाना पड़ा, जिससे यात्रियों में काफी घबराहट होने लगी थी। हालांकि पायलट की कुशलता से कोई अप्रिय घटना नहीं हुई। जानकारी के मुताबिक हार्ड लैंडिंग के कारण रविवार को स्पाइसजेट की बेंगलुरू वाली फ्लाइट सवा घंटा देर से उड़ी। फ्लाइट शाम छह बजे में पटना एयरपोर्ट पर समय से लैंड हुई थी। लैंड‍िंग के समय धुंध की वजह से पायलट को रनवे पर जहां विमान उतरना चाहिए था, उससे थोड़ा आगे उतरा।

छोटे रनवे के कारण सामान्‍य लैंडिंग में भी दिक्‍कत

मालूम हो कि पटना एयरपोर्ट का रनवे छोटा है जहां विमान दौड़ाने की अधिक गुंजाइश नहीं है और सामान्य लैंडिंग में भी ब्रेक का इस्तेमाल करना पड़ता है। ऐसे में थोड़ा दूर लैंड करने के कारण विमान को और भी तेज इमरजेंसी ब्रेक का इस्तेमाल करना पड़ा। इसके कारण लैंडिंग के बाद विमान को खड़ा कर उसके ब्रेक समेत कई पार्ट पुर्जों की चेक‍िंग की गई। उसमें सब कुछ ठीक मिलने के बाद विमान में यात्रियों को बिठाना शुरू किया गया और रात आठ बजे तय समय 6.45 बजे से सवा घंटा देरी से विमान वापस बेंगलुरू रवाना हुई।

कोहरा शुरू होते ही  कमी ट्रेनों की रफ्तार

कोहरा शुरू होते ही उत्तर भारत से गुजरने वाली ट्रेनों की रफ्तार पर ब्रेक लगने लगा है। हालांकि अभी ज्यादातर प्रमुख ट्रेनें सही समय पर चल रही हैं। अधिक कोहरा होने के बाद इनकी रफ्तार भी डगमगाने लगेंगी। नई दिल्ली से आने वाली पूजा स्पेशल 01664 आनंदविहार पटना एक्सप्रेस रविवार को ढाई घंटे विलंब से पहुंची। देहरादून से हावड़ा जाने वाली 02328 उपासना एक्सप्रेस तीन घंटे विलंब से पटना जंक्शन पहुंची। इसी तरह अमृतसर से हावड़ा जाने वाली 13006 पंजाब मेल भी दो घंटे, भागलपुर से नई दिल्ली जाने वाली गरीब रथ छह घंटे विलंब से दिल्ली पहुंची है।


बिहार में निजी विश्‍वविद्यालय खोलना और आसान, तकनीकी आयोग में सदस्य बनने पर भी रियायत

बिहार में निजी विश्‍वविद्यालय खोलना और आसान, तकनीकी आयोग में सदस्य बनने पर भी रियायत

बिहार सरकार ने मंगलवार को संशोधन विधेयकों के जरिए निजी विश्वविद्यालयों के निर्माण के लिए अधिक समय देने का फैसला किया है। दूसरे विधेयक में प्रविधान किया गया है कि तकनीकी सेवा आयोग के सदस्य के 70 साल की उम्र तक पद पर बने रहेंगे। दोनों विधेयक ध्वनिमत से मंजूर हो गए। विपक्ष के सभी संशोधन प्रस्ताव खारिज कर दिए गए। बिहार तकनीकी सेवा आयोग संशोधन विधेयक 2021 ऊर्जा, योजना एवं विकास मंत्री बिजेंद्र प्रसाद यादव ने पेश किया। उन्होंने सदन को बताया कि संशोधन के जरिए आयोग के अध्यक्ष एवं सदस्यों के मनोनयन और उम्र सीमा के बारे में पहले से जारी व्यवस्था में कुछ सुधार किया गया है। पहले अधिकतम उम्र सीमा 62 वर्ष तक निर्धारित थी। संशोधन के बाद आयोग के सदस्य 70 की उम्र तक काम कर सकेंगे। अध्यक्ष के अचानक अवकाश ग्रहण करने की स्थिति में वरीय सदस्य को कार्यवाहक अध्यक्ष बनाने का प्रविधान भी इस विधेयक में किया गया है।

बेहतर डाक्टर बहाल होंगे

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने हस्तक्षेप करते हुए कहा कि तकनीकी सेवा आयोग में डाक्टरों को भी सदस्य के तौर पर शामिल किया जाता है। अगर उम्र सीमा अधिक रहेगी तो अनुभवी डाक्टरों की सेवा सदस्य के तौर पर ली जा सकेगी। ये सरकारी अस्पतालों के लिए योग्य डाक्टरों का चयन करेंगे। शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने बिहार निजी विश्वविद्यालय संशोधन विधेयक 2021 पेश किया। विधेयक में संशोधन के बाद राज्य में निजी विश्वविद्यालयों की स्थापना की नियमावली में बदलाव किया गया है। मूल विधेयक में निजी विश्वविद्यालयों की स्थापना के लिए संचालक को दो साल और दो साल के अवधि विस्तार के जरिए अधिकतम चार साल का समय दिया गया था।

कोर्स के लिए अलग आदेश जारी होगा

संशोधन के बाद इस समय सीमा को बढ़ा दिया गया है। चार साल के बदले समय सीमा के लिए यथोचित शब्द का प्रयोग किया गया है। यानी निजी विवि को जरूरत के अनुसार अवधि विस्तार मिलेगा। उन्होंने स्पष्ट किया कि यह समय सीमा सिर्फ आधारभूत संरचना के निर्माण के लिए है। कोर्स शुरू करने के लिए सरकार अलग से आदेश जारी करेगी। उन्होंने विधायक अख्तरूल इमाम की आशंका को खारिज किया कि नए विश्वविद्यालय मनमर्जी से शुल्क का निर्धारण करेंगे। गरीब छात्र-छात्राओं को इनका लाभ नहीं मिलेगा। कांग्रेस के अजित शर्मा, राजद के ललित यादव एवं समीर कुमार महासेठ ने अपने संशोधन में कहा था कि निजी विवि को निर्माण के लिए अनंतकाल का समय नहीं दिया जा सकता है।